Sunday, July 25, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाIAF के लापता AN-32 विमान का मलबा मिला, 13 लोग थे सवार

IAF के लापता AN-32 विमान का मलबा मिला, 13 लोग थे सवार

AN-32 ने असम के जोरहाट एयरबेस से उड़ान भरी थी और उसका गंतव्य अरुणाचल का मेनचुका था। जोरहाट एयरबेस से उड़ान भरने के करीब 1 घंटे बाद विमान का संपर्क एटीसी से टूट गया था।

असम के जोरहाट हवाई अड्डे से उड़ान भरने वाले AN-32 के टुकड़े मिले हैं। समाचार एजेंसी ANI के अनुसार विमान के कुछ हिस्सों का टुकड़ा जहाँ मिला है वह अरुणाचल प्रदेश में विमान के उड़ान भरने वाली जगह से 15-20 किलोमीटर उत्तर में है। भारतीय वायु सेना (IAF) का हेलिकॉप्टर दल इस मिशन में शामिल था। AN-32 विमान 3 जून से लापता था, जिसमें चालक दल समेत 13 लोग सवार थे।

वायुसेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जिस इलाके में खोज की जा रही थी वहाँ IAF के Mi-17 हेलीकॉप्टर द्वारा अनुमानित AN-32 के मलबे को आज 16 किलोमीटर उत्तर में लगभग 12000 फीट की ऊँचाई पर देखा गया। वायुसेना के रिटायर्ड एयर मार्शल पी एस अहलूवालिया के अनुसार पहाड़ियों और जंगल से भरा इलाका होने के कारण विमान का पता लगाना मुश्किल हो जाता है, इसी वजह से इसे ढूँढने में आठ दिनों का वक्त लग गया।

AN-32 ने असम के जोरहाट एयरबेस से उड़ान भरी थी और उसका गंतव्य अरुणाचल का मेनचुका था। जोरहाट एयरबेस से उड़ान भरने के करीब 1 घंटे बाद विमान का संपर्क एटीसी से टूट गया था जिसके बाद से विमान की तलाश जारी थी। भारतीय वायु सेना के AN-32 की तलाश के लिए चार एमआई-17 हेलीकॉप्टर, तीन उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर, जिनमें से दो सेना के है, दो सुखोई-30 विमान, एक सी-130 मालवाहक विमान और सेना के एक मानव रहित विमान को खोज अभियान में लगाया था।

इसके अलावा बीते शनिवार (8 जून) को भारतीय वायुसेना ने लापता AN32 विमान के संबंध में जानकारी देने वाले को 5 लाख रुपए के पुरस्कार की घोषणा भी की थी। एयर मार्शल आरडी माथुर, एओसी-इन-सी-पूर्वी वायु कमान ने विमान का सुराग देने वाले किसी भी व्‍यक्ति या दल को 5 लाख रुपए का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की थी।


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सचिन पायलट को CM बनाओ’: कॉन्ग्रेस के बड़े नेताओं के सामने जम कर हंगामा, मंत्रिमंडल विस्तार से पहले बुलाई थी बैठक

राजस्थान में मंत्रिमंडल में फेरबदल से पहले ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री सचिन पायलट के समर्थकों के बीच बहस और हंगामेबाजी हुई।

‘गाँधी की हत्या के बाद कॉन्ग्रेस ने करवाया था ब्राह्मणों का नरसंहार, पुलिस ने दर्ज नहीं किया एक भी केस’: इतिहासकार का खुलासा

लेखक व इतिहासकार विक्रम सम्पत ने कहा है कि महात्मा गाँधी की हत्या के बाद ब्राह्मण-विरोधी नरसंहार कॉन्ग्रेस नेताओं ने करवाया था। एक भी केस दर्ज नहीं किया गया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,128FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe