Thursday, May 23, 2024
Homeदेश-समाज14 साल का था महेश, नग्न कर पेड़ से बाँध दिया: आठ साल बाद...

14 साल का था महेश, नग्न कर पेड़ से बाँध दिया: आठ साल बाद लोहे की जंजीरों से आजाद होने की जगी आस

महेश के पिता प्रागजी ओलकिया ने बताया कि उनका बेटा मानसिक रूप से बीमार है। इसके चलते वह हिंसक हो जाता है। ऐसे में अगर कोई उसके पास जाता है तो वह पथराव शुरू कर देता है।

गुजरात के राजकोट ज‍िले में पिछले आठ सालों से एक व्यक्ति नग्न अवस्था में एक पेड़ में लोहे की जंजीरों में बँधा हुआ है। रोंगटे खड़े कर देने वाली यह घटना बोटाद तालुका के सर्वा गाँव की है। यहाँ 22 वर्षीय महेश ओलकिया बीते आठ सालों से एक पेड़ से बँधे हुए अपना जीवन जी रहा है। सर्दी हो, गर्मी या फिर बरसात, कोई भी उन पर रहम नहीं दिखाता है। लेकिन एक सामाजिक कार्यकर्ता के प्रयासों की बदौलत महेश को जल्द ही अपना अपना जीवन गौरव के साथ जीने का मौका मिल सकता है।

बताया जाता है कि आठ साल पहले महेश ने लोगों से हिंसक व्यवहार करना शुरू कर दिया था। हर क‍िसी को मारना, उस पर पत्‍थर फेंकना उसकी आदत बन गई थी। ऐसे में गरीबी से त्रस्त झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले परिवार ने अपने बेटे को 14 साल की उम्र में ही नग्न अवस्था में एक पेड़ से बाँध दिया था। महेश के पिता प्रागजी ओलकिया ने बताया कि उनका बेटा मानसिक रूप से बीमार है। इसके चलते वह हिंसक हो जाता है। ऐसे में अगर कोई उसके पास जाता है तो वह पथराव शुरू कर देता है। उन्‍होंने यह भी कहा क‍ि हम बहुत गरीब हैं और उसके इलाज या उसे कहीं भी रखने के लिए हमारे पास कोई संसाधन नहीं है। इसलिए, हमने उसे एक पेड़ से जंजीर से बाँधकर रखा हुआ है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, यूट्यबू पर खजुभाई के नाम से मशहूर सोशल मीडिया कॉमेडियन नितिन जानी को हाल ही में अपने सोशल मीडिया हैंडल पर इस परिवार के बारे में जानकारी मिली थी। इसके बाद वह उस परिवार से मिलने उनके गाँव गए थे। नितिन जानी को लोग सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में भी जानते हैं। इससे पहले भी उन्होंने बेसहारा और गरीब परिवारों की मदद की है।

परिवार और मानसिक रूप से बीमार महेश से मिलने के बाद जानी बताया क‍ि हमने गाँव के बाहरी इलाके में परिवार के लिए एक घर बनाया है। हमने वहाँ ब‍िजली और पंखे की व्यवस्था भी की है। महेश को खाना-पानी भी दिया है। वह मौजूदा समय में हिंसक है। इसलिए हम एक-दो दिन में उसे इलाज के लिए किसी साइकोलॉज‍िस्‍ट के पास ले जाएँगे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

रोहिणी आचार्य के पहुँचने के बाद शुरू हुई हिंसा, पूर्व CM का बॉडीगार्ड लेकर घूम रही थीं: बिहार पुलिस ने दर्ज की 7 FIR,...

राबड़ी आवास पर उपस्थित बॉडीगार्ड और पुलिसकर्मियों से पूरे मामले में पूछताछ की इस दौरान विशेष अधिकारी मौजूद रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -