Thursday, January 20, 2022
Homeरिपोर्टमीडिया'हिम्मत कैसे हुई तवायफ के बच्चे की' - शोएब ने पैनेलिस्ट को कहा, गोस्वामी...

‘हिम्मत कैसे हुई तवायफ के बच्चे की’ – शोएब ने पैनेलिस्ट को कहा, गोस्वामी ने दिखाया बाहर का रास्ता

रिपब्लिक टीवी पर अर्नब गोस्वामी के साथ डिबेट के दौरान इंडिया मुस्लिम फाउंडेशन के अध्यक्ष एवं शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन के मीडिया कॉर्डिनेटर शोएब जमई ने एक पैनेलिस्ट को 'तवायफ का बच्चा' कह डाला।

रिपब्लिक टीवी पर अर्नब गोस्वामी के साथ डिबेट के दौरान इंडिया मुस्लिम फाउंडेशन के अध्यक्ष एवं शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन के मीडिया कॉर्डिनेटर शोएब जमई ने एक पैनेलिस्ट को ‘तवायफ का बच्चा’ कह डाला। हालाँकि, शोएब जमई ने ये किस पैनेलिस्ट को कहा, ये मालूम नहीं चल पाया। क्योंकि जिस समय जमई ने डिबेट में आपत्तिजनक टिप्पणी की, उस वक्त 6 अन्य पैनेलिस्ट भी वहाँ मौजूद थे।

अर्नब के शो में सोमवार (जनवरी 27, 2020) को PFI द्वारा सीएए के ख़िलाफ़ हुए दंगों को फंड दिए जाने के खुलासे पर डिबेट चल रहा था। इसी डिबेट के वीडियो में करीब 33 मिनट 50 सेकेंड के स्लॉट में शोएब को नेशनल टेलीवीजन पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते सुना जा सकता है। गौर करने वाली बात है कि शोएब ने डिबेट से जुड़ने के बाद ही इधर-उधर की बातें करनी शुरू कर दी थी। जिसके कारण अर्नब ने कई बार उन्हें डिबेट से हटाने की बात की। लेकिन लगातार हस्तक्षेप के कारण जब उन्हें बोलने दिया गया तो वह किसी पैनेलिस्ट की बात पर नाराज हो गए। शोएब को डिबेट में कहते सुना जा सकता है, “तवायफ के बच्चे की हिम्मत कैसे हुई औरतों और बच्चों के बारे में बोलने की।”

डिबेट से लिया गया स्क्रीनशॉट

वीडियो में देखा जा सकता है कि इन शब्दों को सुनने के बाद अर्नब गोस्वामी काफी नाराज हो गए। उन्होंने तुरंत जमई को डिबेट से हटाने की माँग की और फिर जमई के जाने के बाद गोस्वामी ने तीन बार इसके लिए सबको शुक्रिया कहा।

शोएब जमई का ट्विटर अकॉउंट

उल्लेखनीय है कि शोएब जमई के ट्विटर अकॉउंट के मुताबिक वो खुद को शाहीन बाग में हो रहे प्रदर्शन का मीडिया कॉर्डिनेटर बताते हैं और चूँकि कई चैनल के प्राइम टाइम में वो अपनी राय रखने जाते हैं, तो वो खुद को प्राइम टाइम पेनालिस्ट और साइंटिस्ट भी बताते हैं।

जमई के ट्विटर वॉल पर शाहीन बाद प्रदर्शन से जुड़े कई वीडियो डले हुए हैं। अभी हाल ही में उन्होंने एक वीडियो डाली है, जिसमें वे योगेंद्र यादव के कानों में कुछ फुसफुसा रहे हैं। और ट्वीट में दावा कर रह हें योगेंद्र यादव के प्रदर्शन में पहुँचने से उनके आंदोलन को ताकत मिली है।

अभी हाल ही में रिपब्लिक टीवी के एक डिबेट में उन्होंने खुद को शाहीन बाग के प्रदर्शन का आधिकारिक मीडिया कॉर्डिनेटर कहा था। जिसके बाद अशोक पंडित ने उनके पूछा था कि क्या वो कोई जनसंपर्क एजेंसी भी चलाते हैं।

गाय काटना हमारा फर्ज; हम जहाँ खड़े वही मस्जिद, वहीं पढ़ेंगे नमाज: शाहीन बाग का मास्टरमाइंड शरजील

शरजील इमाम को ‘देशद्रोही’ कहने पर चुनाव विश्लेषक के साथ शाहीन बाग़ मीडिया संयोजक ने की बदसलूकी

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र के नगर पंचायतों में BJP सबसे आगे, शिवसेना चौथे नंबर की पार्टी बनी: जानिए कैसा रहा OBC रिजर्वेशन रद्द होने का असर

नगर पंचायत की 1649 सीटों के लिए मंगलवार को मतदान हुआ था। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद यह चुनाव ओबीसी आरक्षण के बगैर हुआ था।

भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म, रिलीज को तैयार ‘Ala Vaikunthapurramuloo’

मेकर्स ने अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म के टाइटल का मतलब बताया है, ताकि 'अला वैकुंठपुरमुलु' से अधिक से अधिक दर्शकों का जुड़ाव हो सके।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,319FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe