Wednesday, July 6, 2022
Homeराजनीतिकपिल सिब्बल और 'पत्रकारों को Bitch कहने वाली' उनकी पत्नी कोर्ट में तलब, बरखा...

कपिल सिब्बल और ‘पत्रकारों को Bitch कहने वाली’ उनकी पत्नी कोर्ट में तलब, बरखा दत्त ने किया है केस

मामला तिरंगा टीवी से जुड़ा हुआ है। बरखा दत्त ने बताया था कि सिब्बल की पत्नी द्वारा चलाए जा रहे इस चैनल में भयावह हालात हैं। उनका कहना था कि जनता के बीच में खुद को बिलकुल साफ़ दिखाने वाला व्यक्ति पत्रकारों के साथ घिनौना बर्ताव कर रहा है।

पत्रकार बरखा दत्त ने तिरंगा टीवी के प्रमोटर्स कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल और उनकी पत्नी प्रोमिला सिब्बल के ख़िलाफ़ सिविल सूट दायर किया है। इस मामले में दोनों पति-पत्नी को समन जारी किया गया है। बरखा दत्त की तरफ से पटियाला हाउस कोर्ट में वकील राघव अवस्थी पेश हुए। उन्होंने सिब्बल दम्पति को समन जारी किए जाने का स्वागत किया। उन्होंने उम्मीद जताई कि यह तो बस एक शुरुआत है और आगे इस केस में उन्हें और भी सफलता मिलने वाली है। अवस्थी ने एक ट्वीट के माध्यम से यह जानकारी साझा की।

बरखा दत्त ने कहा कि यह सिद्धांतों की लड़ाई है। उन्होंने वकील राघव अवस्थी को धन्यवाद दिया और कहा कि अब गेंद कोर्ट के पाले में है। इससे पहले बरखा दत्त ने तिरंगा टीवी पर आरोप लगाया था कि तिरंगा टीवी के सभी कर्मचारियों को बिना किसी पूर्व-सूचना के और बिना कम्पनशेटरी सैलरी दिए निकाल बाहर किया गया।

बरखा दत्त ने पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल को निशाना बनाते हुए लिखा था कि वे और उनकी पत्नी द्वारा चलाए जा रहे तिरंगा टीवी में भयावह स्थिति है। उन्होंने बताया था कि चैनल द्वारा 200 से ज्यादा कर्मचारियों को बिना 6 महीने की सैलरी दिए निकाल दिया गया है। उनका कॉन्ग्रेस नेता कपिल सिब्बल को लेकर कहना था कि एक व्यक्ति जो जनता के बीच में खुद को बिलकुल साफ़ दिखाता है, वो पत्रकारों के साथ घिनौना बर्ताव कर रहा है।

कपिल सिब्बल की पत्नी के रवैए को बरखा ने आधार बनाकर कहा था कि मीट फैक्टरी चलाने वाली प्रोमिला सिब्बल तिरंगा TV के ऑफिस में चिल्लाकर कहती थीं कि उन्होंने मजदूरों को एक पैसा दिए बिना फैक्टरी बंद कर दी थी तो ये पत्रकार कौन होते हैं 6 महीने की सैलरी माँगने वाले! बरखा ने आरोप लगाया था कि कपिल सिब्बल की पत्नी महिला कर्मचारियों को “बिच (Bitch या कुतिया)” कह कर बुलाती थीं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

SC/ST आरक्षण लागू नहीं कर रहा जामिया, आयोग ने कुलपति नजमा अख्तर को किया तलब: दलित शिक्षक से कहा – बर्तन धो, चाय बनाओ

जातिगत अत्याचार के मामले में 'राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग' ने जामिया मिलिया इस्लामिया के कुलपति को तलब किया है। SC/ST आरक्षण बंद करने का मामला।

‘बोल देना नशे में था…’: राजस्थान पुलिस का Video वायरल; अजमेर दरगाह के जिस खादिम ने माँगी नूपुर शर्मा की गर्दन, उसे बताया ‘बचाव...

खादिम सलमान चिश्ती कह रहा है कि वो नशा नहीं करता, लेकिन इसके बावजूद राजस्थान पुलिस उससे कहती है, "बोल देना नशे में था, ताकि बचाया जा सके।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
204,106FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe