Wednesday, June 19, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'ये मानवता का मुद्दा, समाधान के लिए जो हो सकता है सब करेंगे': PM...

‘ये मानवता का मुद्दा, समाधान के लिए जो हो सकता है सब करेंगे’: PM मोदी ने यूक्रेन के राष्ट्रपति को दिया आश्वासन, बोले जेलेंस्की – ‘धन्यवाद भारत’

कार्यान्वयन में शामिल होने के लिए उन्हें आमंत्रित भी किया। मानवीय समस्याओं और मोबाइल अस्पतालों में यूक्रेन की जरूरतों के बारे में बात की।

जापान के हिरोशिमा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की के बीच मुलाकात हुई। दोनों देशों के नेता G7 समिट में भाग लेने जापान पहुँचे हैं। इस दौरान उन्होंने PM मोदी ने कहा है रूस-यूक्रेन युद्ध राजनीति या अर्थव्यवस्था का मुद्दा नहीं बल्कि मानवता का मुद्दा है। युद्ध विराम के लिए भारत और उनके द्वारा जो कुछ भी हो सकेगा वह करने के लिए तैयार हैं।

भारतीय प्रधानमंत्री और यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की के बीच यह मुलाकात रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के बीच हुई है। ऐसे में यह मुलाकात कई मामलों में अहम मानी जा रही है। इस मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है “बीते एक-डेढ़ साल में हमने कई बार फोन पर बात की है। लेकिन ग्लासगो में हुई मुलाकात के बाद अब यह मुलाकात हो रही है। यूक्रेन में चल रहा युद्ध पूरी दुनिया के लिए बहुत बड़ा मुद्दा है। समूचे विश्व में इस युद्ध के प्रभाव पड़े हैं। लेकिन मैं इसे राजनीतिक या अर्थव्यवस्था का मुद्दा नहीं मानता। मेरे लिए यह मानवता का मुद्दा है, मानवीय मूल्यों का मुद्दा है।”

PM मोदी ने यह भी कहा है, “युद्ध की पीड़ा क्या होती है, यह आप हम सबसे अधिक जानते हैं। गत वर्ष जब हमारे देश के बच्चे यूक्रेन से वापस आए, तब उन्होंने वहाँ की परिस्थितियों के बारे में बताया था। इससे मैं आपकी और यूक्रेन के नागरिकों की पीड़ा को अच्छे से समझ गया था। मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ कि युद्ध के समाधान के लिए भारत और व्यक्तिगत रूप से मैं जो कुछ भी हो सकता है सब करने की कोशिश करेंगे।”

इस मुलाकात को लेकर यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देते हुए ट्वीट किया है। इस ट्वीट में उन्होंने लिखा, “भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ जापान में बैठक की। मैंने उन्हें यूक्रेन की शांति सूत्र पहल के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। कार्यान्वयन में शामिल होने के लिए उन्हें आमंत्रित भी किया। मानवीय समस्याओं और मोबाइल अस्पतालों में यूक्रेन की जरूरतों के बारे में बात की। हमारे देश की क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता का समर्थन करने के लिए, विशेष रूप से, अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के मंचों पर और यूक्रेन को मानवीय सहायता प्रदान करने के लिए भारत को धन्यवाद देता हूँ।”

गौरतलब है कि पीएम मोदी और जेलेंस्की के बीच बीते साल कम से कम 4 बार फोन पर बात हुई थी। वहीं, दिसंबर 2022 में यूक्रेन के राष्ट्रपति ने बाली में आयोजित हुए G20 शिखर सम्मेलन में घोषित 10 सूत्री शांति योजना के लिए भारत के समर्थन की माँग की थी। इसके अलावा, ज़ेलेंस्की ने संयुक्त राष्ट्र में मानवीय सहायता और समर्थन के लिए भी गत माह पीएम मोदी को पत्र लिखा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अच्छा! तो आपने मुझे हराया है’: विधानसभा में नवीन पटनायक को देखते ही हाथ जोड़ कर खड़े हो गए उन्हें हराने वाले BJP के...

विधानसभा में लक्ष्मण बाग ने हाथ जोड़ कर वयोवृद्ध नेता का अभिवादन भी किया। पूर्व CM नवीन पटनायक ने कहा, "अच्छा! तो आपने मुझे हराया है?"

‘माँ गंगा ने मुझे गोद ले लिया है, मैं काशी का हो गया हूँ’: 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुँचे ₹20000 करोड़, 3...

"गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो - ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -