हनुमान चालीसा पाठ में शामिल हुईं इशरत जहां: घर खाली करने और जान से मारने की मिली धमकी

"तुम्हें हनुमान चालीसा के पाठ में शामिल होने की क्या ज़रूरत थी? इससे हमारे मुस्लिम समाज की बदनामी हो रही है।"

सामूहिक हनुमान चालीसा में शामिल होने पर ट्रिपल तलाक़ की याचिकाकर्ता इशरत जहां को कई मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। एक तरफ़ उन्हें जान से मारने की धमकी मिल रही है तो दूसरी तरफ उनके मकान मालिक मनाजीर हुसैन ने उन्हें घर खाली करने का फ़रमान सुना दिया है। पश्चिम बंगाल के हावड़ा में इशरत जहां किराए के घर में रहती हैं।

दरअसल, इशरत जहां मंगलवार (16 जुलाई 2019) को डबसन रोड स्थित संकटमोचन हनुमान मंदिर में पाठ में शामिल हुईं थी। इसके अगले ही दिन यानी बुधवार (17 जुलाई 2019) को दोपहर के समय उनके घर के बाहर भीड़ जमा हो गई। उनके ख़िलाफ़ जमकर नारेबाजी की और घर छोड़ने को कहा। उनके मुस्लिम पड़ोसियों ने इशरत के बुरखा (हिजाब) पहनकर हनुमान चालीसा के पाठ में शामिल होने पर कड़ी आपत्ति जताई। उनका कहना है कि तुम्हें हनुमान चालीसा के पाठ में शामिल होने की क्या ज़रूरत थी? इससे हमारे मुस्लिम समाज की बदनामी हो रही है। इस घटना से इशरत काफ़ी डरी हुई हैं और अपनी सुरक्षा को लेकर काफ़ी चिंतित हैं।

जब भीड़ इशरत के घर पर हंगामा कर रही थी तो हालात इतने गंभीर हो गए थे कि उन्हें पुलिस-प्रशासन की मदद माँगनी पड़ गई थी। उनकी शिक़ायत के आधार पर FIR दर्ज हो गई है। गोलाबाड़ी पुलिस स्टेशन में दायर इशरत की शिक़ायत के अनुसार, बुधवार को जब वह अपने बच्चे के स्कूल से घर लौट रही थीं, तो नंद घोष रोड पर मुस्तफा अंसारी और उनके मकान मालिक मनजिर हुसैन के साथ सौ से अधिक लोगों ने उन्हें बीच रास्ते में रोका। इशरत ने आरोप लगाया कि अंसारी और उनके मकान मालिक हुसैन के नेतृत्व में भीड़ ने उन पर उंगली उठाई और उन्हें हनुमान चालीसा कार्यक्रम में भाग लेने पर धमकी दी। उन्होंने घर खाली करने और इलाक़े को छोड़ने के लिए भी कहा।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इशरत ने अपनी शिकायत में कहा है कि वह एक धर्मनिरपेक्ष देश की नागरिक हैं और उन्हें किसी भी धर्म को निभाने और कहीं भी जाने की पूरी आज़ादी है। उन्होंने बताया कि उन्हें ट्रिपल तलाक़ मामले में याचिकाकर्ता बनने के बाद से ही जान से मारने की धमकी मिल रही है।

इशरत के अनुसार, “हर कोई कह रहा था कि मुझे खुद घर छोड़ देना चाहिए वर्ना वे मुझे घर से ज़बर्दस्ती बेदखल कर देंगे। मुझे जान से मारने की धमकियाँ भी मिल रही हैं। मैं सुरक्षा की माँग करती हूँ। मैं अपने बेटे के साथ अकेले रहती हूँ ऐसे में मेरे साथ कभी भी कुछ भी हो सकता है।”

ग़ौरतलब है कि पश्चिम बंगाल हावड़ा की रहने वाली इशरत जहां को उनके शौहर ने तीन तलाक़ दे दिया था। इसके बाद से ही उन्होंने तीन तलाक़ के ख़िलाफ़ लड़ाई शुरू कर दी थी। इससे नाराज़ ससुरालियों और कट्टरपंथियों ने उन्हें सरेआम बहुत अपमानित किया। इस वजह से कट्टरपंथी तबका उन्हें उस इलाक़े से बाहर करने में लगा हुआ है।

इशरत जहां ने प्रशासन से सुरक्षा के साथ-साथ अपने रहने के लिए उचित व्यवस्था की माँग की है। बता दें कि इशरत जहां सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने वाली उन पाँच याचिकाकर्ताओं में से एक हैं, जिनकी वजह से सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक़ को असंवैधानिक करार दिया था।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

यू-ट्यूब से

बड़ी ख़बर

सुरभि ने ट्विटर पर लिखा कि सावरकर की प्रतिमा उन स्वतंत्रता सेनानियों की प्रतिमा के साथ नहीं लगाई जानी चाहिए, जिन्होंने देश के लिए अपनी जान दे दी। सुरभि ने लिखा कि सावरकर अंग्रेजों को क्षमा याचिकाएँ लिखा करते थे।

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

बिहार, DM को चिट्ठी

‘एक रात साथ में सोओ तभी बिल पास करूँगा’ – डॉ. जावेद आलम पर ममताकर्मियों ने लगाया गंभीर आरोप

"अस्पताल प्रभारी मोहम्मद जावेद आलम बिल पास करवाने के बदले में एक रात साथ में सोने के लिए कहता है। गाली-गलौच के साथ बात करता है। वो बोलता है कि तुम बहुत बोलती हो, मारेंगे लात तो बाहर छिटका देंगे, निकाल देंगे।"
यासीन मलिक,टाडा कोर्ट

पूर्व गृहमंत्री के बेटी का अपहरण व 5 सैनिकों की हत्या के मामले में टाडा कोर्ट में पेश होंगे यासीन मलिक

यासीन मलिक के ख़िलाफ़ इस समय जिन दो मामलों में केस चल रहा है, वह काफ़ी पुराने हैं। रुबिया सईद के अपहरण के दौरान सीबीआई द्वारा दाखिल चालान के मुताबिक श्रीनगर के सदर पुलिस स्टेशन में आठ दिसंबर 1989 को रिपोर्ट दर्ज हुई थी। जबकि सैनिको की हत्या वाला मामला 25 जनवरी 1990 का है।
1984 सिख विरोधी दंगा जाँच

फिर से खुलेंगी 1984 सिख नरसंहार से जुड़ी फाइल्स, कई नेताओं की परेशानी बढ़ी: गृह मंत्रालय का अहम फैसला

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमिटी के प्रतिनिधियों की बातें सुनने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जाँच का दायरा बढ़ा दिया। गृह मंत्रालय ने कहा कि 1984 सिख विरोधी दंगे के वीभत्स रूप को देखते हुए इससे जुड़े सभी ऐसे गंभीर मामलों में जाँच फिर से शुरू की जाएगी, जिसे बंद कर दिया गया था या फिर जाँच पूरी कर ली गई थी।
हाजी सईद

YAK की सवारी पड़ी भारी: मेरठ बवाल में वॉन्टेड हाजी सईद को UP पुलिस ने फेसबुक देख किया गिरफ्तार

मेरठ में शांति मार्च की आड़ में जो बवाल हुआ था, हाजी सईद उसका भी सह-अभियुक्त है। हाजी सईद और बदर अली ने मिलकर शांति मार्च के बहाने बवाल कराया था। कुल मिलाकर हाजी सईद पर सदर बाजार थाने में 5, कोतवाली में 1, रेलवे रोड में 2 और देहली गेट थाने में 1 मुकदमा दर्ज।
कश्मीर

जुमे की नमाज़ के बाद कश्मीर में कई जगह प्रदर्शन, फिर से लगीं पाबंदियाँ

लोगों को लाल चौक और सोनावर जाने से रोकने के लिए शहर में कई जगह अवरोधक और कंटीले तार लगाए गए हैं। संयुक्त राष्ट्र का कार्यालय इसी इलाके में है। कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए जगह-जगह सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं।
सरदार सागीर

कश्‍मीर में जो हालात बिगड़े हैं, उसमें मेरे खुद के देश पाकिस्‍तान का हाथ, भेजेगा और आतंकी: Pak नेता

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) में जम्मू कश्मीर लिब्रेशन फ्रंट के नेता सरदार सागीर ने घाटी में बिगड़े हालात के लिए सीधे तौर पर पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया है। उनका कहना है कि कश्मीर में अशांति फैलाने के लिए उनका खुद का देश पाकिस्तान ही आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है।
पाकिस्तान

‘CBI ऑफिस में झुका कर चिदंबरम को पीटा जा रहा है’ – पाकिस्तानी सांसद ने बोला, भेज रहा हूँ UN को फोटो लेकिन…

"सर आप इस इमेज को ट्वीट करके चिदंबरम के ख़िलाफ़ पुलिस द्वारा किए जा रहे 'अत्याचार' को बंद करवा सकते हैं।" इस पर पाकिस्तानी सांसद ने तीव्र उत्सुकता में आकर लिख डाला - संयुक्त राष्ट्र के साथ इस इमेज को शेयर कर रहा हूँ।
सेक्स रैकेट

दिल्ली में 10 PM-6 AM तक न्यूड वीडियो कॉल: नजमा, असगर, राजा गिरफ्तार; 20 साल की लड़की सहित कई गायब

"ये लोग रोजाना एक ऐप के जरिए रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक युवतियों से न्यूड विडियो कॉल करवाते थे। 15-20 लड़कियों से न्यूड वीडियो कॉल करवाई जाती है। मैं खुद वहाँ 15-20 दिन थी।"
पाकिस्तान, ज़ायेद मैडल

जायद मेडल तो बहानेबाजी है, फ्यूल ख़त्म होने वाली ख़बर जो छिपानी है: पाक सांसदों ने रद्द किया UAE दौरा

पाकिस्तान के संसदीय दल ने अपना यूएई दौरा रद्द कर दिया। पीएम मोदी को यूएई द्वारा जायद मेडल से सम्मानित किए जाने को इसकी वजह बताई गई है। लेकिन, असली वजह कुछ और ही है। पाकिस्तान के आंतरिक सूत्रों से हम निकाल कर लाए हैं दिलचस्प ख़बर।
अरुण जेटली

पाकिस्तानियों ने सोशल मीडिया में फिर दिखाई नीचता, अरुण जेटली के निधन पर खुशी से बावले हुए

एक पाकिस्तानी ने ट्वीट किया, "पहले सुषमा स्वराज और अब अरुण जेटली। इंशाअल्लाह अगले नरेंद्र मोदी और अमित शाह होंगे, क्योंकि इनकी मौत के लिए कश्मीरी दुआ कर रहे हैं। कश्मीर में अत्याचार के लिए ये लोग गुनहगार हैं। ये सब नरक में सड़ेंगे।"

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

84,925फैंसलाइक करें
12,016फॉलोवर्सफॉलो करें
91,557सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

शेयर करें, मदद करें: