Saturday, October 23, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा'Kill नरेंद्र मोदी': पीएम की हत्या की रची जा रही साजिश, NIA ने गृह...

‘Kill नरेंद्र मोदी’: पीएम की हत्या की रची जा रही साजिश, NIA ने गृह मंत्रालय को सतर्क किया

एनआईए को धमकी भरे कुछ ई-मेल मिले हैं। इनमें PM मोदी की हत्या की बात कही गई है। इस ई मेल में 3 शब्द लिखे गए हैं- किल नरेंद्र मोदी (Kill Narendra Modi)। फिलहाल ई-मेल के कंटेंट की जाँच की जा रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या को लेकर बड़ी साजिश रची जाने की बात सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस संबंध में राष्ट्रीय जॉंच एजेंसी (NIA) ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर आगाह किया है। गृह मंत्रालय ने इससे एसपीजी को अवगत कराया है जिस पर प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी है।

एनआईए को धमकी भरे कुछ ई-मेल मिले हैं। इनमें PM मोदी की हत्या की बात कही गई है। इस ई मेल में 3 शब्द लिखे गए हैं- किल नरेंद्र मोदी (Kill Narendra Modi)। फिलहाल ई-मेल के कंटेंट की जाँच की जा रही है।

टाइम्स नाउ की रिपार्ट के अनुसार, एनआईए ने गृह मंत्रालय एक पत्र लिखकर पीएम मोदी को हत्या वाले ई-मेल की जानकारी दी है। एजेंसी ने अपने पत्र में लिखा, “एनआईए को एक ईमेल आईडी मिली है जिसमें कुछ गणमान्य लोगों की हत्या की बात कही गई है। ई-मेल में मौजूद कंटेंट इसकी तस्दीक करते हैं। इस पत्र के साथ ही ई-मेल की कॉपी भी लगाई गई है। इस मामले में एनआईए ने उचित कार्रवाई करने का अनुरोध भी किया है।

बता दें यह मेल 8 अगस्त को जारी किया गया था। जिसमें सभी सुरक्षा एजेंसियों के खतरे के साथ प्रधानमंत्री के जीवन पर भी सीधे खतरे की बात की गई है। ई-मेल का पता लगने के बाद सुरक्षा एजेन्सियाँ चौकन्नी हो गई हैं। खतरे के मद्देनजर पीएम मोदी की सुरक्षा कवच को बढ़ा दिया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार एनआईए ने इस मामले में अपनी ओर से किसी भी प्रकार से की जाँच नहीं की है। बता दें इस पूरे मामले से गृह मंत्रालय ने एसपीजी को अवगत कराया है। स्पेशल प्रोटक्शन ग्रुप यानी एसपीजी ही पीएम मोदी की सुरक्षा करता है।

एनआईए कई प्रमुख सुरक्षा एजेंसियों के भी संपर्क में है। इनमें रॉ, खुफिया ब्यूरो (आईबी), डिफेंस इंटेलिजेंस के प्रतिनिधि शामिल हैं। गौरतलब है कि यह खुलासा ऐसे समय में हुआ है जब पीएम मोदी के प्रति नफरत की राजनीतिक को बढ़ावा दिया जा रहा है। ई-मेल का खुलासा होने के बाद बाहरी तत्वों पर सख्ती से नजर रखी जा रही है। आतंकी हमलों को लेकर सुरक्षा एजेंसियॉं पहले ही अलर्ट कर चुकी हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हिन्दुओ, औकात में रहो! तुम्हारी महिलाएँ हमारी हरम का हिस्सा थीं, दासी थीं’: यूपी पुलिस के हत्थे चढ़ा सपा नेता अदनान खान, हो रही...

ये फेसबुक पोस्ट आंबेडकर नगर के टांडा विधानसभा क्षेत्र में सपा यूथ विंग के विधानसभा अध्यक्ष अदनान खान का है, जिसमें हिन्दुओं को धमकी दी गई है।

जहाँ दकियानूसी ईसाई चला रहे टीके के खिलाफ अभियान, उन्हीं की मीडिया को करारा जवाब है भारत का 100+ करोड़

100 करोड़ का ये आँकड़ा भारत/भारतीयों के बारे में सदियों से फैलाए झूठ (अनपढ़, अनुशासनहीन, अराजक, स्वास्थ्य सुविधाहीन आदि) की बखियाँ उधेड़ रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,033FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe