Wednesday, July 6, 2022
Homeराजनीतिजहाँ आसमान से गिराए गए थे हथियार, वहाँ ममता पर बरसे PM मोदी: मारे...

जहाँ आसमान से गिराए गए थे हथियार, वहाँ ममता पर बरसे PM मोदी: मारे गए BJP कार्यकर्ताओं के परिजनों से भी मिले

ममता बनर्जी के 'खेला होबे' नारे पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारा नारा है- विकास होबे। बाटला हाउस एनकाउंटर के समय के बयान भी ममता को याद दिलाए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (18 मार्च 2021) को पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में रैली की। ममता बनर्जी सरकार की नाकामी गिनाते हुए उन्होंने कहा कि इस सरकार के अब गिनती के दिन बचे हैं। पुरुलिया वही जगह है, जहाँ 1995 में रूस के एक कार्गो प्लेन से हथियार गिराए गए थे।

रैली के दौरान प्रधानमंत्री ने मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिजनों से भी मुलाकात की। उन्होंने तृणमूल कॉन्ग्रेस को भ्रष्टाचार का पर्याय बताते हुए कहा कि TMC का अर्थ ट्रांसफर माय कमीशन होता है, जबकि हम डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर की बात करते हैं। यही हमारी और उनकी सोच का अंतर है।

ममता बनर्जी के ‘खेला होबे’ नारे पर हमला करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारा नारा है- विकास होबे। बाटला हाउस एनकाउंटर से जुड़े एक मामले में आए फैसले का जिक्र करते हुए ममता को उनके बयान भी याद दिलाए। बंगाल के पुरुलिया में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि लोकसभा चुनाव में टीएमसी हाफ हो गई थी। इस बार वह पूरी तरह साफ हो जाएगी। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी अपनी झल्लाहट उन पर निकाल रही हैं। लेकिन, हमारे लिए वह भारत की करोड़ों बेटियों में से एक हैं। उनका सम्मान हमारी संस्कृति का हिस्सा है।

पुरुलिया की सांस्कृतिक विरासत को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यह पवित्र भूमि है। लेकिन आज यहाँ पानी तक की किल्लत हो गई है। पहले वामपंथियों ने यहाँ उद्योग-धंधे पनपने नहीं दिए। इसके बाद टीएमसी की उपेक्षा ने पुरुलिया की पहचान देश के सबसे पिछड़े इलाके के तौर पर बना दी है। उन्होंने कहा कि इन लोगों ने पुरुलिया को दिया- जल संकट। पुरुलिया को दिया- पलायन। इन लोगों ने पुरुलिया के गरीबों को दिया- भेदभाव भरा शासन।

PM मोदी ने कहा कि इस क्षेत्र में टूरिज्म की भरपूर सम्भावनाएँ हैं। बीजेपी की सरकार आने पर यहाँ के हैंडिक्राफ्ट को बढ़ावा दिया जाएगा। जल संकट का समाधान होगा। बंगाल के हर हिस्से को रेलवे और रोड नेटवर्क से जोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि 2 मई के बाद यहाँ बीजेपी सरकार बनेगी तो विकास में तेजी आएगी।

गौरतलब है कि बंगाल में आठ चरणों में विधानसभा चुनाव होने हैं। पहले चरण में 30 सीटों पर 27 मार्च को वोट डाले जाएँगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अभिव्यक्ति की आज़ादी सिर्फ हिन्दू देवी-देवताओं के लिए क्यों?’: सत्ता जाने के बाद उद्धव गुट को याद आया हिंदुत्व, प्रियंका चतुर्वेदी ने सँभाली कमान

फिल्म 'काली' के पोस्टर में देवी को धूम्रपान करते हुए दिखाया गया है। जिस पर विरोध जताते हुए शिवसेना ने कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता हिंदू देवताओं के लिए ही क्यों?

‘किसी और मजहब पर ऐसी फिल्म क्यों नहीं बनती?’: माँ काली का अपमान करने वालों पर MP में होगी कार्रवाई, बोले नरोत्तम मिश्रा –...

"आखिर हमारे देवी देवताओं पर ही फिल्म क्यों बनाई जाती है? किसी और धर्म के देवी-देवताओं पर फिल्म बनाने की हिम्मत क्यों नहीं हो पाती है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,883FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe