Wednesday, May 12, 2021
Home रिपोर्ट अंतरराष्ट्रीय 'जिहाद के लिए मरो तो 72 हूरें मिलेंगी' - ये कहने वाला 'सबसे बड़ा...

‘जिहाद के लिए मरो तो 72 हूरें मिलेंगी’ – ये कहने वाला ‘सबसे बड़ा आतंकी’ खुद मौत के डर से करवा रखा था इंश्योरेंस

अफगान तालिबान प्रमुख मुल्ला अख्तर मंसूर ने फर्जी आईडी पर 300000 पाकिस्तानी रुपयों का भुगतान कर 'जीवन बीमा पॉलिसी' ले रखी थी। ड्रोन हमले में मारे जाने से पहले उसने...

दूसरों की जान लेने पर आमादा आतंकी क्या अपने मरने से पहले जीवन बीमा कराता होगा? इसका जवाब आतंकी पैदा करने वाले देश पाकिस्तान से ही आया है। जानकारी के मुताबिक एक तालिबानी आतंकवादी ने ‘जीवन बीमा पॉलिसी’ ले रखी थी।

इस आतंकी का नाम मुल्ला अख्तर मंसूर था और वह 2016 में अमेरिकी ड्रोन हमले में मारा जा चुका है। उसने पाकिस्तान में एक निजी कंपनी से ‘जीवन बीमा’ पॉलिसी खरीदी हुई थी। अफगान तालिबान प्रमुख मुल्ला अख्तर मंसूर ने यह बीमा फर्जी आईडी पर लिया था।

जीवन बीमा कराने का मामला उस समय प्रकाश में आया, जब उसके खिलाफ आतंकी फंडिंग केस में कराची में सुनवाई हो रही थी। मामले में बीमा कंपनी ने कराची की आतंक निरोधक अदालत को पूरी जानकारी दी। मंसूर के खिलाफ फेडरल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (एफआईडी) एक साल से जाँच कर रही है।

जाँच में यह जानकारी सामने आई है कि मंसूर आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए फर्जी कागजातों से प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त कराता था। उसने फर्जी आईडी पर कराची में दो लाख डालर की जमीन और घर खरीदे थे।

इसी खोजबीन में जानकारी मिली कि मुल्ला अख्तर मंसूर ने एक जीवन बीमा पॉलिसी खरीदी थी। उसने 21 अप्रैल 2016 में ड्रोन हमले में मारे जाने से पहले तीन लाख पाकिस्तानी रुपयों का भुगतान जीवन बीमा के लिए किया था।

जाँच एजेंसी ने इंश्योरेंस कंपनी से मंसूर के मूल भुगतान को अदालत में जमा कराए जाने के लिए कहा था। बीमा कंपनी ने तीन लाख पचास हजार रुपए का चेक अब अदालत में जमा किया है। अदालत ने इस रकम को सरकारी कोषागार में जमा कराने का निर्देश दिया है।

आतंकवाद निरोधक अदालत के जज ने 2 निजी बैंकों, एलाइड बैंक लिमिटेड और बैंक अल-फलाह से उन खातों के बारे में भी रिपोर्ट माँगी है, जिनमें अफगान तालिबान नेता और उसके सहयोगियों ने पैसे जमा किए थे। कोर्ट ने पैसे के लेन-देन का भी पूरा ब्‍यौरा माँगा है।

हैरानी की बात है कि नौजवानों को आतंकी बनाने के लिए जन्नत और 72 हूरों के सपने दिखाए जाते हैं। उन्हें मजहब के नाम पर गुमराह कर हाथ में बंदूक थमा दिए जाते हैं, फिदायीन बनने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है और यह आतंकवादी खुद के लिए पैसे का इंतजाम करते हैं। मुल्ला अख्तर मंसूर खुद के लिए जीवन बीमा पॉलिसी खरीद कर आतंकी हमलों को अंजाम दे रहा था। 

कश्मीर में सक्रिय आतंकी बेशक सबके सामने इस्लाम और कश्मीर की आजादी की बात करते हैं, लेकिन नए आतंकियों को पढ़ाया व सिखाया जाता है कि मरने के बाद उन्हें जन्नत में 72 हूरें मिलेंगी। यह इस्लामिक कट्टरपंथियों का ब्रेनवॉश करने का बहुत पॉपुलर तरीका है।

चाहे अलकायदा हो, जैश-ए-मोहम्मद, बोको हरम या हमास, सारे ही अपने लड़ाकों को बताते हैं कि अगर वे मज़हब की राह में अपनी जान देंगे तो उन्हें जन्नत नसीब होगी। जन्नत में भी उन्हें हमेशा युवा रहने वाली और गहरी काली आँखों वाली 72 हूरों के साथ कभी न खत्म होने वाले कथित आनंद के बारे में बताया जाता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

25 साल पहले ULFA ने कर दी थी पति की हत्या, अब असम की पहली महिला वित्त मंत्री

असम में पहली बार एक महिला वित्त मंत्री चुनी गई है। नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने अपनी सरकार में वित्त विभाग 5 बार गोलाघाट से विधायक रह चुकी अजंता निओग को सौंपा।

UP: न्यूज एंकर समेत 4 पत्रकार ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी में गिरफ्तार, ₹55 हजार में कर रहे थे सौदा

उत्तर प्रदेश के कानपुर में चार पत्रकार ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजरी करते पकड़े गए हैं। इनमें से एक लोकल न्यूज चैनल का एमडी/एंकर है।

‘हमारे साथ खराब काम हुआ’: टिकरी बॉर्डर गैंगरेप में योगेंद्र यादव से पूछताछ, कविता और योगिता भी तलब

पीड़ित पिता के मुताबिक बेटी की मौत के बाद उन पर कुछ भी पुलिस को नहीं बताने का दबाव बनाया गया था।

पति से वीडियो कॉल पर बात कर रही थी केरल की सौम्या, फलस्तीनी आतंकी संगठन हमास के रॉकेट ने उड़ाया

सौम्या संतोष हमास के रॉकेट हमले में मारी गई। जब हमला हुआ उस वक्त वह केरल में रह रहे अपने पति संतोष से वीडियो कॉल पर बात कर रही थी।

97941 गाँव, 141610 टीम: कोरोना से लड़ाई में योगी सरकार का डोर-टू-डोर कैम्पेन असरदार, WHO ने भी माना लोहा

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए योगी सरकार की तरफ से उठाए गए कदमों का पूरा ब्यौरा।

563 साल पहले आज ही इस शहर की पड़ी थी नींव, 7 दिन में मोदी के मंत्री ने कोविड से जंग में कर दिखाया...

जोधपुर में 120 बेड का अत्याधुनिक कोविड रिलीफ सेंटर केवल 7 दिन में तैयार कर दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

मुस्लिम वैज्ञानिक ‘मेजर जनरल पृथ्वीराज’ और PM वाजपेयी ने रचा था इतिहास, सोनिया ने दी थी संयम की सलाह

...उसके बाद कई देशों ने प्रतिबन्ध लगाए। लेकिन वाजपेयी झुके नहीं और यही कारण है कि देश आज सुपर-पावर बनने की ओर अग्रसर है।

इजरायल पर इस्लामी गुट हमास ने दागे 480 रॉकेट, केरल की सौम्या सहित 36 की मौत: 7 साल बाद ऐसा संघर्ष

फलस्तीनी इस्लामी गुट हमास ने इजरायल के कई शहरों पर ताबड़तोड़ रॉकेट दागे। गाजा पट्टी पर जवाबी हमले किए गए।

‘इस्लाम को रियायतों से आज खतरे में फ्रांस’: सैनिकों ने राष्ट्रपति को गृहयुद्ध के खतरे से किया आगाह

फ्रांसीसी सैनिकों के एक समूह ने राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को खुला पत्र लिखा है। इस्लाम की वजह से फ्रांस में पैदा हुए खतरों को लेकर चेताया है।

‘#FreePalestine’ कैम्पेन पर ट्रोल हुई स्वरा भास्कर, मोसाद के पैरोडी अकाउंट के साथ लोगों ने लिए मजे

स्वरा के ट्वीट का हवाला देते हुए @TheMossadIL ने ट्वीट किया कि अगर इस ट्वीट को स्वरा भास्कर के ट्वीट से अधिक लाइक मिलते हैं, तो वे भारतीय अभिनेत्री को एक स्पेशल ‘पॉकेट रॉकेट’ भेजेंगे।

इजरायल का आयरन डोम आसमान में ही नष्ट कर देता है आतंकी संगठन हमास का रॉकेट: देखें Video

इजरायल ने फलस्तीनी आतंकी संगठन हमास द्वारा अपने शहरों को निशाना बनाकर दागे गए रॉकेट को आयरन डोम द्वारा किया नष्ट

बांग्लादेश: हिंदू एक्टर की माँ के माथे पर सिंदूर देख भड़के कट्टरपंथी, सोशल मीडिया में उगला जहर

बांग्लादेश में एक हिंदू अभिनेता की धार्मिक पहचान उजागर होने के बाद इस्लामिक लोगों ने अभिनेता के खिलाफ सोशल मीडिया में उगला जहर
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,388FansLike
92,652FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe