Wednesday, November 30, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमरियम नवाज के कमरे का दरवाजा तोड़ शौहर को होटल से उठा ले गई...

मरियम नवाज के कमरे का दरवाजा तोड़ शौहर को होटल से उठा ले गई पाक पुलिस, सरकार विरोधी प्रदर्शन के बाद हुई कार्रवाई

कराची में हुए इस शक्ति-प्रदर्शन में मरियम नवाज शरीफ ने इमरान खान से कहा कि वो अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए फ़ौज का इस्तेमाल करना बंद करें। उन्होंने पाक पीएम को डरपोक बताते हुए उन पर फ़ौज के अपमान का आरोप लगाया।

पाकिस्तान में सरकार विरोधी आंदोलन तेज हो गया है और इसके साथ ही विपक्षी नेताओं के खिलाफ सरकारी मशीनरी का उपयोग शुरू हो गया है। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी दी है कि वो कराची के एक होटल में रुकी हुई थीं। पुलिस ने उनके कमरे का दरवाजा तोड़ डाला और उनके पति कैप्टेन सफ़दर अवान को गिरफ्तार कर के ले गई।

पुलिस ने किस तरह से दरवाजे का लॉक तोड़ा, इसे दिखाने के लिए मरियम नवाज शरीफ ने वीडियो भी शेयर किया। पुलिस के जाने के बाद उन्होंने दरवाजे के टूटे हुए लॉक को जमीन पर गिरा दिखाया। अंतरराष्ट्रीय लेखक तारिक फतह ने भी मरियम को ‘डायनामिक विपक्षी नेता’ बताते हुए पाकिस्तान पुलिस की इस हरकत की निंदा की। मरियम शरीफ और उनके पति लगातार इमरान खान के खिलाफ माहौल बनाने में लगे हुए हैं।

कराची में रविवार (अक्टूबर 19, 2020) को हुई रैली में मरियम ने जनता के सामने शपथ ली थी कि वो न सिर्फ अपने पिता नवाज शरीफ को सत्ता में वापस लाएँगी, बल्कि प्रधानमंत्री इमरान खान को भी सलाखों के पीछे पहुँचाएँगी। उन्होंने इस दौरान कोरोना से निपटने के प्रयासों के लिए प्रांतीय सरकार की सराहना की, जबकि पाकिस्तान की केंद्र सरकार ने इसी मुद्दे पर उसे लताड़ लगाई थी। उन्होंने कहा कि एक ही रैली से इमरान खान घबरा गए हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि महामारी के इस काल में इमरान खान से लोगो से सस्ती दवाएँ छीन लीं। मरियम की रैली में कई दलों के विपक्षी नेता शामिल हुए। इस दौरान पीपीपी प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी और जमीयत-उलेमा-ए-इस्लाम के मुखिया मौलाना फजलुर रहमान भी मौजूद थे। उन्होंने ही इस्लामाबाद में एक बार रैली कर के इमरान खान सरकार की नींद उड़ाई थी। नवाज शरीफ ने इमरान खान की तरफ इशारा करते हुए कहा,

“आपका डर आपके शब्दों और आपके क्रियाकलापों से साफ़ झलक रहा है। अब लोग यही डर आपके चेहरे पर देखना चाहते हैं। हाल ही में हुई रैली में आपने खाली कुर्सियों को सम्बोधित किया था। आप लोकतंत्र की कब्र खोद रहे हो। नवाज शरीफ तो आपका नाम भी नहीं लेते। वो अब भी नहीं लेंगे, क्योंकि बड़ो के बीच की लड़ाई में बच्चे का क्या काम? जाँच, राजस्व और सुरक्षा से सम्बंधित एजेंसियों को अपने अपने नियंत्रण में ले लिया है। आप आइए और जनता को बताइए, आपने उनका रोजगार क्यों छीना?”

कराची में हुए इस शक्ति-प्रदर्शन में मरियम नवाज शरीफ ने इमरान खान से कहा कि वो अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए फ़ौज का इस्तेमाल करना बंद करें। उन्होंने पाक पीएम को डरपोक बताते हुए उन पर फ़ौज के अपमान का आरोप लगाया। कराची में हुई इस रैली में 11 विपक्षी पार्टियों के नेता शामिल थे। ये कार्यक्रम 5 घंटों तक चला। इसके बाद मरियम नवाज शरीफ के शौहर को गिरफ्तार करने की खबर आई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मॉर्निंग वॉक पर निकली मंदिर के हथिनी ‘लक्ष्मी’ की मौत, लोगों ने रोते हुए दी अंतिम विदाई: लोगों ने एक्टिविस्ट्स को बताया जिम्मेदार

हथिनी लक्ष्मी को इलाज के लिए पशु चिकित्सकों के पास ले जाया गया, लेकिन कार्डियक अरेस्ट के कारण उसने दम तोड़ दिया। मंदिर के सामने अंतिम दर्शन के लिए रखा गया शव।

‘प्रिंसिपल फ़िरोज़उद्दीन ने रेप का प्रयास किया, विरोध करने पर कर्मचारियों से पिटवाया’: सरकारी स्कूल में काम करती है हिन्दू विधवा, बताया जान का...

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल फ़िरोज़उद्दीन पर अधीनस्थ विधवा हिन्दू महिला कर्मचारी से रेप की कोशिश व पिटाई का आरोप।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,216FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe