Saturday, July 31, 2021
Homeविविध विषयअन्यकश्मीर: पुल शॉट लगाते वक़्त युवा क्रिकेटर जहाँगीर के गर्दन में लगी गेंद, मौत

कश्मीर: पुल शॉट लगाते वक़्त युवा क्रिकेटर जहाँगीर के गर्दन में लगी गेंद, मौत

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सतपाल मलिक ने युवा खिलाड़ी की मौत पर गहरा दु:ख जताते हुए उसके परिजनों को पाँच लाख रुपए सहायता राशि देने का ऐलान किया है।

एक युवा कश्मीरी क्रिकेटर की मौत गर्दन पर गेंद लगने से हो गई। मृतक जहाँगीर अहमद वार 11वीं कक्षा का छात्र था। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सतपाल मलिक ने युवा खिलाड़ी की मौत पर गहरा दु:ख जताते हुए उसके परिजनों को पाँच लाख रुपए सहायता राशि देने का ऐलान किया है।

यह घटना उत्तरी कश्मीर के बारामुला ज़िले के पट्टन इलाक़े में एक मैच के दौरान हुई। 18 वर्षीय जहाँगीर बारामुला क्रिकेट क्लब के लिए खेलता था।

ख़बर के अनुसार, पट्टन के नानिल खेल मैदान में अनंतनाग ज़िले के खेल विभाग की तरफ़ से बुधवार (11 जुलाई) को एक प्रतियोगिता आयोजित की गई थी। इस प्रतियोगिता में बारामुला और बड़गाम के बीच मैच खेला जा रहा था। मैच के दौरान गोशबाग पट्टन निवासी गवर्नमेंट हायर सेकेंडरी स्कूल का छात्र जहाँगीर बैटिंग कर रहा था। बाएँ हाथ के इस बल्लेबाज ने पुल शॉट खेलने की कोशिश की, लेकिन दुर्भाग्य से गेंद उसके गले में जा लगी। इसके बाद वो वहीं मैदान में गिर गया।

जहाँगीर को अचेत अवस्था में तुरंत मट्टन उपजिला अस्पताल ले जाया गया, जहाँ डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस घटना पर खेल महानिदेशक सलीम-उर-रहमान ने बताया कि क्रिकेटर ने हेलमेट पहन रखा था, लेकिन गेंद नाज़ुक जगह पर लगी थी। उन्होंने बताया कि इस घटना से सभी बहुत आहत हैं, तमाम कोशिशों के बावजूद हम उभरते खिलाड़ी को बचाने में असमर्थ रहे। युवा सेवाएँ एवं खेल विभाग के सचिव सरमद हफ़ीज़ ने दिवंगत के परिवार को हरसंभव सहायता देने की बात कही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

हिंदू मंदिरों की संपत्तियों का दूसरे धर्म के कार्यों में नहीं होगा उपयोग, कर्नाटक में HRCE ने लगाई रोक

कर्नाटक के हिन्दू रिलीजियस एण्ड चैरिटेबल एंडोवमेंट्स (HRCE) विभाग द्वारा जारी किए गए आदेश में यह कहा गया है कि हिन्दू मंदिर से प्राप्त किए गए फंड और संपत्तियों का उपयोग किसी भी तरह के गैर -हिन्दू कार्य अथवा गैर-हिन्दू संस्था के लिए नहीं किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,211FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe