Wednesday, August 4, 2021
Homeराजनीतिलेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा ने कॉन्ग्रेस में शामिल होने की ख़बरों का किया खंडन

लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा ने कॉन्ग्रेस में शामिल होने की ख़बरों का किया खंडन

कॉन्ग्रेस के सभी दावों को ख़ारिज करते हुए लेफ्टिनेंट हुड्डा ने कहा कि कॉन्ग्रेस में शामिल होने की सभी ख़बरे बेबुनियादी हैं और वो पार्टी ज्वॉइन नहीं की है।

सितंबर 2016 में LoC पार की गई सर्जिकल स्ट्राइक में महत्वपूर्ण रोल निभाने वाले लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा (सेवानिवृत्त) ने कॉन्ग्रेस में शामिल होने ख़बरों का खंडन किया है। बता दें कि गुरुवार (21 फ़रवरी 2018) को ऐसी ख़बरें सामने आईं थीं जिनके मुताबिक कॉन्ग्रेस ने रिटायर्ड जनरल हुड्डा को पार्टी में शामिल करते हुए उन्हें बड़ी ज़िम्मेदारियाँ सौंपी गई।

इसके अलावा यह बात भी प्रचारित और प्रसारित हो रही थी कि जनरल डीएस हुड्डा ने अपनी ज़िम्मेदारी स्वीकार कर ली है और कॉन्ग्रेस ने इसके लिए टास्क फोर्स का भी गठन कर लिया है। कॉन्ग्रेस के सभी दावों को ख़ारिज करते हुए जनरल हुड्डा ने कहा कि कॉन्ग्रेस में शामिल होने की सभी ख़बरे बेबुनियादी हैं और उन्होंने पार्टी ज्वॉइन नहीं की है।

उरी हमले का बदला लेने के लिए भारत ने LoC पार जाकर पाकिस्तानी आतंकियों पर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था और अपने इस ऑपरेशन में कई आतंकवादियों को मार गिराया गया था। भारत की ओर से किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा की अहम भूमिका थी।

आपको बता दें कि उरी हमले में 19 सैनिक वीरगति को प्राप्त हुए थे। हमला करने वाले तीन आतंकवादियों को भारत ने तत्काल ही मार गिराया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe