Sunday, October 17, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयमहिला ने छुआ हाथ तो पोप फ्रांसिस गुस्से से हुए लाल, बच्चों के सामने...

महिला ने छुआ हाथ तो पोप फ्रांसिस गुस्से से हुए लाल, बच्चों के सामने ही कर दिया… देखें video

पोप लोगों की तरफ हाथ बढ़ाते हैं। उसे छू कर वहाँ मौजूद लोगों की ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहता। इसी दौरान एक महिला उनका हाथ पकड़ लेती है। इसके बाद पोप की प्रतिक्रिया देख हर कोई हक्का-बक्का रह जाता है।

पोप फ्रांसिस मंगलवार को उस वक्त बेहद नाराज हो गए जब एक महिला ने उनका हाथ पकड़ लिया। इससे पोप इतने नाराज हुए कि न केवल महिला का हाथ झटक दिया, बल्कि हाथ पर थप्पड़ भी जड़ दिए। सोशल मीडिया में इस घटना को लेकर कई तरह की प्रतिक्रियाएँ सामने आई है। कुछ लोगों का कहना है कि पोप इस घटना से ज्यादा बेहतर तरीके से निपट सकते थे। कुछ लोग महिला के साथ सहानुभूति जताते हुए उम्मीद कर रहे हैं कि इस घटना से उसकी आस्था नहीं डिगेगी।

यह घटना मंगलवार (दिसंबर 31, 2019) की शाम उस वक्त हुई जब नए साल की पूर्व संध्या पर श्रद्धालु पोप का अभिवादन करने और ब्लेसिंग्स लेने के लिए सेंट पीटर स्क्वॉयर में जुटे थे। इनमें छोटे-छोटे बच्चों की तादाद भी काफी थी। इस समय का एक वीडियो सामने आया है जिसमें बच्चे और अन्य लोग पोप फ्रांसिस का अभिवादन करते दिखाई पद रहे हैं।

वीडियो में आप देख सकते हैं कि पोप लोगों की तरफ हाथ बढ़ाते हैं और उसे छू कर वहाँ मौजूद लोगों की ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहता। इसी दौरान एक महिला पोप का हाथ पकड़ लेती है। पोप न केवल झटके से अपना हाथ छुड़ाते हैं, बल्कि महिला के हाथ पर थप्पड़ भी जड़ देते हैं। इसे देख वहाँ मौजूद सभी लोग हक्का-बक्का रह जाते हैं।

महिला की इस हरकत से पोप काफी नाराज दिखते हैं। गुस्से में फौरन महिला का हाथ झटक देते हैं। उसके हाथ पर जोर से थप्पड़ मारते हैं और उसे डाँटकर वहाँ से आगे चले जाते हैं।

हालाँकि, 30 सेकेंड के इस वीडियो को देखने पर पहली नजर में महिला की गलती नजर आती है। लेकिन, लोगों की प्रतिक्रिया बताती है कि पोप का व्यवहार वांछित नहीं था। असल में ऐसे मौकों पर पोप का हाथ छूकर आशीर्वाद लेने की परंपरा रही है।

सोशल मीडिया पर भी लोगों ने पोप की काफी आलोचना की। लोगों ने कहा कि ये कोई अच्छा बर्ताव नहीं है। पोप चाहते तो उसे समझा सकते थे और मामले को हल्के में ले सकते थे। वहीं कुछ लोगों ने कहा कि वे प्रार्थना करते हैं कि इस घटना के बाद महिला का विश्वास को ठेस न पहुँचे।

गौरतलब है कि नए साल की शाम से पहले क्रिसमस के अवसर पर पोप फ्रांसिस ने दुनिया के कई कई अशांत क्षेत्रों से शांति की अपील की थी। उन्होंने पश्चिम एशिया वेनेजुएला और लेबनान सहित कई अफ्रीकी देशों में चल रहे सशस्त्र संघर्ष को समाप्त करने की अपील की थी।

37 पादरियों ने उठाई पोप फ्रांसिस से बिशप को हटाने की माँग: यौनाचार, शादी से लेकर पिता बनने का है इल्जाम

चर्च यौन शोषण: पोप का चुप्पी तोड़ना उनके मौन से भी ख़तरनाक है क्योंकि…

क्या पोप और इमाम की चुम्मी से ज़मीनी स्तर पर सुधरेगी हालत?

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,125FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe