Monday, June 17, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षासाथी के साथ मस्जिद में छिपा आतंकी कमांडर, इमाम और भाई भेजे गए अंदर:...

साथी के साथ मस्जिद में छिपा आतंकी कमांडर, इमाम और भाई भेजे गए अंदर: सरेंडर पर फोकस ताकि मस्जिद को न हो नुकसान

मस्जिद को नुकसान से बचाने के लिए मीर और उसके साथी के सरेंडर के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए स्थानीय इमाम और उसके भाई को भीतर भेजा गया है।

जम्मू-कश्मीर के शोपियाँ में गुरुवार (9 अप्रैल 2021) को शुरू हुआ सुरक्षा बलों का ऑपरेशन फिलहाल जारी है। यहाँ आतंकी संगठन अंसार गजवात-उल हिंद (HGH) का कमांडर इम्तियाज मीर अपने एक साथी के साथ मस्जिद में छिपा है। वहीं अवंतीपोरा के त्राल एरिया के नवावबाग में भी आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ चल रही है। दो आतंकियों को अब तक मार गिराने की सूचना है।

शोपियाँ में सुरक्षाबलों के साथ एनकाउंटर के बाद मीर अपने एक साथी के साथ मस्जिद जान मुहल्ला में छिप गया। उससे पहले उसके तीन साथियों को सुरक्षा बलों ने मार गिराया था।

आतंकियों को सरेंडर करने के लिए मनाने की खातिर सुरक्षाबलों ने एक आतंकी के भाई और स्थानीय इमाम को मस्जिद के अंदर भेजा है। ताकि वह आतंकियों से बातचीत कर उनसे सरेंडर करवा सके। इस बीच मुठभेड़ में जवानों ने गुरुवार शाम तक तीन आतंकियों को मार गिराया है। वहीं, तीन जवान भी घायल हुए हैं।

हालात को देखते हुए प्रशासन ने शोपियाँ और पुलवामा में इंटरनेट सेवा बंद कर दी है। ऑपरेशन में सेना को दिक्कत यह हो रही है कि एनकाउंटर स्थल के पास ही जामिया मस्जिद है और सुरक्षाबल पूरा प्रयास कर रहे हैं कि मस्जिद को किसी तरह का नुकसान न हो। कश्मीर पुलिस के आईजीपी और सेना की विक्टर फोर्स के मेजर जनरल राशिम बाली इस पर नजर रख रहे हैं। एजीएच को जम्मू-कश्मीर में अलकायदा का अंग माना जाता है।

जानकारी के मुताबिक गुरुवार को पुलिस ने सेना की 44 आरआर और सीआरपीएफ के जवानों के साथ शोपियाँ के जान मोहल्ले की घेराबंदी शुरू की। घनी आबादी होने के कारण पहले इस इलाके से सुरक्षाबलों ने लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला। इसके बाद दोपहर करीब तीन बजे सेना का शिकंजा कसता देख एक मकान में छिपे आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी।

शाम करीब 6 बजे एक आतंकी को ढेर कर दिया गया। उसका शव उठाते समय आतंकियों की गोली से एक जवान घायल हो गया। इसके बाद फिर से एनकाउंटर शुरू हो गया। रात करीब 8 बजे दो अन्य आतंकी भी ढेर कर दिए गए।

बुरहान वानी का ममेरा भाई भी ढेर

एनकाउंटर में सेना के जवानों नें आतंकी बुरहान वानी के ममेरे भाई को भी ढेर कर दिया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मरने वाले आतंकी इश्तियाक, जाहिद कोका और काशिफ मीर हैं। काशिफ मीर हिजबुल मुजाहिदीन के पोस्टर बॉय रहे बुरहान वानी का ममेरा भाई है। काशिफ के दो बड़े भाई भी आतंकी ही थे। इनमें से आदिल ने हिजबुल मुजाहिदीन के नेटवर्क को दक्षिण कश्मीर में स्थापित किया था। उसी ने आतंकी जाकिर मूसा और बुरहान वानी को तैयार किया था।

त्राल सेक्टर में भी दो आतंकियों को सेना ने किया ढेर

एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक सेना और आतंकियों के बीच अवंतीपोरा के त्राल इलाके में मुठभेड़ शुरू हो गई है, जिसमें सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया है। इस बात की जानकारी जम्मू-कश्मीर पुलिस के आईजी ने दी है। फिलहाल, सुरक्षा बलों का ऑपरेशन चल रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -