Tuesday, October 19, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयनरेंद्र मोदी, जापानी PM, ट्रम्प और कुत्ता: रॉयटर्स ने दिखाई नस्लभेदी मानसिकता

नरेंद्र मोदी, जापानी PM, ट्रम्प और कुत्ता: रॉयटर्स ने दिखाई नस्लभेदी मानसिकता

पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प की हजारों वीडियो क्लिप हैं, लेकिन रॉयटर्स ने व्हाइट हाउस के पालतू जानवरों और कुत्तों के वीडियो पर दो एशियाई नेताओं को दिखाना ज्यादा उचित समझा।

जो बायडेन (Joe Biden) ने 20 जनवरी 2021 को 46वें अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर शपथ ली। इस दौरान दुनिया भर के मीडिया संगठनों ने विशेष कवरेज, वीडियो और सूचना के प्रचार-प्रसार में कोई कसर नहीं छोड़ी। मीडिया ने हर पहलू से यह साबित करने की कोशिश की, कि कैसे नए अमेरिकी राष्ट्रपति का अंदाज अपने पूर्ववर्ती से अलग है।

ब्रिटेन स्थित थॉमसन रॉयटर्स समूह के स्वामित्व वाली समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपतियों और उनके ‘कुत्तों’ को लेकर एक वीडियो साझा किया। इसमें जो बायडेन का जर्मन शेफर्ड कुत्ता ‘मेजर’ व्हाइट हाउस में एंट्री लेते हुए दिखा रहा है। वह व्हाइट हाउस में रहने के लिए आने वाला पहला रेस्क्यू डॉग है। रॉयटर्स ने बताया है कि सिर्फ बायडेन ही नहीं, अन्य पूर्व राष्ट्रपति भी व्हाइट हाउस में अपने पालतू जानवरों के साथ रह चुके हैं।

रॉयटर्स ने अपने वीडियो में बताया है कि जॉर्ज बुश द्वारा व्हाइट हाउस में लाए गए दो कुत्ते ‘बेज़ले और बार्नी’ की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए ओबामा सनी ‘और’ बो नाम के दो कुत्तों को लेकर व्हाइट हाउस में आए थे।

रॉयटर्स की रिपोर्ट में संबंधित राष्ट्रपतियों के कुत्तों की छवियाँ साझा करते हुए बताया गया है कि क्लिंटन दंपती चॉकलेट लैब्राडोर रिट्रीवर- ’बडी’ को लाए थे। जॉर्ज एच. डब्ल्यू. बुश और परिवार के पास व्हाइट हाउस में कई कुत्ते थे, जिसमें बुश की पत्नी बारबरा द्वारा लिखी गई बच्चों की पुस्तक मिल्ली का स्टार भी शामिल है।

व्हाइट हाउस में कुत्ते को लाने की परंपराओं को निभाने के लिए विभिन्न पूर्व राष्ट्रपतियों और वर्तमान राष्ट्रपति जो बायडेन की प्रशंसा करते हुए रायटर्स ने कहा कि, 1860 के दशक में एंड्रयू जॉनसन के बाद से डोनाल्ड ट्रम्प ही केवल ऐसे राष्ट्रपति थे जिनके पास व्हाइट हाउस में कोई पालतू जानवर नहीं था।

वहीं ट्रम्प की पालतू जानवरों में कम रुचि होने के बारे में बताते हुए रॉयटर्स ने वीडियो में दो एशियाई राष्ट्र प्रमुखों, भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी और पूर्व जापानी पीएम शिंजो आबे की राष्ट्रपति ट्रम्प से हुई मुलाकात की क्लिप साझा की।

यहाँ यह बात गौर करने वाली है कि जब पालतू जानवरों’ में अरुचि की बात आई तो रायटर्स ने पूरी दुनिया मे पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प के हजारों क्लिप में से सिर्फ पीएम मोदी और पूर्व पीएम शिंजो आबे को ही चुना। दिलचस्प बात यह है कि इन दोनों विश्व नेताओं को, ‘लीजन ऑफ मेरिट’ से सम्मानित किया गया था – जो कि संयुक्त राज्य सशस्त्र बलों के सर्वोच्च सैन्य पुरस्कारों में से एक है।

यह बात सच है कि पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प की हजारों वीडियो क्लिप हैं, लेकिन रॉयटर्स ने व्हाइट हाउस के पालतू जानवरों और कुत्तों के वीडियो पर दो एशियाई नेताओं को दिखाना ज्यादा उचित समझा।

यहाँ कॉनन के साथ ट्रम्प का एक वीडियो है, जो बगदादी के रेड में घायल हुआ कुत्ता है। रॉयटर्स चाहता तो इस क्लिप का इस्तेमाल व्हाइट हाउस में पालतू जानवरों के बारे में बात करने के लिए कर सकता था।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद अमेरिका के नए राष्ट्रपति बायडन ने अमेरिकी जनता को लोकतांत्रिक पद्धति कायम रखने के लिए बधाई दी। उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, “यह अमेरिका का दिन है। यह लोकतंत्र का दिन है। यह इतिहास और आशा का दिन है।”

बायडन ने शपथ लेने के बाद कहा कि यह किसी उम्मीदवार की जीत का जश्न नहीं, लोकतंत्र के उद्देश्य की जीत का जश्‍न है। जनता की इच्छाओं को सुना और समझा गया है।

जो बायडन को मुख्य न्यायाधीश जॉन रॉबर्ट्स ने शपथ दिलाई। उनके साथ कमला हैरिस ने देश की पहली महिला उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। उन्हें सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस सोनिया सोतोमयोर द्वारा शपथ दिलाई गई।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe