Saturday, June 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'मुझ पर पेशाब फेंका, रात में बाहर रखा... बहन के लिए डरता था': पादरी...

‘मुझ पर पेशाब फेंका, रात में बाहर रखा… बहन के लिए डरता था’: पादरी के कैंप में प्रताड़ना झेल चुके युवक की आपबीती

पादरी रैफेल वार्नोक के कैंप में प्रताड़ना झेल चुके वॉशिंगटन ने बताया कि काउंसलर बच्चों को भी पकड़ता था। बताते-बताते वो बिलकुल चुप हो गए। फिर इतना ही बोल पाए कि उन्हें अपने व अपनी बहन के लिए डर लगता था।

अमेरिकन पादरी व जॉर्जिया डेमोक्रेटिक सीनेट के राजनेता रेव रैफेल वार्नोक (Rev. Raphael Warnock) द्वारा संचालित चर्च कैंप में 18 साल पहले (साल 2002) 12 साल के एक बच्चे के साथ दुर्व्यव्हार करने का मामला प्रकाश में आया है। एंथनी वॉशिंगटन नाम का वह लड़का आज 30 साल का हो चुका है। उसने वॉशिंगटन फ्री बिकॉन (Washington Free Beacon) को दिए इंटरव्यू में अमेरिकन नेता व चर्च पादरी रेव रैफल वार्नोक के कैंप को लेकर कई खुलासे किए।

एंथनी ने रेव रैफेल की देखरेख में चलाए जा रहे कैंप के बारे में बताया कि वहाँ साल 2002 में उसके ऊपर कैंप काउंसलर ने पेशाब कर दिया था और बाद में उसे कैबिन में बंद करके रात भर रखा गया था। वॉशिंगटन आपबीती सुनाते हुए कहते हैं कि एक शाम अपना बिस्तर गीला करने के कारण वार्नोक के कैंप में उन्हें पूरी रात बाहर सोने को मजबूर किया गया। वो भी बिना तकिया, कंबल या किसी अन्य चीज के, जिससे उसे गर्माहट मिले।

पीड़ित लड़के के मुताबिक चर्च के कैंप में हुई गलती के कारण उसे टेंट में घुसने नहीं दिया जा रहा था, जबकि बाहर एकदम रात हो गई थी। भयावह रात के बारे में बात करते हुए वॉशिंगटन कहते हैं कि उनके सामने एक बास्केट बॉल के अलावा कुछ भी नहीं था। काउंसलर ने उसे अंदर घुसने से साफ मना कर दिया था।

लड़के के मुताबिक काउंसलर ने उस समय उनके ऊपर बाल्टी में बचा हुआ पेशाब भी फेंका, जो आमतौर पर बाथरूम न जा पाने के कारण लड़के इस्तेमाल करते थे। वॉशिंगटन ने अपनी बात को जारी रखते हुए बताया कि उसने काउंसलर को बच्चे पकड़ते भी देखा, लेकिन आगे बताते-बताते वह बिलकुल चुप हो गए और बस यही बता पाए कि उन्हें अपने व अपनी बहन के लिए डर लगता था।

सबसे हैरानी की बात पीड़ित ने यह बताई कि रैफेल द्वारा मैरीलैंड में चलाए जा रहे इस कैंप में बच्चों के अभिभावकों को जाने की अनुमति नहीं थी। लेकिन, लगातार प्रताड़ना झेलने के बाद वह किसी तरह अपनी माँ को कहीं से फोन कर पाए और उनकी माँ ने पुलिस को संपर्क किया। इसके बाद पीड़िता के अनुसार, जब पुलिस आकर काउंसलर से पूछताछ करने लगी तो रैफेल ने उसमें हस्तक्षेप करने का प्रयास किया, जिसके कारण पुलिस ने उन्हें अरेस्ट भी किया। मगर बाद में इस मिसकम्युनिकेशन कह दिया गया।

बता दें कि साल 2005 के बाद से अटलांटा के एबेनेज़र बैपटिस्ट चर्च के पादरी वार्नोक, पहले बाल्टीमोर चर्च के पादरी के रूप में 5 साल तक काम कर चुके थे। उसी चर्च के शिविर पर अब दुर्व्यव्हार के आरोप लगे हैं। इसके अलावा इस चर्च द्वारा करवाए जा रहे कैंप के बंद होने का कारण भी वहाँ बरती जा रही स्वास्थ्य संबंधी असावधानियाँ थीं, जिसे देखते हुए साल 2003 में मैरीलैंड के स्वास्थ्य विभाग ने कैंप को आयोजित करने से मना किया था। उन्होंने इस फैसले के पीछे एक कारण बाल शोषण भी बताया था।

विदेशी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इन इल्जामों पर अभी वार्नोक के प्रवक्ता की ओर से स्पष्ट टिप्पणी नहीं आई है। हालाँकि, पहले कि बात करें तो इस घटना पर उनकी ओर से कहा गया था, “यह बहुत दुर्भाग्य की बात है कि हमारे बच्चों को अपने पादरी को गिरफ्तार होते देखना पड़ा। मेरी चिंता का विषय सिर्फ काउंसलर की उपस्थिति से था। हमने पड़ताल में पूरा सहयोग किया था। हमारे पास छिपाने के लिए कुछ नहीं था।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -