Friday, December 2, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाभारत के वीर: पुलवामा हमले के बाद वीरगति को प्राप्त जवानों के परिवार वालों...

भारत के वीर: पुलवामा हमले के बाद वीरगति को प्राप्त जवानों के परिवार वालों के लिए 12 गुना ज्यादा दान

'भारत के वीर' पोर्टल के जरिए वीरगति को प्राप्त जवानों के परिवार को सीधे तौर पर मदद मिलती है। अब तक 267 सुरक्षाकर्मियों के परिजनों को ₹16.27 करोड़ की धनराशि वितरित की गई है।

पुलवामा आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ जवानों के वीरगति को प्राप्त होने के बाद से ‘भारत के वीर’ फंड में बड़ी मात्रा में दान किया जा रहा है। 14 फरवरी को हुए अटैक में 40 वीरों के बलिदान के बाद पूरे देश में जवानों के लिए डोनेशन में काफी वृद्धि दर्ज की गई है। खबर के मुताबिक, इस साल 18 जून तक ₹242.15 करोड़ की सहायता राशि मिल चुकी है। वीरों के लिए दिए जाने वाले डोनेशन में 12 गुना से अधिक की वृद्धि दर्ज की गई।

बता दें कि 2017 के मध्य में ‘भारत के वीर फंड’ की स्थापना गई थी। फंड की स्थापना के बाद उसी साल उसमें कुल ₹6.40 करोड़ जमा हुए थे। इसके बाद साल 2018 में इस फंड में ₹19.43 करोड़ जमा किए गए, लेकिन इस साल फंड में जमा हुई राशि इससे काफी अधिक है।

‘भारत के वीर’ फंड में जमा होने वाली राशि को सीधे वीरों के परिवार तक पहुँचाया जाता है। इस साल 18 जून तक ₹14.20 करोड़ की राशि वीरगति को प्राप्त जवानों के परिवारों को मदद के तौर पर दी जा चुकी है। 2018 में  ₹6.58 करोड़ और 2017 में ₹11 करोड़ की राशि मदद के तौर पर इस फंड से दी गई थी।

भारत के वीर फंड में स्वैच्छिक तौर पर डोनेशन दिया जा सकता है। इस पोर्टल पर वीरगति को प्राप्त जवानों की डिटेल्स होती हैं और सीधे उनके परिवार की भी मदद की जा सकती है। यहाँ डोनेशन देने के लिए ऑनलाइन ट्रांसफर के साथ यूपीआई के जरिए भी पेमेंट किया जा सकता है। शहीदों के लिए बनाए गए इस पोर्टल पर दान में पुलवामा हमले के बाद लोगों ने काफी सक्रियता दिखाई है। ‘भारत के वीर’ के जरिए वीरों की मदद करने के लिए भारतीय स्टेट बैंक ने यूपीआई पेमेंट गेटवे की शुरुआत की, ताकि लोग आसानी से योगदान कर सकें। इसके साथ ही पेटीएम ने भी जवानों के परिजनों को दान देने के लिए ‘CRPF Wives welfare Association’ नाम की एक अलग विंडो बनाई थी। 

पिछले सप्ताह राज्यसभा में गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने ‘भारत के वीर’ पोर्टल के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पिछले 2 साल से इस पोर्टल के जरिए वीरगति को प्राप्त जवानों के परिवार को सीधे तौर पर मदद मिलती है। पोर्टल लॉन्च होने के बाद से अब तक कुल ₹31.78 करोड़ की मदद जवानों के परिवार को मिल चुकी है। इसके साथ ही राय ने जानकारी देते हुए कहा कि अब तक 267 सुरक्षाकर्मियों के परिजनों को ₹16.27 करोड़ की धनराशि वितरित की गई है, जिसका विवरण पोर्टल पर अपलोड किया गया था। उन्होंने बताया कि इसमें से ₹11.11 करोड़ सीआरपीएफ के वीरगति को प्राप्त जवानों को,  ₹3.30 करोड़ बीएसएफ को, ₹1.69 करोड़ असम राइफल्स को और ₹17.76 लाख सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के जवानों के परिवार वालों को दिया गया।

पुलवामा हमले के बाद से भारत के वीर पोर्टल पर आम नागरिकों द्वारा चंदा देने की संख्या में काफी अधिक वृद्धि हुई है। गौरतलब है कि 14 फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले को अपना निशाना बनाया था और इस हमले में 40 जवान वीरगति को प्राप्त हो गए थे। इसके बाद से डोनेशन में लगभग 12 गुना अधिक वृद्धि दर्ज की गई। पोर्टल के बनने के बाद से अब तक कुल ₹267.98 करोड़ की रकम इसमें शहीदों के परिवार के लिए इकट्ठा की जा चुकी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मंदिर की जमीन पर शव दफनाने की अनुमति नहीं’: मद्रास हाईकोर्ट ने दिया अतिक्रमण हटाने का निर्देश

मद्रास हाईकोर्ट ने कहा कि शवों को दफनाने के लिए मंदिर की जमीनों का उपयोग नहीं किया जा सकता। कोर्ट ने अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया है।

हिंदुओं के 40 साल तक अवैध पार्टनर, मुस्लिम फॉर्मूला से 18 साल में लड़की की शादी करो… उपजाऊ जमीन में बीज बोओ: बदरुद्दीन अजमल

"आप उपजाऊ जमीन में बीज बोएँगे तभी खेती अच्छी होगी। 18-20 साल की उम्र में लड़कियों की शादी करा दो और फिर देखो कितने बच्चे पैदा होते हैं।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,564FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe