Thursday, April 15, 2021
Home राजनीति योगी सरकार ने अल्पसंख्यक युवाओं को दिया तोहफ़ा, जानिए UP Budget से जुड़ी ख़ास...

योगी सरकार ने अल्पसंख्यक युवाओं को दिया तोहफ़ा, जानिए UP Budget से जुड़ी ख़ास बातें

योगी सरकार ने अपने बजट में बिजली के लिए भी ₹29883.05 करोड़ ख़र्च करने की घोषणा की है, जो कि पिछले साल की तुलना में 54 फ़ीसदी ज़्यादा है।

उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने विधानसभा में आम बजट पेश किया। सरकार की तरफ़ से बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने ₹4.28 लाख करोड़ का बजट पेश किया।

यूपी सरकार द्वारा पेश किए गए बजट का आकार पिछले साल की तुलना में लगभग 11.4% अधिक है। यूपी सरकार के मुताबिक़ यह अभी तक का सबसे बड़ा बजट है। इस बार के बजट में सरकार ने कृषि, शिक्षा, रोज़गार और गौ-रक्षा से जुड़े कई मुद्दों पर विशेष ध्यान दिया गया। आइए जानते हैं योगी सरकार द्वारा पेश किए गए बजट की ख़ात बातें-

  • उत्तर प्रदेश सरकार ने अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र व छात्राओं के छात्रवृत्ति योजना के लिए सरकार ने ₹942 करोड़ ख़र्च करने की घोषणा की है, जबकि अरबी और फ़ारसी मदरसों के आधुनिकरण के लिए ₹459 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं।
  • सरकार द्वारा पेश किए गए बजट में उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ में अवस्थापना सुविधाओं के लिए
    ₹125 करोड़ , अयोध्या में प्रमुख पर्यटन स्थलों के समेकित विकास हेतु ₹101 करोड़, गढ़मुक्तेश्वर के पर्यटक स्थलों की समेकित विकास के लिए 27 करोड़, पर्यटन नीति 2018 के क्रियान्वयन के लिए ₹70 करोड़ और पर्यटकों के लिए ₹50 करोड़ की व्यवस्था की गई है।
  • सरकार ने संरचनात्मक विकास के लिए भी सही से बजट उपलब्ध कराया है। योगी सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के लिए ₹5156 करोड़, अमृत योजना के लिए ₹2200 करोड़, स्मार्ट सिटी मिशन योजना के लिए दो हजार करोड़ रुपए, स्वच्छ भारत मिशन शहरी योजना हेतु ₹1500 करोड़ , मुख्यमंत्री नगरी अल्प विकसित व मलिन बस्ती विकास के लिए
    ₹426 करोड़, पंडित दीनदयाल उपाध्याय आदर्श नगर पंचायत योजना के लिए ₹200 करोड़ के बजट की व्यवस्था की है।
  • राज्य के विकास में बिजली की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ऐसे में योगी सरकार ने अपने बजट में बिजली के लिए भी ₹29883.05 करोड़ ख़र्च करने की घोषणा की है, जो कि पिछले साल की तुलना में 54 फ़ीसदी ज़्यादा है।
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने कृषि के आधुनिकीकरण पर भी ज़ोर दिया है। यही वजह है कि सरकार ने प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों के कम्प्यूटरीकरण हेतु ₹31 करोड़ की बजट व्यवस्था की है। किसानों को कम ब्याज़ दर पर फसली ऋण उपलब्ध कराने हेतु सब्सिडी योजना के तहत
    ₹200 करोड़ ख़र्च करने की बात कही है।
  • कृषि के क्षेत्र में सिंचाई की परियोजनाओं के विकास पर भी सरकार ने ज़ोर दिया है। बुंदेलखंड की 8 ज़रूरी सिंचाई परियोजनाओं, बाढ़ नियंत्रण और जल निकासी की अच्छी व्यवस्था के लिए
    ₹ 10938.19 करोड़ ख़र्च करने की बात सरकार ने कही है। यह बजट पिछली बार की तुलना में 54 फ़ीसदी ज़्यादा है।
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में भी पिछले साल की तुलना में ज़्यादा बजट का ऐलान किया है। यूपी बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित विद्यालयों में कक्षा 1 से 8 तक के छात्र छात्राओं को नि:शुल्क 1 जोड़ी जूते, 2 जोड़ी मोजे, एक स्वेटर उपलब्ध कराए जाने हेतु ₹300 करोड़, प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों के छात्र छात्राओं को नि;शुल्क यूनीफॉर्म वितरण हेतु ₹40करोड़, वन टांगिया ग्रामों में प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों की स्थापना हेतु ₹5 करोड़ की व्यवस्था की गई है। वित्तीय वर्ष 2019- 20 में स्कूल बैग वितरण हेतु ₹110 करोड़ की व्यवस्था योगी सरकार ने कर दी है।
  • आम आदमी बीमा योजना हेतु ₹10 करोड़ , ‘प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना’ हेतु
    ₹130 करोड़ 60 लाख तथा प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के लिये ₹4 करोड़ 75 लाख ख़र्च करने की बात कही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सुशांत सिंह राजपूत पर फेक न्यूज के लिए AajTak को ऑन एयर माँगनी पड़ेगी माफी, ₹1 लाख जुर्माना भी: NBSA ने खारिज की समीक्षा...

AajTak से 23 अप्रैल को शाम के 8 बजे बड़े-बड़े अक्षरों में लिख कर और बोल कर Live माफी माँगने को कहा गया है।

‘आरोग्य सेतु’ डाउनलोड करने की शर्त पर उमर खालिद को जमानत, पर जेल से बाहर ​नहीं निकल पाएगा दिल्ली के हिंदू विरोधी दंगों का...

दिल्ली दंगों से जुड़े एक मामले में उमर खालिद को जमानत मिल गई है। लेकिन फिलहाल वह जेल से बाहर नहीं निकल पाएगा। जाने क्यों?

कोरोना से जंग में मुकेश अंबानी ने गुजरात की रिफाइनरी का खोला दरवाजा, फ्री में महाराष्ट्र को दे रहे ऑक्सीजन

मुकेश अंबानी ने अपनी रिफाइनरी की ऑक्सीजन की सप्लाई अस्पतालों को मुफ्त में शुरू की है। महाराष्ट्र को 100 टन ऑक्सीजन की सप्लाई की जाएगी।

‘अब या तो गुस्ताख रहेंगे या हम, क्योंकि ये गर्दन नबी की अजमत के लिए है’: तहरीक फरोग-ए-इस्लाम की लिस्ट, नरसिंहानंद को बताया ‘वहशी’

मौलवियों ने कहा कि 'जेल भरो आंदोलन' के दौरान लाठी-गोलियाँ चलेंगी, लेकिन हिंदुस्तान की जेलें भर जाएंगी, क्योंकि सवाल नबी की अजमत का है।

चीन के लिए बैटिंग या 4200 करोड़ रुपए पर ध्यान: CM ठाकरे क्यों चाहते हैं कोरोना घोषित हो प्राकृतिक आपदा?

COVID19 यदि प्राकृतिक आपदा घोषित हो जाए तो स्टेट डिज़ैस्टर रिलीफ़ फंड में इकट्ठा हुए क़रीब 4200 करोड़ रुपए को खर्च करने का रास्ता खुल जाएगा।

कोरोना पर कुंभ और दूसरे राज्यों को कोसा, खुद रोड शो कर जुटाई भीड़: संजय राउत भी निकले ‘नॉटी’

संजय राउत ने महाराष्ट्र में कोरोना के भयावह हालात के लिए दूसरे राज्यों को कोसा था। कुंभ पर निशाना साधा था। अब वे खुद रोड शो कर भीड़ जुटाते पकड़े गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

बेटी के साथ रेप का बदला? पीड़ित पिता ने एक ही परिवार के 6 लोगों की लाश बिछा दी, 6 महीने के बच्चे को...

मृतकों के परिवार के जिस व्यक्ति पर रेप का आरोप है वह फरार है। पुलिस ने हत्या के आरोपित को हिरासत में ले लिया है।

छबड़ा में मुस्लिम भीड़ के सामने पुलिस भी थी बेबस: अब चारों ओर तबाही का मंजर, बिजली-पानी भी ठप

हिन्दुओं की दुकानों को निशाना बनाया गया। आँसू गैस के गोले दागे जाने पर हिंसक भीड़ ने पुलिस को ही दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

‘कल के कायर आज के मुस्लिम’: यति नरसिंहानंद को गाली देती भीड़ को हिन्दुओं ने ऐसे दिया जवाब

यमुनानगर में माइक लेकर भड़काऊ बयानबाजी करती भीड़ को पीछे हटना पड़ा। जानिए हिन्दू कार्यकर्ताओं ने कैसे किया प्रतिकार?

जानी-मानी सिंगर की नाबालिग बेटी का 8 सालों तक यौन उत्पीड़न, 4 आरोपितों में से एक पादरी

हैदराबाद की एक नामी प्लेबैक सिंगर ने अपनी बेटी के यौन उत्पीड़न को लेकर चेन्नई में शिकायत दर्ज कराई है। चार आरोपितों में एक पादरी है।

थूको और उसी को चाटो… बिहार में दलित के साथ सवर्ण का अत्याचार: NDTV पत्रकार और साक्षी जोशी ने ऐसे फैलाई फेक न्यूज

सोशल मीडिया पर इस वीडियो के बारे में कहा जा रहा है कि बिहार में नीतीश कुमार के राज में एक दलित के साथ सवर्ण अत्याचार कर रहे।

‘अब या तो गुस्ताख रहेंगे या हम, क्योंकि ये गर्दन नबी की अजमत के लिए है’: तहरीक फरोग-ए-इस्लाम की लिस्ट, नरसिंहानंद को बताया ‘वहशी’

मौलवियों ने कहा कि 'जेल भरो आंदोलन' के दौरान लाठी-गोलियाँ चलेंगी, लेकिन हिंदुस्तान की जेलें भर जाएंगी, क्योंकि सवाल नबी की अजमत का है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,218FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe