Sunday, July 25, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'बम बाँध कर कौन फटता है? - एयरलाइन के CEO का बयान, लिबरल्स आग...

‘बम बाँध कर कौन फटता है? – एयरलाइन के CEO का बयान, लिबरल्स आग बबूला

"ज्यादातर बॉम्बर्स अकेले यात्रा करने वाले मुस्लिम पुरुष ही हैं... यदि आप अपने बच्चों के साथ परिवार समेत यात्रा कर रहे हैं तो इस बात की सम्भावना बहुत कम है कि आप बम बाँध कर फटेंगे।"

लंदन में टाइम्स न्यूज़ पेपर से बात करते हुए एयरलाइन्स रेनएयर (Ryanair) के चीफ एग्जीक्यूटिव अफसर माइकल ओ’ लियरी ने “सच को कहने की जरूरत” पर जोर देते हुआ कहा, “आज बम बाँध कर फटने वाले ज्यादातर आतंकी आखिर और किस मजहब को मानने वाले हैं? अगर इन में से ज्यादातर मुस्लिम ही हैं तो क्यों नहीं इनकी प्रोफाइलिंग की जाए?”

माइकल ओ’ लियरी ने यह बात एयरपोर्ट सुरक्षा पर टिप्पणी करते हुए टाइम्स से बातचीत में कही।

रिपोर्ट्स के अनुसार शनिवार को पब्लिश हुए इस इंटरव्यू में एयरलाइन के बॉस ने कहा, “ज्यादातर बॉम्बर्स अकेले यात्रा करने वाले मुस्लिम पुरुष ही हैं… यदि आप अपने बच्चों के साथ परिवार समेत यात्रा कर रहे हैं तो इस बात की सम्भावना बहुत कम है कि आप बम बाँध कर फटेंगे।”

58 साल के एयरलाइन चीफ ने अपने इंटरव्यू में कहा कि आप सच बोलने से इसलिए नहीं कतरा सकते हैं कि यह नस्लीय कहा जाएगा। 30 साल पहले ऐसा करने वाले आयरिश थे, आज मुस्लिम हैं, यही सच है। सीईओ ने आगे कहा, “जहाँ से खतरा है, डील वहाँ करना होगा।”

इस ‘पॉलिटिकली नॉट सो करेक्ट’ बयान पर जो बवाल होने अपेक्षित थे, वे हुए ही। लेबर पार्टी के एमपी खालिद महमूद ने अखबार से कहा,”ओ’ लियरी नस्लीय भेदभाव को बढ़ावा दे रहे।”

ब्रिटिश मुस्लिम कॉउन्सिल के प्रवक्ता ने भी ओ’ लियरी पर इस्लामोफ़ोबिक होने का आरोप लगाया।


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान में भगवा ध्वज फाड़ने वाले कॉन्ग्रेस MLA को लोगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा: वायरल वीडियो का FactChek

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दिख रहा है कि लाठी-डंडा लिए भीड़ एक शख्स को दौड़ा-दौड़ाकर पीट रही है।

दैनिक भास्कर के ₹2,200 करोड़ के फर्जी लेनदेन की जाँच कर रहा है IT विभाग: 700 करोड़ की आय पर टैक्स चोरी का खुलासा

मीडिया समूह की तलाशी में छह वर्षों में ₹700 करोड़ की आय पर अवैतनिक कर, शेयर बाजार के नियमों का उल्लंघन और लिस्टेड कंपनियों से लाभ की हेराफेरी के आयकर विभाग को सबूत मिले हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,066FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe