Thursday, January 28, 2021
Home विचार चर्च यौन शोषण: पोप का चुप्पी तोड़ना उनके मौन से भी ख़तरनाक है क्योंकि...

चर्च यौन शोषण: पोप का चुप्पी तोड़ना उनके मौन से भी ख़तरनाक है क्योंकि…

'महिलाओं के यौन शोषण' की तुलना 'शक्ति के दुरुपयोग' से नहीं की जा सकती। पहला वाला कहीं अधिक घृणित और वीभत्स कार्य है।

ईसाइयों के सबसे बड़े पादरी पोप फ्रांसिस और इस्लाम के सर्वोच्च मौलवियों में से एक इमाम शेख़ अहमद अल-तैयब ने चुम्मा-चाटी कर सांप्रदायिक सौहार्दता का कथित सन्देश तो दे दिया, लेकिन इस से ज़मीनी हालात में कुछ सुधार नज़र नहीं आ रहे। बलात्कार, यौन शोषण के आरोपित पादरी अब भी खुले घूम रहे हैं, ननों को प्रताड़ित करने वाले बिशप अब भी अपने पद पर बेशर्मी से कार्यरत हैं, चर्च प्रशासन के अन्याय से तंग नन्स आज भी सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करने को मज़बूर है, और वेटिकन आज भी इस संबंध में कोई कार्रवाई करने से हिचक रहा है।

हमने अपने पिछले लेख में बताया था कि कैसे जब पोप और इमाम एक-दूसरे की चुम्मी ले कर धार्मिक स्थलों की सुरक्षा का प्रण ले रहे थे, तभी पाकिस्तान और अमेरिका में मंदिरों को जलाने और उनमे तोड़-फोड़ करने की ख़बर आई। अब पोप ने चर्च यौन शोषण पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए काफी बेढंगी प्रतिक्रया दी है। जैसे किसी देश के संविधान में लिखे एक-एक शब्दों की अदालतें व्याख्या करती आईं हैं, ठीक उसी तरह पोप के भी बयानों की व्याख्या करने के लिए वेटिकन मुँह फाड़े खड़ा रहता है।

पोप का ताज़ा बेढंगा बयान और वेटिकन की अज़ीबो-ग़रीब व्याख्या

पोप से जब एक रिपोर्टर ने चर्चों में हो रहे यौन शोषण के बारे में पूछा, तो उन्होंने कहा:

“यह सच है…कई ऐसे पादरी हैं, और बिशप भी- जिन्होंने ये (यौन शोषण) किया है। मुझे लगता है कि यह अभी भी चल रहा है क्योंकि कुछ सिर्फ़ इसलिए नहीं रुकता क्योंकि आप इसके बारे में जागरूक हो गए हैं। हम इस पर लम्बे समय से कार्य कर रहे हैं, और हमने इन आरोपों के कारण कुछ पादरियों को निलंबित भी किया है।”

इसके बाद पोप ने ख़ुद से ही सवाल-जवाब करना शुरू कर दिया। “क्या और अधिक किया जाना चाहिए?” पोप ने पोप से पूछा। “हाँ” पोप ने ज़वाब दिया। “क्या हमारे पास इच्छाशक्ति है?” पोप ने पोप से फिर सवाल दागा। “यह एक रास्ता है जिस पर हम पहले ही चलना शुरू कर चुके हैं।”- पोप ने पोप को निरुत्तर कर दिया। इस सवाल-जवाब में मीडिया, आम जनता और पीड़ित नन्स- सबकी समस्याओं का समाधान हो गया।

बिशप फ्रांको मुलक्कल के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने वाली ननों के साथ क्या किया गया, यह जगज़ाहिर है। बलात्कार के आरोप में गिरफ़्तार होकर ज़मानत पर बाहर आए उस बिशप का जिस तरह से स्वागत किया गया, इसकी ख़बर पोप तक जरूर पहुँची होगी। द एसोसिएट प्रेस सहित अन्य मीडिया पोर्टल्स ने ऐसी अनगिनत कहानियों की चर्चा की, जहाँ ननों को पादरियों द्वारा ‘सेक्स टॉयज’ की तरह इस्तेमाल किया गया।

सबसे पहले पोप के बयान पर ध्यान देते हैं। उनके अनुसार, कार्रवाई की जा रही है। इस पर हर एक व्यक्ति उनसे पूछना चाहेगा कि बिशप मुलक्कल पर क्या कार्रवाई की गई? सड़क पर तख़्तियाँ लेकर खड़े ननों को न्याय दिलाने के लिए वेटिकन ने क्या किया? ऐसी सूरत में, जब ख़बर स्थानीय से लेकर अंतर्राष्ट्रीय मीडिया तक में चली और चर्च की किरकिरी हुई, वेटिकन ने इस बारे में एक बयान तक जारी करना क्यों ज़रूरी नहीं समझा? महिलाओं के बारे में बात करते हुए पोप ने कहा:

“पूर्व पोप बेनेडिक्ट ने 2005 में अपने चुनाव के बाद शीघ्र ही महिलाओं के धार्मिक क्रम (Religious Order) को भंग कर दिया “क्योंकि दासता इसका हिस्सा बन गई थी (धार्मिक आदेश), यहाँ तक कि पादरियों और संस्थापकों की ओर से भी यौन दासता जैसे कृत्य किए जा रहे थे।”

वेटिकन ने पोप के बयान की जो व्याख्या की, वो और भी अज़ीबो-ग़रीब है। वेटिकन ने पोप के बयान को लेकर कहा:

“जब होली फादर ने एक संघटन के विघटन का ज़िक्र किया, तो ‘यौन दासता’ की बात की, जिसका अर्थ था ‘हेरफेर (Manipulation),’ शक्ति का दुरुपयोग- जो कि यौन शोषण में भी परिलक्षित होता है।”

वेटिकन का यह रवैया उसके भीतर चल रहे विरोधाभाषों को दिखता है। ‘महिलाओं के यौन शोषण’ की तुलना ‘शक्ति के दुरूपयोग’ से नहीं की जा सकती। पहला वाला कहीं अधिक घृणित और वीभत्स कार्य है। वो भी ऐसी महिलाओं के साथ अमानवीय व्यवहार करना, जो ईश्वर की सेवा करने की पवित्र भावना के साथ चर्च में आती हैं।

फ़िल्मों से लेकर सोशल मीडिया तक छाया है मुद्दा

द बोस्टन ग्लोब नामक अख़बार की खोजी पत्रकारिता पर बनी ऑस्कर विजेता फ़िल्मस्पॉटलाइट‘ में पादरियों द्वारा किए जाने वाले बाल यौन शोषण को उजागर किया गया है। अख़बार द्वारा गठित स्पॉटलाइट टीम की खोजी पत्रकारिता की मदद से इस सच को सामने लाया गया था। द बोस्टन ग्लोब की स्पॉटलाइट टीम को पुलित्जर सम्मान मिला था। लेकिन, तब भी वेटिकन की आँखें नहीं खुलीं। इस फ़िल्म के पहले और बाद में कैथोलिक चर्च सिर्फ़ यौन शोषण के मामलों में करोड़ों का जुर्माना भर चुका है।

हमने भी अंतर्राष्ट्रीय मीडिया में आई यौन शोषण की कई स्टोरीज़ प्रकाशित की थी, जिसमे ननों ने अपने साथ हुए अत्याचार को उजागर किया था। हाल ही में अमेरिका के इलिलोईस प्रांत में करीब 700 पादरियों पर बच्चों के यौन शोषण का आरोप लगा था। इलिनोइस के अटॉर्नी जनरल ने अपनी एक रिपोर्ट में इस बात पर चिंता जताई है कि चर्च इन आरोपों से निपटने में अक्षम रहा है। ज्ञात हो कि चर्च ने यौन शोषण के आरोपित पादरियों की संख्या 185 बताई थी लेकिन अटॉर्नी जनरल लीसा मैडिगन के अनुसार ऐसे पादरियों की संख्या इस से कहीं बहुत ज़्यादा है।

अब सवाल यह उठता है कि मामले के इतने बड़े स्तर पर जाने के बावजूद शक्तिशाली वेटिकन और पोप ने किसी भी प्रकार के बयान देने, इस घटनाओं की निंदा करने, और दोषी पादरियों पर कार्रवाई करने की ज़हमत क्यों नहीं उठाई। पोप ने आख़िरकार अपना मौन तो तोड़ा, लेकिन इस बयान से अच्छी तो उनकी चुप्पी थी। उनकी चुप्पी से कम से कम तरह-तरह के क़यास तो लगाए जा सकते थे, लेकिन उनके इस बयान ने दुनियाभर की हज़ारों पीड़ित ननों को निराशा के अलावा और कुछ नहीं दिया है।

अगर वेटिकन चर्च में हो रही इन वारदातों को सँभालने में नाकाम रहा है, तो उसे यह घोषणा कर देनी चाहिए कि उसने दुनियाभर के पादरियों का ठेका नहीं ले रखा है, और वो उसके जुरिडिक्शन में नहीं आते। खुल्ले साँड की तरह घूम रहे दोषी पादरी और बिशप फ़िलहाल आश्वस्त हैं- उनका कुछ नहीं बिगड़ेगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अनुपम कुमार सिंहhttp://anupamkrsin.wordpress.com
चम्पारण से. हमेशा राइट. भारतीय इतिहास, राजनीति और संस्कृति की समझ. बीआईटी मेसरा से कंप्यूटर साइंस में स्नातक.

 

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मानसिक रूप से विक्षिप्त महिला राहुल गाँधी से करना चाहती थी शादी, एयरपोर्ट पर पुलिस ने रोका

इंदौर के देवी अहिल्याबाई होल्कर एयरपोर्ट पर एक महिला ने खूब हंगामा किया। उसका कहना था कि उसे राहुल गाँधी से शादी करने दिल्ली जाना है।

पैंट की चेन खोल 5 साल की बच्ची का हाथ पकड़ना यौन शोषण नहीं: ‘स्किन टू स्किन’ जजमेंट के बाद बॉम्बे HC का फैसला

स्तन दबाने के मामले में ‘स्किन टू स्किन’ जजमेंट सुनाने के बाद अब बताया गया है कि यदि किसी नाबालिग के सामने कोई पैंट की जिप खोल दे, तो वो...

मैंने राज खोले तो भागने का रास्ता नहीं मिलेगा: आधी रात फेसबुक लाइव से दीप सिद्धू ने ‘घमंडी किसान’ नेताओं को दी धमकी

गद्दार कहे जाने से नाराज दीप सिद्धू ने किसान नेताओं को चेतावनी दी कि अगर उन्होंने अंदर की बातें खोलनी शुरू कर दी तो इन नेताओं को भागने की राह नहीं मिलेगी।

जेल में ही रहेगा मुनव्वर फारुखी, हाई कोर्ट से जमानत याचिका खारिज: कॉमेडी के नाम पर हिंदू देवी-देवताओं को देता था गाली

हिंदू देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाला मुनव्वर फारुखी अभी कुछ और दिन जेल में रहेगा। हाईकोर्ट ने उसकी जमानत...

व्यंग्य: गेहूँ काटते किसान को फोटो एडिट कर दिखाया बैरिकेड पर, शर्म करो गोदी मीडिया!

एक पुलिसकर्मी शरबत पिलाने और लंगर खिलाने के बाद 'अन्नदाताओं' को धन्यवाद दे रहा है। लेकिन गोदी मीडिया ने उन्हें दंगाई बता दिया।

श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर की ओर से दान किए ₹1 करोड़, 1 लाख

योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर की ओर से श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए 1 करोड़, 1 लाख रुपए अयोध्या श्रीराम जन्मभूमि निर्माण निधि समर्पण के रूप में दान किए।

प्रचलित ख़बरें

लाइव TV में दिख गया सच तो NDTV ने यूट्यूब वीडियो में की एडिटिंग, दंगाइयों के कुकर्म पर रवीश की लीपा-पोती

हर जगह 'किसानों' की थू-थू हो रही, लेकिन NDTV के रवीश कुमार अब भी हिंसक तत्वों के कुकर्मों पर लीपा-पोती करके उसे ढकने की कोशिशों में लगे हैं।

तेज रफ्तार ट्रैक्टर से मरा ‘किसान’, राजदीप ने कहा- पुलिस की गोली से हुई मौत, फिर ट्वीट किया डिलीट

राजदीप सरदेसाई ने तिरंगे में लिपटी मृतक की लाश की तस्वीर अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर करते हुए लिखा कि इसकी मौत पुलिस की गोली से हुई है।

व्यंग्य: गेहूँ काटते किसान को फोटो एडिट कर दिखाया बैरिकेड पर, शर्म करो गोदी मीडिया!

एक पुलिसकर्मी शरबत पिलाने और लंगर खिलाने के बाद 'अन्नदाताओं' को धन्यवाद दे रहा है। लेकिन गोदी मीडिया ने उन्हें दंगाई बता दिया।

UP पुलिस ने शांतिपूर्ण तरीके से हटाया ‘किसान’ प्रदर्शनकारियों को, लोग कह रहे – बिजली काट मार-मार कर भगाया

नेशनल हाईवे अथॉरिटी के निवेदन पर बागपत प्रशासन ने किसान प्रदर्शकारियों को विरोध स्थल से हटाते हुए धरनास्थल को शांतिपूर्ण तरीके से खाली करवा दिया है।

महिला पुलिस कॉन्स्टेबल को जबरन घेर कर कोने में ले गए ‘अन्नदाता’, किया दुर्व्यवहार: एक अन्य जवान हुआ बेहोश

महिला पुलिस को किसान प्रदर्शनकारी चारों ओर से घेरे हुए थे। कोने में ले जाकर महिला कॉन्स्टेबल के साथ दुर्व्यवहार किया गया।

हिंदुओं को धमकी देने वाले के अब्बा, मोदी को 420 कहने वाले मौलाना और कॉन्ग्रेस नेता: ‘लोकतंत्र की हत्या’ गैंग के मुँह पर 3...

पद्म पुरस्कारों में 3 नाम ऐसे हैं, जो ध्यान खींच रहे- मौलाना वहीदुद्दीन खान (पद्म विभूषण), तरुण गोगोई (पद्म भूषण) और कल्बे सादिक (पद्म भूषण)।
- विज्ञापन -

 

इस्लामी देश में टॉपलेस फोटो खिंचवाने पर प्लेबॉय मॉडल को धमकी, लोगों ने पूछा- क्यों नहीं किया अरेस्ट

लोगों की आलोचनाओं से घिरी ल्युआना सैंडियन ने उनके ऊपर लगे सारे आरोपों को खंडन किया है। ल्युआना का कहना है कि उनका उद्देश्‍य किसी को आहत करना नहीं था।

मानसिक रूप से विक्षिप्त महिला राहुल गाँधी से करना चाहती थी शादी, एयरपोर्ट पर पुलिस ने रोका

इंदौर के देवी अहिल्याबाई होल्कर एयरपोर्ट पर एक महिला ने खूब हंगामा किया। उसका कहना था कि उसे राहुल गाँधी से शादी करने दिल्ली जाना है।

केजरीवाल सरकार दिल्ली दंगो के आरोपितों को बचा रही, जमानत के लिए छिपाई जानकारी: दिल्ली पुलिस

याचिका में दिल्ली पुलिस ने आरोप लगाया कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार के वकील ने खुफ़िया एजेंसियों को धोखे में रखा और सही जानकारी को रोके रखा।

पैंट की चेन खोल 5 साल की बच्ची का हाथ पकड़ना यौन शोषण नहीं: ‘स्किन टू स्किन’ जजमेंट के बाद बॉम्बे HC का फैसला

स्तन दबाने के मामले में ‘स्किन टू स्किन’ जजमेंट सुनाने के बाद अब बताया गया है कि यदि किसी नाबालिग के सामने कोई पैंट की जिप खोल दे, तो वो...

‘अयोध्या की मस्जिद में नमाज पढ़ना हराम, चंदा देना हराम… इस्लाम के सभी उलेमाओं ने बताया हराम’

AIMIM के ओवैसी ने अयोध्या की मस्जिद पर बयान दिया। उनका कहना है कि यह ‘मस्जिद-ए-ज़ीरार’ है और उसमें नमाज़ पढ़ना हराम है।

मैंने राज खोले तो भागने का रास्ता नहीं मिलेगा: आधी रात फेसबुक लाइव से दीप सिद्धू ने ‘घमंडी किसान’ नेताओं को दी धमकी

गद्दार कहे जाने से नाराज दीप सिद्धू ने किसान नेताओं को चेतावनी दी कि अगर उन्होंने अंदर की बातें खोलनी शुरू कर दी तो इन नेताओं को भागने की राह नहीं मिलेगी।

जेल में ही रहेगा मुनव्वर फारुखी, हाई कोर्ट से जमानत याचिका खारिज: कॉमेडी के नाम पर हिंदू देवी-देवताओं को देता था गाली

हिंदू देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाला मुनव्वर फारुखी अभी कुछ और दिन जेल में रहेगा। हाईकोर्ट ने उसकी जमानत...

16 साल की लड़की का ‘रेप’, शादी का ऑफर और निकाहशुदा अपराधी को बेल क्योंकि उसके मजहब में…

25 वर्षीय निकाहशुदा आरोपित की रिहाई की माँग करते हुए उसके वकील ने अदालत के सामने कहा, "आरोपित के मज़हब में एक से ज़्यादा निकाह..."

व्यंग्य: गेहूँ काटते किसान को फोटो एडिट कर दिखाया बैरिकेड पर, शर्म करो गोदी मीडिया!

एक पुलिसकर्मी शरबत पिलाने और लंगर खिलाने के बाद 'अन्नदाताओं' को धन्यवाद दे रहा है। लेकिन गोदी मीडिया ने उन्हें दंगाई बता दिया।

मुंबई कर्नाटक का हिस्सा, महाराष्ट्र से काट कर केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया जाए: गरमाई मराठी-कन्नड़ राजनीति

"मुंबई कर्नाटक का हिस्सा है। कर्नाटक के लोगों का मानना है कि मुंबई लंबे समय तक कर्नाटक में रही है, इसलिए मुंबई पर उनका अधिकार है।"

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
387,000SubscribersSubscribe