Thursday, July 7, 2022
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयपाकिस्तानी चैनल पर सिखों का उड़ाया मजाक, दिखाया जोकर: सोशल मीडिया पर गुस्सा और...

पाकिस्तानी चैनल पर सिखों का उड़ाया मजाक, दिखाया जोकर: सोशल मीडिया पर गुस्सा और थू-थू

"सिख समुदाय को जोकर के रूप में पेश करने की कोशिश मत करो। हम सभी सिख इस वीडियो को पसंद नहीं कर रहे। हम गुरुद्वारों में या उसके आसपास भांगड़ा नहीं करते।”

करतारपुर साहिब कॉरिडोर को औपचारिक रूप से भारत और पाकिस्तान द्वारा खोले जाने के बाद, एक पाकिस्तानी चैनल ने सिखों का अपमान करके विवाद पैदा कर दिया है। जियो न्यूज उर्दू के एक व्यंग्यात्मक कार्यक्रम (स्किट) में करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन का जश्न मनाते दिखाया गया। लेकिन, उन्हें इस तरह से दिखाया गया जैसे वो सिख समुदाय के लोगों और सिख धर्म का अपमान कर रहे हों।

चैनल पर कार्यक्रम की शुरुआत में सिख समुदाय की वेशभूषा में लोग अभिनय करते दिखे। इसमें कई पुरुष और महिलाएँ भी शामिल थीं। बता दें कि इसमें अभिनय करने वाले एक शख़्स को नवजोत सिंह सिद्धू की नकल करते भी देखा गया। चैनल ने इस कार्यक्रम को इस तरह से दिखाया कि जैसे उसमें सिख लोग किसी जोकर के सेट पर हों और भांगड़ा कर रहे हों। लाल पगड़ी पहनने वाले नकली सिखों में से एक को सनकी व्यक्ति के रूप में प्रस्तुत किया गया, जो महिला एंकर के साथ छेड़खानी करने का प्रयास करता है और उसे गले लगाने की भी कोशिश करता है। कार्यक्रम सिखों का एक कैरिकेचर प्रस्तुत करता है, जो समुदाय के लिए अपमानजनक है।

इस कार्यक्रम की निंदा करते हुए राजिंदर पुरी नाम के एक व्यक्ति ने लिखा, “सिख समुदाय को जोकर के रूप में पेश करने की कोशिश मत करो। विदेशों में रहने वाले सभी सिख इस वीडियो को पसंद नहीं कर रहे।” इसके अलावा, तरणजीत वालिया ने कहा, “हम गुरुद्वारों में या उसके आसपास भांगड़ा नहीं करते।”

दिल्ली से अकाली दल के विधायक मनजिंदर एस सिरसा ने इस वीडियो पर आपत्ति जताते हुए कहा कि पाकिस्तान में सिख विरोधी प्रचार जारी है। उन्होंने कहा कि यह स्किट सिखों को कार्टून के रूप में दिखाता है, जो सिखों की भावनाओं को बहुत आहत करता है। उन्होंने पाकिस्तान के पीएम इमरान ख़ान से इस तरह की स्किट को न दिखाने का आदेश दिया और ऐसे एजेंडा-सेटरों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने का आग्रह किया।

करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करते इमरान ने पूछा- हमारा सिद्धू किधर है, मनमोहन आ गया?

मेरे दोस्त इमरान ने करतारपुर कॉरिडोर में ‘अल्लाह का काम’ किया है: सिद्धू

‘1971 में यहाँ भारत ने गिराया था बम’ – करतारपुर में बोर्ड लगाकर पाकिस्तान भड़का रहा सिख भावना

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इस्लामी कट्टरपंथी काटते रहे और हिंदू आत्मरक्षा भी न करें… आखिर ये किस तरह की ‘शांति’ चाहता है TOI

भारत आज उथल-पुथल के दौर से गुजर रहा है। इस्लामवादियों के हौसले भी लगातार बढ़ रहे हैं और वे लोगों को धमकियाँ दे रहे हैं।

‘ह्यूमैनिटी टूर’ पर प्रोपेगेंडा, कश्मीर फाइल्स ‘इस्लामोफोबिक’: द क्विंट को विवेक अग्निहोत्री ने किया बेनकाब

"हम इन फे​क FACT-CHECKERS को नजरअंदाज करते थे, लेकिन सच्ची देशभक्ति इन देशद्रोही Urban Naxals (अर्बन नक्सलियों) को बेनकाब करना और हराना है।”

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
204,341FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe