Friday, July 1, 2022
Homeसोशल ट्रेंड'सड़क पटाखे फोड़ने के लिए नहीं है': CEAT के वीडियो में आमिर खान का...

‘सड़क पटाखे फोड़ने के लिए नहीं है’: CEAT के वीडियो में आमिर खान का ‘ज्ञान’, लोगों ने पूछा – नमाज और पत्थरबाजी के लिए है?

"मान्यवर, CEAT, PETA... ये लोग केवल हिन्दुओं को ही बेतुकी सलाह देते हैं। ये कंपनियाँ हिन्दू धर्म को निशाना बना रही हैं। अब बहुत हुआ। ये कहने की हिम्मत है कि सड़क नमाज के लिए नहीं है?"

बॉलीवुड अक्सर अपने हिन्दू विरोधी रवैये के कारण जाना जाता है। महाशिवरात्रि पर दूध बचाने, होली पर पानी बचाने और दीवाली पर पटाखे न फोड़ने का ज्ञान दिया जाता है। ‘कन्यादान’ प्रथा को बदनाम किया जाता है। ईद में एक दिन में लाखों पशुओं की हत्या पर ये कुछ नहीं बोलते, लेकिन दीवाली पर इनके कुत्ते डर जाते हैं। अब आमिर खान ने नए CEAT के विज्ञापन से विवाद हुआ है, जिसमें वो पटाखे को लेकर ज्ञान दे रहे हैं।

दीपवाली के मद्देनजर टायर कंपनी CEAT ने पिछले दो सप्ताह में दो विज्ञापन जारी किए। इनमें से एक 19 सितंबर, 2021 को जारी किया गया। इसमें आमिर खान किसी क्रिकेट टीम के समर्थक बने हुए हैं और कहते हैं, “अनार, सुतली बम, चकरघिन्नी – आज अगर हमारी टीम छक्के छुड़ाती है तो हम भी पटाखे छुड़ाएँगे। लेकिन कहाँ? सोसाइटी के अंदर। सड़क पटाखे फोड़ने के लिए नहीं हैं। ट्रैफिक के लिए है।”

इसके बाद बैकग्राउंड से आवाज़ आती है कि एक दिन हम ऐसे समझदार बन जाएँगे, लेकिन तब तक के लिए… इसके बाद दिखाया जाता है कि एक कार सड़क पर फँसी हुई है और लोग पटाखे फोड़ रहे हैं। दीपावली के पहले इस तरह का विज्ञापन लाने के लिए लोग CEAT की आलोचना करते हुए पूछ रहे हैं कि सड़क पर पटाखे फोड़ने को लेकर ज्ञान देने वाले आमिर खा क्या ये कहेंगे कि सड़क नमाज के लिए नहीं है?

इस दौरान लोगों ने जुमे की तस्वीरें शेयर की, जिसमें सड़क पर सैकड़ों की संख्या में मुस्लिम समाज के लोग ट्रैफिक जाम कर के जमा पढ़ते हुए देखे जा सकते हैं। साथ ही कहा कि ईद के वक़्त वो इस तरह का विज्ञापन लाकर मुस्लिमों को सलाह दें कि सड़क इसके लिए नहीं है। कविता नाम की यूजर ने लिखा, “मान्यवर, CEAT, PETA… ये लोग केवल हिन्दुओं को ही बेतुकी सलाह देते हैं। ये कंपनियाँ हिन्दू धर्म को निशाना बना रही हैं। अब बहुत हुआ।”

26 सितंबर, 2021 को CEAT के एक अन्य विज्ञापन में आमिर खान एक हिन्दू शादी में दिख रहे हैं, जहाँ वो लोगों से कह रहे हैं कि जो भी पटाखे फोड़े जाएँगे वो फुटपाथ पर, सड़क पर ये सब नहीं किया जाएगा। इसमें वो कहते हैं, “सड़क, ट्रैफिक के लिए है।” लोगों ने कहा कि इससे आमिर खान और CEAT ये साबित करना चाहते हैं कि दीपावली और हिन्दुओं की शादियों में पटाखों से ट्रैफिक जाम लगता है।

पत्रकार महेश विक्रम हेगड़े ने इस वीडियो को शेयर करते हुए कहा, “हम सब को पता है कि सड़क पर जाम कौन लगाता है।” वहीं कुछ लोगों ने पत्थरबाजी करते इस्लामी कट्टरपंथियों की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा कि थोड़ा सा ज्ञान आमिर खान इन्हें भी दे दें। शेफाली वैद्य ने भी पूछा कि क्या CET को ये कहने की हिम्मत है कि सड़क नमाज के लिए नहीं होती? लोगों ने CEAT के बहिष्कार की भी अपील की।

ऐसा ही एक उदाहरण अभी हाल में मान्यवर के एड के दौरान भी देखने को मिला। इसमें बॉलीवुड एक्ट्रेस आलिया भट्ट को दिखाते हुए यह बताया गया कि कैसे कन्यादान करना एक पिछड़ेपन को दिखाता है जबकि ‘कन्यामान’ एक बढ़िया विकल्प है। एड में जैसे हिंदू परंपरा को पिछड़ा दिखाया गया है और बताने की कोशिश हुई है लड़कियों को हमेशा से शादी के समय दान की तरह दिया जाता रहा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे, नहीं थी किसी को कल्पना’: राजनीति के धुरंधर एनसीपी चीफ शरद पवार भी खा गए गच्चा, कहा- उम्मीद थी वो...

शरद पवार ने कहा कि किसी को भी इस बात की कल्पना नहीं थी कि एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का सीएम बना दिया जाएगा।

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,269FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe