Saturday, July 31, 2021
Homeराजनीतियोगेंद्र यादव का दावा: अबकी बार 272 पार, आएगा तो मोदी ही

योगेंद्र यादव का दावा: अबकी बार 272 पार, आएगा तो मोदी ही

उन्होंने स्वीकार किया कि 6 महीनें पहले उन्होंने संकेत दिया था कि बीजेपी को 100 सीटों का घाटा हो सकता है।

लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम को लेकर एक कौतूहल का माहौल होना लाज़मी है। उसके पीछे वजह यही है कि हर कोई यह जानना चाहता है कि देश में आख़िर सरकार किसकी बनेगी। कई लोगों ने तो अभी से यह दावा करना शुरू कर दिया है कि 2019 में पीएम मोदी ही वापसी करेंगे और जनता-जनार्दन उन्हीं के हाथों देश की बागडोर सौंपेगी।

इधर, आम आदमी पार्टी छोड़कर स्वराज इंडिया पार्टी की नींव रखने वाले योगेन्द्र यादव ने एक वेबसाइट को बताया कि प्रधानमंत्री मोदी के सत्ता में वापसी के तीन रास्ते हैं। उन्होंने स्वीकार किया कि 6 महीने पहले उन्होंने संकेत दिया था कि बीजेपी को 100 सीटों का घाटा हो सकता है। लेकिन, बालाकोट एयरस्ट्राइक का बाद स्थिति बदल गई है। आज की स्थिति में अब बीजेपी बढ़त की ओर आगे बढ़ गई है। योगेंद्र यादव ने NDA को 272 सीटों का आंकड़ा पार करने का संकेत दिया।

इससे पहले योगेंद्र यादव ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के समय भी नतीजों को लेकर कहा था कि आम आदमी पार्टी दिल्ली विधानसभा चुनाव में लगभग 40 सीटें जीतेगी और हो सकता है कि यह 50 का आँकड़ा भी पार कर जाए। इसके बाद जो परिणाम सामने आया वो वास्तव में चौंकाने वाला था। आम आदमी पार्टी ने 70 में से 67 सीटें जीत कर सरकार बनाई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फ्लाईओवर के ऊपर ‘पैदा’ हो गया मज़ार, अवैध अतिक्रमण से घंटों लगता है ट्रैफिक जाम: देश की राजधानी की घटना

ताज़ा घटना दिल्ली के आज़ादपुर की है। बड़ी सब्जी मंडी होने की वजह से ये इलाका जाना जाता है। यहाँ के एक फ्लाईओवर पर अवैध मजार बना दिया गया है।

लाल किला के उपद्रवियों को कानूनी सहायता, पैसे भी: पंजाब की कॉन्ग्रेस सरकार ने बनाई कमिटी, चुनावी फायदे पर नजर?

पंजाब की कॉन्ग्रेस सरकार ने लाल किला के उपद्रवियों को कानूनी सहायता के साथ वित्तीय मदद भी देने की योजना बनाई है। 26 जनवरी को हुई थी हिंसा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,105FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe