Friday, June 14, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षापाकिस्तान से जुड़ी 2 वेबसाइटों, 20 YouTube चैनलों को मोदी सरकार ने किया ब्लॉक,...

पाकिस्तान से जुड़ी 2 वेबसाइटों, 20 YouTube चैनलों को मोदी सरकार ने किया ब्लॉक, जमकर हो रहा था भारत विरोधी दुष्प्रचार

"चैनलों का इस्तेमाल कश्मीर, भारतीय सेना, भारत में अल्पसंख्यक समुदायों, राम मंदिर, जनरल बिपिन रावत आदि विषयों पर समन्वित तरीके से विभाजनकारी सामग्री पोस्ट करने के लिए किया गया था।"

भारत सरकार ने 2 वेबसाईट और 20 यूट्यूब चैनलों को ब्लॉक कर दिया है। भारत सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने 21 दिसंबर को जारी एक प्रेस रिलीज में इसकी जानकारी दी है। प्रेस रिलीज में उन्होंने इसकी घोषणा करते हुए बताया कि भारत विरोधी प्रोपेगेंडा को फैलने से रोकने के लिए पाकिस्तान से ताल्लुक रखने वाले इन वेबसाइटों और यूट्यूब चैनलों को ब्लॉक किया गया है। इसके लिए दो आदेश जारी किए गए। पहले आदेश में 2 वेबसाइटों के ब्लॉक करने की बात कही गई और दूसरे वेबसाइट में 20 यूट्यूब चैनलों को ब्लॉक करने की।

प्रेस रिलीज के अनुसार, इन चैनलों और वेबसाइटों को भारत से संबंधित संवेदनशील विषयों पर फर्जी खबरें फैलाने के लिए पाकिस्तान और उसके दुष्प्रचार नेटवर्क से लिंक किया गया था। इसमें लिखा था, “चैनलों का इस्तेमाल कश्मीर, भारतीय सेना, भारत में अल्पसंख्यक समुदायों, राम मंदिर, जनरल बिपिन रावत आदि विषयों पर समन्वित तरीके से विभाजनकारी सामग्री पोस्ट करने के लिए किया गया था।”

प्रेस रिलीज में विशेष रूप से द नया पाकिस्तान ग्रुप (NPG) का उल्लेख किया गया है जिसे पाकिस्तान से संचालित किया जा रहा है। नेटवर्क का YouTube चैनल है, जिनका लगभग 35 लाख सब्सक्राइबर और 55 करोड़ से अधिक व्यूज है। गौर करने वाली बात यह है कि इनमें से कुछ चैनल पाकिस्तानी समाचार चैनलों के समाचार एंकरों द्वारा संचालित किए गए थे।

इन चैनलों ने भारत से जुड़े कई मुद्दों पर कई कंटेंट पब्लिश की है, जैसे कि किसानों का विरोध, सीएए-एनआरसी विरोध और भी बहुत कुछ। प्रेस रिलीज में कहा गया है कि ये चैनल अल्पसंख्यकों को भारत सरकार के खिलाफ भड़काने की कोशिश कर रहे थे। इसमें लिखा है, “यह भी आशंका थी कि इन YouTube चैनलों का उपयोग पाँच राज्यों में आगामी चुनावों की लोकतांत्रिक प्रक्रिया को कमजोर करने के लिए कंटेंट पोस्ट करने के लिए किया जाएगा।”

भारत में इनफॉर्मेशन स्पेस को सुरक्षित रखने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती दिशानिर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम, 2021 के नियम 16 के तहत पोर्टल और चैनलों को ब्लॉक कर दिया गया है। प्रेस रिलीज में कहा गया है, “मंत्रालय ने पाया कि अधिकांश कंटेंट राष्ट्रीय सुरक्षा के दृष्टिकोण से संवेदनशील विषयों से संबंधित है और तथ्यात्मक रूप से गलत है। यह मुख्य रूप से भारत के खिलाफ एक समन्वित दुष्प्रचार नेटवर्क के रूप में पाकिस्तान से पोस्ट किया जा रहा है। इसलिए इसे इमरजेंसी केस मानकर कंटेंट को ब्लॉक करने के प्रावधानों के तहत कार्रवाई के लिए इसे उपयुक्त समझा।”

ब्लॉक किए गए चैनलों की लिस्ट

चार YouTube चैनल विशेष रूप से कश्मीर से संबंधित सामग्री पर केंद्रित थे। ये चैनल थे- द पंच लाइन, द नेकेड ट्रुथ, 48 न्यूज और कवर स्टोरी। दो चैनलों ने खालिस्तान से संबंधित प्रोपेगेंडा पर वीडियो बनाया था। इनका नाम इंटरनेशनल वेब न्यूज और खालसा टीवी था। दो चैनल- न्यूज 24 और पंजाब वायरल, दोनों खालिस्तानी और कश्मीर से संबंधित सामग्री प्रकाशित कर रहे थे।

पाँच YouTube चैनल सामान्य भारत विरोधी सामग्री प्रकाशित कर रहे थे। इन चैनलों का नाम था- फिक्शनल, हिस्टॉरिकल फैक्ट्स, नया पाकिस्तान ग्लोबल, गो ग्लोबल और ईकॉमर्स। आठ YouTube चैनल पाकिस्तान के समाचार चैनल के पत्रकारों और एंकरों से जुड़े थे। इन चैनलों का नाम जुनैल हलीम ऑफिशियल, तैयब हनीफ, जैन अली ऑफिशियल, मोहसिन राजपूत ऑफिशियल, कनीज फातिमा, सदफ दुर्रानी, ​​मियाँ इमरान अहमद और नजम उल हसन बाजवा था। द नेकेड ट्रुथ, हिस्टॉरिकल फैक्ट्स, नया पाकिस्तान ग्लोबल और जैल अली ऑफिशियल जैसे चैनल करोड़ों में व्यूज वाले टॉप व्यूज चैनलों में से थे। नया पाकिस्तान ग्लोबल को जहाँ नौ करोड़ से अधिक व्यूज हैं, वहीं नजम उल हसन बाजवा को 11 करोड़ से अधिक व्यूज हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान पर ‘मत देखो’, इस्लामी कुरीति पर सवाल उठाना ‘आपत्तिजनक’: PK और ‘हमारे बारह’ को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दोहरा रवैया...

राधा व दुर्गा के साथ 'सेक्सी' शब्द जोड़ने वालों और भगवान शिव को बाथरूम में छिपते हुए दिखाने वालों पर सुप्रीम कोर्ट ने क्या कार्रवाई की थी? इस्लामी कुरीति दिखाने पर भड़क गया सर्वोच्च न्यायालय, हिन्दू धर्म के अपमान पर चूँ तक नहीं किया जाता।

‘इंशाअल्लाह, राम मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन चुकी है’: धमकी के बाद अयोध्या में अलर्ट जारी कर कड़ी की गई सुरक्षा, 2005 में...

"बाबरी मस्जिद की जगह तुम्हारा मंदिर बना हुआ है और वहाँ हमारे 3 साथी शहीद हुए हैं। इंशाअल्लाह, इस मंदिर को गिराना हमारी जिम्मेदारी बन गई है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -