Saturday, June 25, 2022
Homeरिपोर्टपाकिस्तान की तारीफ़ करने वाले दामाद की ससुराल वालों ने की जमकर धुनाई, पुलिस...

पाकिस्तान की तारीफ़ करने वाले दामाद की ससुराल वालों ने की जमकर धुनाई, पुलिस के हवाले किया

तारीफ़ करने वाला ये शख़्स अपने ससुराल में ही रहता है। ससुराल वालों ने उसे समझाने-बुझाने की कोशिश की। लेकिन वो शख़्स किसी भी तरह कुछ मानने को तैयार ही नहीं था, बस पाकिस्तान की तारीफ़ों के पुल बाँधता रहा।

इन दिनों भारत-पाकिस्तान के बीच का रिश्ता चर्चा का गंभीर विषय बना हुआ है। आमतौर पर होता यह है कि जब किसी विषय पर चर्चा होती है तो उसके दो पहलू भी होते हैं, एक होता पक्ष और दूसरा विपक्ष। पक्ष और विपक्ष की इसी बहस में हालात कभी-कभी इतने बिगड़ जाते हैं कि स्थिति पर क़ाबू पाना काफ़ी मुश्किल हो जाता है। ऐसा ही एक मामला मिर्ज़ापुर का है जहाँ हथियाबांध गाँव में गुरुवार (मार्च 1, 2019) को सुबह चाय की दुकान पर एक युवक ने पाकिस्तान की तारीफ़ कर दी।

बता दें कि तारीफ़ करने वाला ये शख़्स अपने ससुराल में ही रहता है। भारत-पाकिस्तान की बहस पर पहले तो ससुसरालियों ने उसको भारत के पक्ष में काफ़ी समझाने-बुझाने की कोशिश की। लेकिन वो शख़्स किसी भी तरह कुछ मानने को तैयार ही नहीं था, बस पाक सेना की तारीफ़ों के पुल बाँधता रहा। इस पर खीझे ससुराल वालों ने अपने ही दामाद को न सिर्फ़ जमकर पीटा बल्कि उसे पुलिस के हवाले भी कर दिया।

मामला जब पुलिस तक पहुँचा तो दामाद ने अपने किए की माफ़ी माँगी जिसके बाद उसे छोड़ दिया गया। जानकारी के अनुसार, युवक ने पाक सेना की तारीफ़ करते हुए कहा था कि पाकिस्तानी फ़ौज ने भारत की सीमा में दिन-दहाड़े घुस गई। पाक सेना की तारीफ़ करने का मक़सद यह हो सकता है कि शायद वो युवक यह कहना चाह रहा हो कि भारत की ओर से पाकिस्तान पर जो एयरस्ट्राइक की गई थी वो रात के अँधियारे में की जबकि पाक सेना ने भारत की सीमा में दिन के समय हमला किया। इसी आपसी विवाद ने गंभीर रूप ले लिया जिसके बाद मामला पुलिस की चौखट तक पहुँच गया।

हमारे देश की सीमा के भीतर ऐसे असामाजिक तत्वों का अस्तित्व होना देश के लिए हितकारी तो हो ही नही सकता बल्कि इनके निपटारे के लिए सरकार द्वारा इस पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई कर इन्हें सही दिशा दिखाना बेहद ज़रूरी है अन्यथा ये देश की विकास यात्रा में बाधा उत्पन्न करेंगे जो हमारे देश के लिए किसी भी तरह से सही नहीं होगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गर्भवती का भ्रूण आग में फेंकने से लेकर चूल्हे से गोधरा ट्रेन में आग तक: गुजरात दंगों पर वो 5 झूठ, जो नरेंद्र मोदी...

गुजरात दंगों के बाद नरेंद्र मोदी को बदनाम करने के लिए कई हथकंडे आजमाए गए। यहाँ जानें ऐसे 5 झूठ जो फैलाए गए। साथ ही क्या है उनकी सच्चाई।

झूठे साक्ष्य गढ़े, निर्दोष को फँसाने की कोशिश: तीस्ता सीतलवाड़ के साथ-साथ RB श्रीकुमार और संजीव भट्ट पर भी FIR, गुजरात दंगा मामला

संजीव भट्ट फ़िलहाल पालनपुर जेल में कैद। राज्य सरकार का पक्ष रखते हुए दर्ज FIR में शुक्रवार (24 जून, 2022) को आए सुप्रीम कोर्ट का हवाला दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,266FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe