Tuesday, July 27, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षापुलवामा एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्मद के IED एक्सपर्ट अब्दुल रहमान समेत 3 आतंकी ढेर, सर्च...

पुलवामा एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्मद के IED एक्सपर्ट अब्दुल रहमान समेत 3 आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी

जम्मू-कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, "पुलवामा एनकाउंटर में मारे गए 3 आतंकियों में जैश ए मोहम्मद का आतंकवादी अब्दुल रहमान उर्फ फौजी भाई मारा गया है। ये पाकिस्तान के मुल्तान का रहने वाला था। बाकी दो अन्य आतंकवादियों की पहचान की जा रही है।"

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में जारी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने बुधवार (जून 3, 2020) को जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादियों को मार गिराया गया है। मारे गए आतंकियों के शव सुरक्षाबलों ने अपने कब्जे में ले लिए हैं। उनके पास से भारी तादाद में हथियार व गोलाबारूद भी बरामद हुआ है।

इस मुठभेड़ में सेना ने जैश ए मोहम्मद के आंतकी और IED एक्सपर्ट अब्दुल रहमान उर्फ फौजी भाई को मार गिराया है। जम्मू-कश्मीर के आईजी विजय कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “पुलवामा एनकाउंटर में मारे गए 3 आतंकियों में जैश ए मोहम्मद का आतंकवादी अब्दुल रहमान उर्फ फौजी भाई मारा गया है। ये पाकिस्तान के मुल्तान का रहने वाला था। बाकी दो अन्य आतंकवादियों की पहचान की जा रही है।”

उन्होंने आगे बताया कि अब्दुल रहमान 2017 से कश्मीर में एक्टिव था। 2019 के एक एनकाउंटर से ये बच निकला था। रियाज नायकू के बाद ये बहुत बड़ी सफलता है। उन्होंने बताया कि 28 मई को पुलवामा में मिले कार बम को उसी ने तैयार किया था। अब्दुल रहमान अफगानिस्तान युद्ध में भी शामिल हो चुका था।

अब्दुल रहमान आईईडी बम बनाने में एक्सपर्ट था। आतंकी अब्दुल घाटी में कई आईईडी अटैक और कार में बम लगाने जैसी घटनाओं को अंजाम दिया था। जानकारी के मुताबिक सुरक्षाबलों को बुधवार की सुबह जानकारी मिली थी कि पुलवामा के कंगन गाँव इलाके में कुछ आतंकी छिपे हुए हैं। जिसके बाद सेना, सीआरपीएफ और पुलिस की संयुक्त टीम ने इलाके में घेराबंदी करके सर्च ऑपरेशन शुरू किया।

इस दौरान सुरक्षाबलों ने आतंकियों को सरेंडर करने के लिए कहा। लेकिन आतंकियों ने सुरक्षाबलों के ऊपर फायरिंग शुरू कर दी। जिसके बाद सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए तीनों आतंकियों को मार गिराया। सुरक्षाबलों ने आतंकियों के पास से राइफल समेत कई हथियार बरामद किए हैं। सुरक्षाबलों द्वारा आस-पास के इलाकों में सर्च ऑपरेशन जारी है।

आतंकियों के मारे जाने की घटना के बाद इलाके में किसी तरह की अफवाह न फैले इसलिए पुलवामा में फिलहाल इंटरनेट सेवाएँ बंद कर दी गई हैं। 

गौरतलब है कि पिछले महीने 28 मई को सुरक्षाबलों ने पुलवामा में होने वाला बड़ा हादसा टाल दिया था। आतंकवादी एक बार फिर से पुलवामा में 14 फरवरी 2019 जैसा आतंकी हमला करना चाहते थे। आतंकियों ने एक कार में भारी मात्रा में विस्फोटक IED रखा था, लेकिन उनके नापाक इरादे सफल नहीं हो पाए थे।

इस वारदात का मास्टरमाइंड पाकिस्तानी आतंकी अब्दुल रहमान ही था, जो आज मुठभेड़ में मारा गया। भारतीय सेना के जवानों ने समय से पहले ही विस्फोटक IED को नष्ट कर दिया था। ये IED से लदी कार पुलवामा में राजपोरा के अयानगुंड एरिया में बरामद हुई थी।

जब IED से लदी कार सुरक्षाबलों के नजदीक आई तो अंदर बैठे आतंकी ने फायरिंग भी की थी। लेकिन थोड़ा आगे जाने के बाद अंधेरे का फायदा उठाकर कार में बैठा आतंकी भाग गया था। गुमराह करने के लिए इस कार पर बाइक की नंबर प्लेट लगाई गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

6 साल के जुड़वा भाई, अगवा कर ₹20 लाख फिरौती ली; फिर भी हाथ-पैर बाँध यमुना में फेंका: ढाई साल बाद इंसाफ

मध्य प्रदेश स्थित सतना जिले के चित्रकूट में दो जुड़वा भाइयों के अपहरण और हत्या के मामले में 5 दोषियों को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई है।

‘अपनी मौत के लिए दानिश सिद्दीकी खुद जिम्मेदार, नहीं माँगेंगे माफ़ी, वो दुश्मन की टैंक पर था’: ‘दैनिक भास्कर’ से बोला तालिबान

तालिबान प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा कि दानिश सिद्दीकी का शव युद्धक्षेत्र में पड़ा था, जिसकी बाद में पहचान हुई तो रेडक्रॉस के हवाले किया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,381FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe