Saturday, January 22, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाझारखंड: सरायकेला में नक्सलियों ने किया IED ब्लास्ट, 15 जवान घायल, कुछ की स्थिति...

झारखंड: सरायकेला में नक्सलियों ने किया IED ब्लास्ट, 15 जवान घायल, कुछ की स्थिति गंभीर

घायल जवानों को राँची एयरलिफ्ट किया गया है। कुछ जवानों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। पूरे इलाके में घेराबंदी कर दी गई है। तलाशी अभियान जारी है।

झारखंड के सरायकेला में मंगलवार (मई 28, 2019) की सुबह 4:53 पर नक्सलियों द्वारा आईडी ब्लास्ट किया गया। ताजा खबर के मुताबिक इस धमाके में 15 जवान घायल हुए हैं। इनमें सीआरपीएफ की 209 कोबरा यूनिट के जवान और झारखंड पुलिस के जवान शामिल हैं। गौरतलब है उस समय ये जवान किसी स्पेशल ऑपरेशन के लिए जा रहे थे जब इलाके में धमाके हुआ।

घायल जवानों को आज सुबह 6:50 पर राँची एयरलिफ्ट किया गया है। कुछ जवानों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। पूरे इलाके में घेराबंदी कर दी गई है। तलाशी अभियान जारी है। हालाँकि, अभी इसकी आधिकारिक रूप से पुष्टि नहीं हुई है लेकिन कहा जा रहा है कि धमाके के बाद नक्सलियों ने गोलीबारी भी की है। झारखंड पुलिस का कहना है कि इस घटना के लिए जो भी कोई जिम्मेदार होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।

बता दें कि सरायकेला को नक्सलियों का अड्डा माना जाता है। यहाँ हमेशा कोई न कोई ऐसी घटना सामने आती ही रहती है। इससे पहले 3 मई को नक्सलियों द्वारा झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा के सरायकेला जिले में स्थित चुनाव कार्यालय को बम से उड़ा दिया गया था। हालांकि उस समय कोई हताहत नहीं हुआ था। इसके बाद 20 मई को सरायकेला जिले में एक नक्सली हमले में 3 पुलिसकर्मी घायल भी हो गए थे।

नक्सलियों द्वारा अंजाम दी गई घटनाओं को देखें तो से इससे पहले 1 मई को गढ़चिढौली में ब्लास्ट किया गया था, जिसमें 15 सुरक्षाकर्मी वीरगति को प्राप्त हुए थे। यह घटना तब हुई थी जब गढ़चिरौली के घने जंगलों के बीच से सी 60 कमांडो यूनिट का दस्ता गुजर रहा था। नक्सलियों ने जिस तरह से इस हमले को अंजाम दिया था, उससे जाहिर हो गया था कि इसके लिए लंबी प्लानिंग की गई होगी। पहले 1 मई को महाराष्ट्र दिवस पर 36 गाड़ियों को जलाकर नक्सलियों ने सुरक्षा बलों को अपनी ओर आने का एक तरह से लालच दिया था। और फिर जब घटना की सूचना मिलते ही क्विक एक्शन फोर्स घटनास्थल की ओर रवाना हुई तो इसी रूट पर नक्सली घात लगा कर बैठे थे। जैसे ही जंबुलखेड़ा गाँव से सी 60 कमांडो की टीम गुजर रही थी, नक्सलियों ने IED ब्लास्ट कर उनकी गाड़ी को निशाना बना लिया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केस ढोते-ढोते पिता भी चल बसे, माँ रहती हैं बीमार : दिल्ली दंगों में पहली सज़ा दिनेश यादव को, गरीब परिवार ने कहा –...

दिल्ली हिन्दू विरोधी दंगों में दिनेश यादव की गिरफ्तारी के बाद उनके पिता की मौत हो गई थी। पुलिस पर लगा रिश्वत न देने पर फँसाने का आरोप।

‘ईसाई बनने को कहा, मना करने पर टॉयलेट साफ़ करने को मजबूर किया’: तमिलनाडु में 17 साल की लड़की की आत्महत्या, माता-पिता ने बताई...

परिजनों ने आरोप लगाया कि हॉस्टल वॉर्डन द्वारा लावण्या प्रताड़ित किया गया था और मारा-पीटा गया था, क्योंकि उसने ईसाई मजहब में धर्मांतरण से इनकार किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,757FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe