Sunday, May 29, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाअरब सागर में गुजरात ATS ने पकड़ी पाकिस्तानी बोट, ₹280 करोड़ की हेरोइन लदी...

अरब सागर में गुजरात ATS ने पकड़ी पाकिस्तानी बोट, ₹280 करोड़ की हेरोइन लदी थी: पंजाब में अफगानिस्तान से आई ₹700 करोड़ की ड्रग्स पकड़ी गई

अटारी में 700 करोड़ रुपये की 102 किलोग्राम हेरोइन की खेप जब्त की गई। अफगानिस्तान से यह मुलेठी की खेप में छिपाकर लाई गई थी।

अरब सागर में गुजरात एटीएस (Gujarat ATS) और इंडियन कोस्ट गार्ड (ICG) ने एक पाकिस्तानी बोट पकड़ी है। ‘अल हज’ नामक इस बोट पर 280 करोड़ रुपए की हेरोइन लदी थी। ड्रग्स के साथ नौ लोगों को भी पकड़ा गया है। वहीं पंजाब के अमृतसर में भी अफगानिस्तान से मुलेठी की खेप में छिपाकर लाई गई हेरोइन जब्त की गई है।

पाकिस्तानी बोट अरब सागर की भारतीय सीमा में पकड़ी गई है। आगे की जाँच के लिए बोट को जखाऊ (Jakhau) ले जाया जा रहा है। इंडियन कोस्ट गार्ड के अनुसार पाकिस्तानी बोट ‘अल हज’ रविवार (24 अप्रैल 2022) देर रात भारतीय जल सीमा में प्रवेश कर गई। जानकारी मिलने के बाद गुजरात एटीएस और इंडिया कोस्ट गार्ड की टीम मौके पर पहुँची। उन्हें देखकर पाकिस्तानी बोट पर सवार क्रू मेंबर नार्कोटिक्स के पैकेट्स को पानी में फेंककर भागने की कोशिश करने लगे, लेकिन वे कामयाब नहीं हो सके।

कोस्ट गार्ड ने बताया है कि पाकिस्तानी बोट को पकड़ने के लिए फायरिंग भी करनी पड़ी। इस दौरान बोट में सवार कुछ तस्करों को चोटें भी आई।

अमृतसर में भी पकड़ी गई है ड्रग्स की बड़ी खेप

अमृतसर में सीमा शुल्क विभाग के अधिकारियों ने अफगानिस्तान से आई लगभग 102 किलोग्राम ड्रग्स की खेप जब्त की है जिसकी अनुमानित कीमत 700 करोड़ रुपए है। यह मामला अटारी बॉर्डर का है। अधिकारियों ने बताया कि NDPS के तहत कार्रवाई की जा रही है। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक जब सीमा पर सामानों की जाँच के दौरान कुछ लकड़ी के लट्ठों पर ड्यूटी अधिकारी ने धब्बे देखे तो उनको शक हुआ। इसके बाद सीमा शुल्क अधिकारियों ने अन्य कर्मचारियों की मौजूदगी में बैग खोला तो वे भौंचक रह गए।

सीमा शुल्क अधिकारियों ने ने देखा कि कुछ छोटे बेलनाकार लकड़ी के लट्ठे थे। इन्हीं में सुराख कर हेरोइन रखी गई थी। यह अब तक अटारी से दूसरी सबसे बड़ी बरामदगी है। इससे पहले 2019 में 584 किलोग्राम हेरोइन पकड़ी गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नूपुर शर्मा का सिर कलम करने वाले को ₹20 लाख इनाम का ऐलान, बताया ‘गुस्ताख़-ए-रसूल’: मुस्लिमों को उकसा रहा AltNews वाला जुबैर

तहरीक-ए-लब्बैक (TLP) वही समूह है जिसने कुछ दिनों सियालकोट में पहले श्रीलंकाई नागरिक की हत्या कर दी थी। अब नूपुर शर्मा का सिर कलम करने पर रखा इनाम।

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe