Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजJ&K और लद्दाख के सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा सातवें वेतन आयोग का लाभ

J&K और लद्दाख के सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा सातवें वेतन आयोग का लाभ

केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा इस संबंध में मंगलवार (अक्टूबर 22, 2019) को निर्देश जारी हुआ है। गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में संबधित सिफारिश को मंजूरी दी। जिसके बाद कर्मचारियों को यह भुगतान 31 अक्टूबर 2019 से मिलेगा।

केंद्र सरकार ने केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के सरकारी कर्मचारियों के लिए सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार मिलने वाले सभी भत्ते भुगतान के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। जिसका लाभ कर्मचारियों को 31 अक्टूबर से मिलेगा।

केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा इस संबंध में मंगलवार (अक्टूबर 22, 2019) को निर्देश जारी हुआ है। गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में संबधित सिफारिश को मंजूरी दी। जिसके बाद कर्मचारियों को यह भुगतान 31 अक्टूबर 2019 से मिलेगा। इस फैसले से 4 लाख 50 हजार कर्मचारियों को फायदा होगा और सरकार पर इसका 4800 करोड़ रुपए का खर्च आएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस फैसले के साथ ही महंगाई भत्ते में 5 फीसद की बढ़ौतरी के बाद कर्मचारियों को मिलने वाला ट्रांसपोर्ट एलॉउंस बढ़ा दिया गया है। इसके अलावा इस फैसले से सरकारी कर्मचारियों की सैलरी में 810 रुपए से लेकर 4,320 रुपए तक की बढ़ौतरी होगी।

गौरतलब है केंद्र सरकार द्वारा 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 निष्प्रभावी किए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर से लद्दाख को अलग कर दिया गया था और जम्मू-कश्मीर को राज्य की जगह केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया था। हालाँकि इस ऐतिहासिक फैसले के बाद विपक्षों ने उच्च सदन में बड़े पैमाने पर हंगामा किया गया था। लेकिन मोदी सरकार ने जनता को आश्वासन दिया था कि ये फैसला उनके हित में है। इसके कारण अब जो सुविधाएँ देश के अन्य राज्यों के नागरिकों को मिलेंगी वो जम्मू-कश्मीर के नागरिकों को भी मिलेंगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsvetan ayog, kashmir
ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -