Tuesday, January 18, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइस्लामाबाद में लगे शिवसेना के बैनर: 'आज J&K लिया है, कल POK लेंगे'

इस्लामाबाद में लगे शिवसेना के बैनर: ‘आज J&K लिया है, कल POK लेंगे’

रिपोर्ट्स के मुताबिक जिन इलाकों में पोस्टर लगाए गए वह पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटेलिजेंस ब्यूरो और आईएसआई के मुख्यालय के नजदीक हैं।

जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल पर चर्चा के दौरान शिवसेना सांसद संजय राउत के बयान वाले पोस्टर पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में कई जगहों पर लगे मिले। इनमें राजधानी का अतिसुरक्षित माना जाने वाला इलाक़ा भी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक जिन इलाकों में पोस्टर लगाए गए वह पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के मुख्यालय के नजदीक हैं।

इस मामले में इस्लामाबाद पुलिस ने अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ मुकदमा दर्ज किया है। साथ ही रेड जोन इलाके में रेड डालकर तीन लोगों को हिरासत में लिया है। पाकिस्तान के जिला प्रशासन ने इस मामले में नगर निगम को भी नोटिस जारी करके 24 घंटों के अंदर जवाब माँगा है कि पोस्टरों को हटाने में 5 घंटे क्यों लगे?

गौरतलब है कि इस पोस्टर पर शिवसेना नेता संजय राउत का वो बयान लिखा था जिसमें उन्होंने कहा था,”आज जम्मू और कश्मीर लिया है, कल बलूचिस्तान लेंगे, पीओके लेंगे और मुझे उम्मीद है कि प्रधानमंत्री अखंड भारत का सपना पूरा करेंगे।”

मीडिया की खबरों में थाना सेक्रेटिएट के इंचार्ज इंस्पेक्टर असजद महमूद ने बताया कि बैनर सिर्फ़ उनके इलाक़े में ही नहीं लगाए गए, बल्कि अन्य जगहों पर भी लगाए गए हैं। उन्होंने बताया कि जानकारी मिलने के बाद उन्होंने तुरंत बैनरों को उतारना शुरू कर दिया। पत्रकारों को इन पोस्टरों की तस्वीर लेने से मना कर दिया गया।

पुलिस ने रेड जोन में स्थित एक पाँच सितारा होटल के अलावा आसपास की इमारतों पर लगे सीसीटीवी कैमरों से रिकॉर्डिंग हासिल कर ली है, जिसमें एक आदमी को वहाँ के एफ-6 इलाके में ये पोस्टर लगाते दिख रहा है।

बता दें कि इस्लामाबाद में बैनर लगाने के लिए प्रशासन की अनुमति अनिवार्य है। इलाके में धारा 144 भी प्रभावी है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अमानतुल्लाह खान यहाँ नमाज पढ़ सकते हैं तो हिंदू हनुमान चालीसा क्यों नहीं?’: इंद्रप्रस्थ किले पर गरमाया विवाद, अंदर मस्जिद बनाने के भी आरोप

अमानतुल्लाह खान की एक वीडियो के विरोध में आज फिरोज शाह कोटला किले के बाहर हिंदूवादी लोगों ने इकट्ठा होकर हनुमान चालीसा का पाठ किया।

जब 5 मिनट तक फ्लाइंग किस देते रहे थे भगवंत मान, बार-बार गिर रहे थे: AAP ने बनाया चेहरा तो बोले लोग – ‘उड़ते...

ट्विटर पर यूजर्स उन्हें 'पेगवंत मान' कहकर संबोधित कर रहे हैं और केजरीवाल के फैसले को गलत ठहरा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,996FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe