Thursday, July 25, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाबालाकोट एयरस्ट्राइक: पाकिस्तान के F-16 लड़ाकू विमान को मार गिराने में मिंटी अग्रवाल ने...

बालाकोट एयरस्ट्राइक: पाकिस्तान के F-16 लड़ाकू विमान को मार गिराने में मिंटी अग्रवाल ने निभाई थी अहम भूमिका

स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल ने कहा, “एफ-16 को विंग कमांडर अभिनंदन ने मार गिराया था। वह अचानक लड़ाई का वक्त थ। स्थिति बेहद फ्लेक्सिबल थी। वहाँ दुश्मन देश के कई विमान तैनात थे। हमारे विमान उनके हमलों का जवाब दे रहे थे। हर तरफ से पाकिस्तानी विमानों से हम अपनी रक्षा कर रहे थे।’’

IAF (भारतीय वायु सेना) के बालाकोट हवाई अड्डे पर पाकिस्तान की जवाबी कार्रवाई के दौरान उड़ान नियंत्रक के रूप में काम करने वाली मिंटी अग्रवाल भारत की पहली महिला हैं जिन्हें युद्ध सेवा मेडल से सम्मानित किया गया है। एयरस्ट्राइक को याद करते हुए मिंटी अग्रवाल ने बताया कि 26 फरवरी को उन्होंने आतंकी शिविरों पर एयर स्ट्राइक के मिशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया था। 

उन्होंने बताया कि उन्हें लग रहा था कि पाकिस्तान एयरस्ट्राइक का जवाब तुरंत देगा, जिसके लिए उनकी टीम पूरी तरह से तैयार थी। पाकिस्तान ने कई घंटों बीत जाने के बाद बम गिराने की नाकाम कोशिश की। इसके लिए LoC के पास पहले से ही लड़ाकू विमान तैनात कर दिए गए थे।

स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल ने कहा, “एफ-16 को विंग कमांडर अभिनंदन ने मार गिराया था। वह अचानक लड़ाई का वक्त थ। स्थिति बेहद फ्लेक्सिबल थी। वहाँ दुश्मन देश के कई विमान तैनात थे। हमारे विमान उनके हमलों का जवाब दे रहे थे। हर तरफ से पाकिस्तानी विमानों से हम अपनी रक्षा कर रहे थे।’’

उन्होंने कहा,“26 फरवरी को हमने ग़ैर-सैन्य शिविरों में बालाकोट मिशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया। हमें प्रतिशोध की उम्मीद थी, उसके लिए पहले से तैयार थे और उन्होंने मात्र 24 घंटे में जवाबी कार्रवाई की।”

ग़ौरतलब है कि वायु सेना के विंग कमांडर वर्धमान अभिननंदन ने पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराया था। उनकी इस वीरता में उनकी सहयोगी मिंटी अग्रवाल ने अहम भूमिका निभाई थी। उस समय वो वायु सेना के रडार कंट्रोल स्टेशन पर तैनात थीं। जब पाकिस्तान लड़ाकू विमानों ने उनके एयरबेस से उड़ान भरी और Pok के रास्ते भारतीय वायु सेना में प्रवेश करने के लिए आगे बढे, तभी उन्होंने श्रीनगर स्थित वायु सेना के एयरबेस को सूचित कर दिया, जहाँ विंग कमांडर अभिनंदन सहित कई भारतीय लड़ाकू विमान हाई अलर्ट पर थे।

स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल से सूचना मिलते ही अभिनंदन ने उड़ान भरी और अपनी वायु सीमा पर पहुँच गए। इस बीच, स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल अभिनंदन को हर पल पाकिस्तान जेट की स्थिति से लगातार अवगत कराती रहीं, जिससे वो इस ऑपरेशन को सफलतापूर्वक पूरा करने में सफल हुए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -