Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टमीडिया'प्रणय और राधिका रॉय को अडानी डील की जानकारी नहीं, उनसे पूछा तक नहीं...

‘प्रणय और राधिका रॉय को अडानी डील की जानकारी नहीं, उनसे पूछा तक नहीं गया’: बोलीं NDTV की CEO – हम कानूनी कदम उठाएँगे

"ये घटनाक्रम प्रणय रॉय और राधिका रॉय के लिए पूरी तरह अप्रत्याशित है। NDTV ने हाल ही में स्टॉक एक्सचेंज को जानकारी दी है कि हमने अपने फाउंडर्स ग्रुप में कुछ बदलाव किया है।"

NDTV में 29.18% स्टेक्स खरीदने के अडानी समूह के फैसले पर चैनल की CEO सुपर्णा सिंह ने कहा कि प्रणय और राधिका रॉय की सहमति के बिना ये डील हुई। उन्होंने दावा किया कि 32% हिस्सेदारी के साथ पति-पत्नी NDTV में सबसे बड़े शेयरधारक बने रहेंगे। उन्होंने यहाँ तक कहा कि प्रणय रॉय और राधिका रॉय को इस डील की जानकारी ही नहीं थी। कर्मचारियों को भेजे गए इंटरनल सन्देश में CEO ने आगे रेगुलेटरी और कानूनी कदम उठाने की बात भी कही है।

CEO ने अपने सन्देश में कहा, “ये घटनाक्रम प्रणय रॉय और राधिका रॉय के लिए पूरी तरह अप्रत्याशित है। NDTV ने हाल ही में स्टॉक एक्सचेंज को जानकारी दी है कि हमने अपने फाउंडर्स ग्रुप में कुछ बदलाव किया है। एक लेनदेन को छोड़ कर कहीं कोई ऐसी चर्चा नहीं हुई, जिससे NDTV की हिस्सेदारी पर असर पड़े। VCPL ने RRPRH का अधिग्रहण किया है, जो प्रणय रॉय और राधिका रॉय के मालिकाना हक़ वाली कंपनी है।”

CEO ने अपने सन्देश में ये भी कहा कि अडानी की ताज़ा डील का आधार 2009 का एक लोन है। उन्होंने बताया कि इस मामले में आगे की प्रक्रिया की जानकारी ली जा रही है। साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि इसमें कानूनी और रेगुलेटरी कदम भी उठाए जा सकते हैं। उन्होंने कर्मचारियों से ये भी कहा कि कर्मचारियों के सवालों का जवाब देने के लिए वो दफ्तर में मौजूद रहेंगी। उन्होंने दावा किया कि मूल पत्रकारिता के साथ NDTV ने कभी समझौता नहीं किया है और इसके साथ खड़े रहेंगे।

अडानी समूह ने NDTV में 29.18% की हिस्सेदारी खरीदी, जानिए क्या है मामला

एएमजी मीडिया नेटवर्क लिमिटेड (AMNL) ने NDTV में अप्रत्यक्ष रूप से 29.18% शेयर्स खरीदे हैं। ये सौदा ‘विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड (VCPL)’ और ‘RRPR होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड’ के जरिए हुआ है। जहाँ VCPL पूरी तरह से AMNL की 100% सब्सिडियरी कंपनी है, वहीं RRPR एनडीटीवी की प्रमोटर कंपनी में। इस कंपनी में AMGNL ने 99.5% इक्विटी ख़रीदने का निर्णय लिया है। NDTV के पास 3 राष्ट्रीय चैनल हैं।

अडानी समूह ने एक प्रेस रिलीज के जरिए इसकी जानकारी दी है। इस अधिग्रहण के बाद RRPR का नियंत्रण पूरी तरह VCPL के पास आ जाएगा। इस कंपनी के पास NDTV में 29.18% शेयर्स हैं। इसके अलावा AMNL और AEL एक ओपन ऑफर भी लॉन्च करेंगे, जिसके तहत NDTV में 26% स्टेक्स उनके पास होंगे। कंपनी ने बताया है कि अधिग्रहण को लेकर नियामक संस्था SEBI द्वारा बनाए गए कानून के तहत ऐसा हो रहा है।

अडानी समूह ने अपनी प्रेस रिलीज में NDTV को एक प्रमुख मीडिया हाउस बताते हुए कहा है कि इसके पास 3 दशकों से विश्वसनीय ख़बरें देने का अनुभव है। इसके पास NDTV 24×7, NDTV India और NDTV प्रॉफिट नाम के 3 न्यूज़ चैनल हैं। अडानी समूह ने कहा कि NDTV की ऑनलाइन उपस्थिति भी दमदार है, जहाँ वो विभिन्न प्लेटफॉर्म्स पर 3.5 करोड़ फॉलोवर्स के साथ सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले चैनलों में से एक है।

AMNL सभी प्लेटफॉर्म्स ‘न्यू एज मीडिया’ की स्थापना का लक्ष्य लेकर चल रहा है और इसके CEO संजय पुगलिया का कहना है कि इस दिशा में ये एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने कहा कि कंपनी भारतीय नागरिकों को और जो भारत में रुचि रखते हैं उन्हें सशक्त करना चाहती है। उन्होंने कहा कि हमारे विजन को लोगों तक पहुँचाने के लिए NDTV एक अच्छा माध्यम है। कंपनी ने NDTV की न्यूज़ डिलीवरी और लीडरशिप को मजबूत करने की बात भी कही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -