Monday, May 16, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीययूक्रेन के खेरसोन पर अब रूस का नियंत्रण, खारकीव में छात्रों को बंधक बनाए...

यूक्रेन के खेरसोन पर अब रूस का नियंत्रण, खारकीव में छात्रों को बंधक बनाए जाने से भारत का इनकार

"हमने यूक्रेन के अधिकारियों से अनुरोध किया है कि वे विशेष ट्रेनों की व्यवस्था कर खारकीव और यूक्रेन के दूसरे इलाकों में फँसे भारतीय छात्रों को निकालने में हमारा सहयोग करें।”

यूक्रेन के सबसे बड़े शहर खेरसोन (Kherson) पर रूस की सेना ने नियंत्रण कर लिया है। दोनों देशों के बीच चल रहे युद्ध के आठवें दिन गुरुवार (3 मार्च 2022) को इसकी पुष्टि खेरसोन के मेयर इगोर कोल्यखेव ने भी की है। दूसरी ओर भारत ने उन रिपोर्टों को खारिज किया है, जिनमें दावा किया जा रहा था कि यूक्रेन में भारतीय छात्र बंधक बनाकर रखे गए हैं। दरअसल, रूस की सरकार की ओर से इस तरह का दावा किया गया था।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा है कि हमें खारकीव में किसी भी छात्र को बंधक बनाए जाने की कोई जानकारी नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि यूक्रेन स्थित भारतीय दूतावास यूक्रेन में फँसे भारतीयों से लगातार संपर्क बनाए हुए हैं और ऐसी कोई खबर अब तक नहीं मिली है। 

विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है, “यूक्रेनी अधिकारियों की मदद से कई छात्र कल खारकीव छोड़ पाए हैं। हमें किसी भी छात्र के बंधक बनाए जाने की कोई रिपोर्ट नहीं मिली है। हमने यूक्रेन के अधिकारियों से अनुरोध किया है कि वे विशेष ट्रेनों की व्यवस्था कर खारकीव और यूक्रेन के दूसरे इलाकों में फँसे भारतीय छात्रों को निकालने में हमारा सहयोग करें।”

बयान में आगे कहा गया है, “हम रूस, रोमानिया, पोलैंड, हंगरी, स्लोवाकिया और मोल्दोवा सहित यूक्रेन के आसपास के देशों के साथ प्रभावी ढंग से बातचीत कर रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में बड़ी संख्या में भारतीय नागरिकों को यूक्रेन से निकाला गया है। हम यूक्रेन की तरफ से दी गई मदद की सराहना करते हैं। हम यूक्रेन के पश्चिमी पड़ोसी देशों को भारतीय नागरिकों को प्रवेश की इजाजत देने और उड़ान तक देश में रहने देने के लिए उनका धन्यवाद करते हैं।”

क्या कहा था रूस ने?

रूसी रक्षा मंत्रालय ने बताया था कि उनकी जानकारी के अनुसार यूक्रेनी अधिकारियों ने भारतीय छात्रों के एक बड़े समूह को जबरन खारकीव में रोके रखा है। कथित तौर पर यह समूह ब्रेलग्राद जाना चाहता था। बेलग्राद रूस का एक सीमावर्ती क्षेत्र है और खारकीव से ज्यादा दूर नहीं है। रूस के रक्षा मंत्रालय ने एक ब्रीफिंग में कहा कि जब खारकीव से रूस भारतीय छात्रों को निकालने की कोशिश कर रहा था, यूक्रेन की सेना ने उन्हें बंधक बना लिया।

खेरसोन पर रूस का कब्‍जा

इधर खेरसोन के मेयर इहोर कोलिखैव ने अपने फेसबुक अकाउंट पर एक पोस्ट लिखकर निवासियों से रूसी सैनिकों के आदेशों का पालन करने के लिए कहा है। बता दें कि खेरसोन में लगभग 2,90,000 लोग रहते हैं और यह कीव से लगभग 480 KM दक्षिण में स्थित है।

इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने गुरुवार (3 मार्च 2022) की सुबह अपने संबोधन में यूक्रेन के लोगों से रूसी सेना का विरोध जारी रखने का आग्रह किया। लेकिन उन्होंने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की कि रूस ने खेरसोन सहित प्रमुख शहरों पर कब्जा किया है या नहीं। उन्होंने दावा किया कि रूस को उन जगहों से खदेड़ दिया जाएगा जहाँ वह घुस चुके हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल बिना तो हमारे राम भी अधूरे हैं: प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बुद्ध की धरती’ पर समझाई भारत से दोस्ती की अहमियत, कहा- यही मानवता...

अपनी नेपाल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किए मायादेवी मंदिर के दर्शन और भारत और नेपाल को एक दूसरे के बिना अधूरा बताया।

CRPF करेगी ज्ञानवापी में मिले शिवलिंग की सुरक्षा, अदालत ने सील की जगह, वजू पर मनाही: जैसे ही दिखे बाबा, ‘हर-हर महादेव’ से गूँजा...

सर्वे के तीसरे दिन हिन्दू पक्ष की तरफ से सोमवार को करीब 12 फीट 8 इंच लंबा शिवलिंग नंदी के सामने विवादित ढाँचे के वजूखाने में मिलने का दावा किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,091FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe