Thursday, July 29, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयPOK में प्रदर्शनकारियों के बाद पत्रकारों पर टूटा कहर, पाक पुलिस ने प्रेस क्लब...

POK में प्रदर्शनकारियों के बाद पत्रकारों पर टूटा कहर, पाक पुलिस ने प्रेस क्लब में घुसकर पीटा

इससे पहले मुजफ्फराबाद में ही AIPA के बैनर तले पाकिस्तान से आजादी की माँग उठाने वाले प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने अपनी बर्बरता दिखाई थी। इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई थी और करीब 80 जख्मी हुए थे।

पाक अधिकृत कश्मीर (POK) के मुजफ्फराबाद में प्रदर्शनकारियों पर अपना कहर बरसाने के बाद पुलिस ने वहाँ के पत्रकारों को भी प्रेस क्लब में घुसकर पीटा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मंगलवार (अक्टूबरर 22, 2019) को पीओके के प्रेस क्लब में पुलिस ने जम्मू-कश्मीर पिपुल्स नेशनल एलांएस द्वारा की जा रही प्रेस वार्ता के दौरान दबिश दी और फिर जमकर पत्रकारों पर लाठी बरसाई। पत्रकारों के कैमरे और अन्य उपकरण भी तोड़ दिए।

https://platform.twitter.com/widgets.js

गौरतलब है कि मुजफ्फराबाद में ये एक दिन में दूसरी घटना है, जहाँ पाक पुलिस का बर्बर चेहरा सामने आया। पत्रकारों का आरोप है कि उन्हें जानबूझकर पीटा गया। एएनआई द्वारा जारी की वीडियो में देखा जा सकता है कि पुलिस किस तरह बेरहमी से पत्रकारों को मार रही है।

जानकारी के मुताबिक प्रेस वार्ता में जेकेपीएनए ने गुरुवार को लंदन में पाकिस्तान हाई कमीशन के गेट के सामने धरना देने की धमकी दी थी। जिसके बाद मुजफ्फराबाद में पाक पुलिस ने ये कार्रवाई की। इस घटना से पहले मुजफ्फराबाद में ही AIPA (ऑल इंडिपेंडेंट पार्टीज अलायंस) के बैनर तले पाकिस्तान से आजादी की माँग उठाने वाले प्रदर्शनकारियों पर भी पुलिस ने अपनी बर्बरता दिखाई थी।

इस रैली में पहुँचकर पुलिस ने लोगों पर लाठीचार्ज किया था। आँसू गैस के गोले दागे और फायरिंग भी की थी। इस दौरान दो लोगों की मौत और 80 लोगों के घायल होने की खबर आई थी। बता दें कि पूरी घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें पाक पुलिस प्रदर्शनकारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटती और फायरिंग करती दिख रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,743FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe