Thursday, June 13, 2024
Homeदेश-समाजरेलवे में 4 लाख युवाओं को मिलेगा रोज़गार: रेल मंत्री पीयूष गोयल

रेलवे में 4 लाख युवाओं को मिलेगा रोज़गार: रेल मंत्री पीयूष गोयल

ख़ास बात ये है कि 2 लाख 30 हज़ार नए पदों पर होने वाली भर्ती में आर्थिक रूप से कमज़ोर सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को 10% आरक्षण दिया जाएगा। ये भर्ती 2 चरणों में होगी। पहले चरण में 1 लाख 31 हज़ार 428 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफ़िकेशन जारी किया जाएगा।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने देश के नौजवानों के लिए नौकरियों के रूप में एक बड़ी सौगात दी है। पीयूष गोयल ने कहा, “पिछले साल हमने डेढ़ लाख लोगों को नौकरी देने का अवसर प्रदान किया था। अगले दो वर्षों में रेलवे सेवानिवृति से होने वाली वैकेंसी और अन्य वैकेंसी को मिलाकर कुल 4 लाख लोगों को नौकरी देने जा रहा है।”

उन्होंने कहा, “रेलवे में 2 लाख 30 हज़ार और वेकैंसी निकाली जाएगी। रेलवे में अभी 1 लाख 32 हज़ार पद खाली है। दो साल में 1 लाख लोग और रिटायर होने वाले हैं। लिहाज़ा पुरानी ग्रुप सी और ग्रुप डी की वेकैंसी और इस बार जो वेकैंसी रेलवे निकालने जा रहा है, उसको मिला दें तो रेलवे 2 साल में लगभग 4 लाख नई नौकरियाँ प्रदान करेगा।”

जानकारी के लिए बता दें कि साल 2018 में Railway Recruitment Board (RRB) ग्रुप सी एएलपी, टेक्नीशियन के 60 हज़ार से ज़्यादा पदों की वैकेंसी निकली गई थी। इसके अलावा पिछले वर्ष ही ग्रुप डी के 62 हज़ार 907 पदों पर भी वैकेंसी निकाली गई थी। अभी ग्रुप सी और ग्रुप डी दोनों ही भर्तियों की प्रक्रिया चल रही है।

ख़ास बात ये है कि 2 लाख 30 हज़ार नए पदों पर होने वाली भर्ती में आर्थिक रूप से कमज़ोर सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को 10% आरक्षण दिया जाएगा। ये भर्ती 2 चरणों में होगी। पहले चरण में 1 लाख 31 हज़ार 428 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफ़िकेशन जारी किया जाएगा। ये नोटिफ़िकेशन फ़रवरी या मार्च में जारी होने की सम्भावना है। जबकि दूसरे चरण में 99 हज़ार पदों पर भर्ती के लिए मई-जून 2020 में नोटिफ़िकेशन जारी किया जाएगा।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, “नौजवानों का जोश भारतीय रेल की सेवा में काम आए, और भारतीय रेल भी उसी जोश के साथ और अधिक सुविधाजनक व अच्छी बने। इसके लिये हम युवाओं का स्वागत करते हैं।”

भर्तियों की घोषणा के अलावा उन्होंने पिछली सरकारों को निशाने पर लेते हुए कहा, “यदि पिछ्ली सरकारों ने आज की तरह रेलवे में भारी निवेश किया होता तो आज देशवासियों को जो समस्या हो रही है वो नहीं हुई होती। इस सरकार ने जहाँ जितनी आवश्यकता है, उस पर फ़ोकस करते हुए योजनाबद्ध तरीक़े से काम किया। जिसका परिणाम आने वाले समय में देश के सामने होगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेता खाएँ मलाई इसलिए कॉन्ग्रेस के साथ AAP, पानी के लिए तरसते आम आदमी को दोनों ने दिखाया ठेंगा: दिल्ली जल संकट में हिमाचल...

दिल्ली सरकार ने कहा है कि टैंकर माफिया तो यमुना के उस पार यानी हरियाणा से ऑपरेट करते हैं, वो दिल्ली सरकार का इलाका ही नहीं है।

पापुआ न्यू गिनी में चली गई 2000 लोगों की जान, भारत ने भेजी करोड़ों की राहत (पानी, भोजन, दवा सब कुछ) सामग्री

प्राकृतिक आपदा के कारण संसाधनों की कमी से जूझ रहे पापुआ न्यू गिनी के एंगा प्रांत को भारत ने बुनियादी जरूरतों के सामान भेजे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -