Wednesday, September 27, 2023
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयPOK में प्रदर्शनकारियों के बाद पत्रकारों पर टूटा कहर, पाक पुलिस ने प्रेस क्लब...

POK में प्रदर्शनकारियों के बाद पत्रकारों पर टूटा कहर, पाक पुलिस ने प्रेस क्लब में घुसकर पीटा

इससे पहले मुजफ्फराबाद में ही AIPA के बैनर तले पाकिस्तान से आजादी की माँग उठाने वाले प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने अपनी बर्बरता दिखाई थी। इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई थी और करीब 80 जख्मी हुए थे।

पाक अधिकृत कश्मीर (POK) के मुजफ्फराबाद में प्रदर्शनकारियों पर अपना कहर बरसाने के बाद पुलिस ने वहाँ के पत्रकारों को भी प्रेस क्लब में घुसकर पीटा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मंगलवार (अक्टूबरर 22, 2019) को पीओके के प्रेस क्लब में पुलिस ने जम्मू-कश्मीर पिपुल्स नेशनल एलांएस द्वारा की जा रही प्रेस वार्ता के दौरान दबिश दी और फिर जमकर पत्रकारों पर लाठी बरसाई। पत्रकारों के कैमरे और अन्य उपकरण भी तोड़ दिए।

https://platform.twitter.com/widgets.js

गौरतलब है कि मुजफ्फराबाद में ये एक दिन में दूसरी घटना है, जहाँ पाक पुलिस का बर्बर चेहरा सामने आया। पत्रकारों का आरोप है कि उन्हें जानबूझकर पीटा गया। एएनआई द्वारा जारी की वीडियो में देखा जा सकता है कि पुलिस किस तरह बेरहमी से पत्रकारों को मार रही है।

जानकारी के मुताबिक प्रेस वार्ता में जेकेपीएनए ने गुरुवार को लंदन में पाकिस्तान हाई कमीशन के गेट के सामने धरना देने की धमकी दी थी। जिसके बाद मुजफ्फराबाद में पाक पुलिस ने ये कार्रवाई की। इस घटना से पहले मुजफ्फराबाद में ही AIPA (ऑल इंडिपेंडेंट पार्टीज अलायंस) के बैनर तले पाकिस्तान से आजादी की माँग उठाने वाले प्रदर्शनकारियों पर भी पुलिस ने अपनी बर्बरता दिखाई थी।

इस रैली में पहुँचकर पुलिस ने लोगों पर लाठीचार्ज किया था। आँसू गैस के गोले दागे और फायरिंग भी की थी। इस दौरान दो लोगों की मौत और 80 लोगों के घायल होने की खबर आई थी। बता दें कि पूरी घटना का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें पाक पुलिस प्रदर्शनकारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटती और फायरिंग करती दिख रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वैज्ञानिकों को पहचान दिलाती फिल्म, गिरोह की पोल खोलती फिल्म: पैनी होती विवेक अग्निहोत्री के निर्देशन की धार, ‘Vintage’ नाना पाटेकर के लिए भी...

'The Vaccine War' क्यों देखें? इसका जवाब होगा - वास्तविकता के उन पहलुओं को समझने के लिए देखिए, जिनका असर आप पर पड़ता है लेकिन आप समझ नहीं पाते।

मणिपुर घोषित किया गया ‘अशांत क्षेत्र’: 19 थानों को छोड़ कर पूरे राज्य में 6 महीने के लिए AFSPA लागू, 2 मैतेई छात्रों की...

मणिपुर में इंफाल सहित 19 पुलिस स्टेशन छोड़कर राज्य के सभी अशांत इलाकों में 6 महीने के लिए 'सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम' लागू कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
276,623FollowersFollow
419,000SubscribersSubscribe