Monday, October 18, 2021
Homeराजनीति'पाकिस्तान के आतंकी ठिकानों को हम बिल्कुल बर्बाद कर देंगे, अगर ये बाज नहीं...

‘पाकिस्तान के आतंकी ठिकानों को हम बिल्कुल बर्बाद कर देंगे, अगर ये बाज नहीं आए तो हम…’

"जंग बुरी चीज है और पाकिस्‍तान को यह जान लेना चाहिए कि उसे कैसा व्‍यवहार करना है। साथ ही उन्‍होंने कहा कि अगर पाकिस्तान अपने तरीके से नहीं सुधरा तो कल जो भी हुआ, वो उससे और आगे जाएँगे।"

भारतीय सेना द्वारा रविवार (अक्टूबर 20, 2019) को पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) में आतंकी ठिकाने को तोप से निशाना बनाने और उसे नष्ट करने को लेकर जम्‍मू-कश्‍मीर के राज्‍यपाल सत्यपाल मलिक ने बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा, “आतंकी ठिकानों को हम बिल्कुल बर्बाद कर देंगे और अगर ये नहीं बाज आए तो हम अंदर जाएँगे।”

बता दें कि रविवार को गुलाम कश्मीर में सेना ने चार आतंकी लॉन्च पैड को निशाना बनाकर तबाह कर दिया था। यही नहीं जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान द्वारा किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन के बाद भारत की ओर से की गई इस जवाबी कार्रवाई में कई आतंकवादी मारे गए। इसी के बाद सत्यपाल मलिक ने यह बयान दिया।

राज्‍यपाल मलिक ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जंग बुरी चीज है और पाकिस्‍तान को यह जान लेना चाहिए कि उसे कैसा व्‍यवहार करना है। साथ ही उन्‍होंने कहा कि अगर पाकिस्तान अपने तरीके से नहीं सुधरा तो कल जो भी हुआ, वो उससे और आगे जाएँगे।

साथ ही उन्‍होंने कहा कि वो राज्‍य के लोगों से कहना चाहते हैं कि 1 तारीख से नया कश्‍मीर होगा। उसमें ये अपनी हिस्‍सेदारी देकर अपने स्‍टेट को आगे बढ़ाएँ। सत्‍यपाल मलिक ने कहा कि वो युवा पीढ़ी से अपील करना चाहता हैं कि वे अपने राज्य की प्रगति के लिए काम करें।

वहीं आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने जानकारी देते हुए कहा था, “हमें सूचना मिली थी कि केरन, तंगधार व नौगाम सेक्टरों के विपरीत पीओके इलाके में आतंकवादी शिविर चल रहे हैं। इन्हें निशाना बनाया गया और उनका समर्थन करने वाले लोग, पाकिस्तानी चौकियाँ भी हमारी जवाबी कार्रवाई की जद में आए।” उन्होंने बताया कि  इस हमले में 6 से 10 पाकिस्तानी जवान और आतंकवादी भी मारे गए हैं। राज्यपाल ने कहा कि हमले में कम से कम तीन आतंकी शिविरों के नष्ट हुए, जबकि चौथे शिविर को भी नुकसान हुआ है।

सेना प्रमुख ने कहा कि शनिवार (अक्टूबर 19, 2019) शाम को आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ की कोशिश की गई थी। हालाँकि, तंगधार और भारतीय सेना ने तोपखाने की गोलीबारी के माध्यम से जवाबी कार्रवाई की और आतंकवादियों के ठिकानों को गंभीर नुकसान पहुँचाया। उन्होंने कहा कि आतंकवादी घुसपैठ की कोशिश में थे। लेकिन इससे पहले कि वे घुसपैठ की कोशिश करते भारतीय सेना ने कार्रवाई करते हुए मुँहतोड़ जवाब दिया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस निहंग ने कहा- मैंने उसकी टाँग काटी, उसकी पत्नी बोली- गर्व है: सिंघु-कुंडली बॉर्डर पर हुई थी दलित की बर्बर हत्या

सिंघु बॉर्डर पर दलित युवक लखबीर सिंह की नृशंस हत्या करने के तीन आरोपितों को सोनीपत कोर्ट ने 6 दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया है।

‘घाटी छोड़ो वरना मार दिए जाओगे’: ULF के आतंकी मार रहे यूपी-बिहार के लोगों को, 16 दिन में 11 हत्या-इनमें 5 गैर कश्मीरी

जम्मू-कश्मीर में 2 अक्टूबर से लेकर अब तक के बीच में 11 लोगों को मारा जा चुका है। आतंकियों ने धमकी दी है कि गैर-कश्मीरी चले जाएँ वरना उनका भी ऐसा ही हाल होगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,590FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe