Sunday, June 16, 2024
Homeरिपोर्टमीडिया'कोरोना+ होने के बाद भी BJP नेता हुए कुंभ में शामिल': TLI ने पहले...

‘कोरोना+ होने के बाद भी BJP नेता हुए कुंभ में शामिल’: TLI ने पहले फैलाया झूठ, पकड़े जाने पर माँगी माफी

“हम स्वीकार करना चाहते हैं कि हमने अनजाने में तथ्यों को गलत तरीके से प्रस्तुत किया। लॉजिकल इंडियन अपने गलत बयान के लिए माफी माँगता है जिसने दावा किया कि सुनील भराला कोरोना पॉजिटिव होने के बाद भी कुंभ में गए।"

उत्तर प्रदेश मंत्री सुनील भराला को लेकर झूठी खबर चलाने के कारण द लॉजिकल इंडियन को आज (अप्रैल 16, 2021) माफी माँगनी पड़ी। अपनी रिपोर्ट में द लॉजिकल इंडियन ने दावा किया था कि कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद सुनील भराला उत्तराखंड के कुंभ मेले में शामिल हुए। हालाँकि, अब अपने बयान में TLI ने स्वीकार किया कि उन्होंने तथ्यों को गलत प्रकाशित किया था।

अपने बयान में TLI ने कहा, “लॉजिकल इंडियन ने पहले बताया था कि उत्तर प्रदेश के भाजपा नेता सुनील भराला COVID-19 पॉजिटिव हैं और फिर भी अभी उन्होंने हरिद्वार के कुंभ मेले में भाग लिया। हालाँकि, NDTV के साथ इंटरव्यू में नेता ने बताया है कि उन्होंने इस कार्यक्रम में भाग लिया और बाद में वह कोरोना पॉजिटिव हुए।”

The Logical Indian apologises
द लॉजिकल इंडियन ने माँगी माफी

आगे TLI ने लिखा, “हम स्वीकार करना चाहते हैं कि हमने अनजाने में तथ्यों को गलत तरीके से प्रस्तुत किया। लॉजिकल इंडियन अपने गलत बयान के लिए माफी माँगता है जिसने दावा किया कि सुनील भराला कोरोना पॉजिटिव होने के बाद भी कुंभ में गए।”

बता दें कि अपने फर्जी पोस्ट में TLI ने सुनील भराला को कोट करते हुए कहा था, “मैं कोविड पॉजिटिव हूँ। मैं फिर भी कुंभ में गया। धर्म कोरोना दिशानिर्देशों से ऊपर है।” अपनी रिपोर्ट में टीएलआई ने यह भी बताया कि कुंभ मेला कोविड हॉट्सपॉट बन चुका है।

इसके बाद यह पोस्ट सोशल मीडिया पर हर जगह वायरल होने लगा। लेकिन तभी कुछ सक्रिय यूजर्स ने TLI के झूठ को पकड़ा और आखिरकार इस केस में द लॉजिकल इंडियन को माफी माँगनी पड़ी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -