Saturday, July 24, 2021
Homeसोशल ट्रेंडगणेश भगवान की मूर्ति पटक-पटक कर तोड़ रही बुर्का पहने महिला: वीडियो वायरल, इस्लामी...

गणेश भगवान की मूर्ति पटक-पटक कर तोड़ रही बुर्का पहने महिला: वीडियो वायरल, इस्लामी कट्टरपंथी मना रहे जश्न

बुरका पहने दो महिलाएँ एक दुकान में। उनसे सटे ही हिंदू देवताओं (खासकर भगवान गणेश की) की मूर्तियाँ एक रैक पर। दोनों महिलाओं में से एक वहाँ रखी मूर्तियों को एक-एक कर उठाती है और फिर उन्हें फर्श पर फेंक कर तोड़ती जाती है। इसके बाद इसका जश्न भी मनाया जाता है और...

एक दुकान में भगवान गणेश की मूर्तियों को तोड़ने वाली बुर्का पहने एक महिला का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। नीचे आप उस वीडियो को देख सकते हैं।

वीडियो में, बुरका पहने दो महिलाओं को पास में खड़े देखा जा सकता है। उनसे सटे ही हिंदू देवताओं (खासकर भगवान गणेश की) की मूर्तियाँ एक रैक पर रखी हुई हैं। दोनों महिलाओं में से एक वहाँ रखी मूर्तियों को एक-एक कर उठाती है और फिर उन्हें फर्श पर फेंक कर तोड़ती जाती है।

किसी मॉल या दुकान के अंदर शूट हुआ यह वीडियो जल्द ही वायरल हो जाता है। इसके बाद इस्लामी कट्टरपंथियों ने मूर्तियों को तोड़ने और ऐसा करने के लिए महिला को प्रोत्साहित करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया।

इनमें से कुछ लोगों की राय दिलचस्प भी रही। उनके अनुसार मूर्तियों केवल तभी तोड़ा जाना चाहिए जब अल्लाह इसकी आज्ञा दे। अल्लाह कैसै आज्ञा देगा, यह नहीं बताया। और हाँ, ऐसे लोगों के अनुसार अल्लाह से सीधे निर्देश के बिना मूर्तियों को तोड़ना अनुचित है।

ट्विटर के अलावा फेसबुक पर भी बहरीन की इस महिला के ‘साहस’ को जम कर सलाम किया गया।

फेसबुक पर मोदी, संप्रदाय विशेष, बीफ तक ले गए लोग इस बहस को

इस्लामी कट्टरपंथियों ने फेसबुक पर भी इसका जश्न मनाया। नीचे के दो स्क्रीनशॉट इसके उदाहरण हैं।

मूर्ति तोड़ने पर वाहवाही और प्रोत्साहन!
अल्लाह हू अकबर – भीड़ हो या दंगा या मूर्ति-भंजन… यह आवाज कट्टरपंथियों के मुँह से निकल ही आती है

इस पूरे प्रकरण में अंततः एक अच्छी खबर आई। बहरीन के गृह मंत्रालय ने वायरल वीडियो के बारे में एक बयान जारी किया। बयान के अनुसार स्थानीय पुलिस ने 54 वर्षीय महिला को जानबूझकर एक दुकान में धार्मिक मूर्तियों को तोड़ने के लिए समन (बुलावा भेजा) किया है। मंत्रालय ने कहा है कि इस मामले में कानूनी कार्यवाही चल रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कीचड़ मलती ‘गोरी’ पत्रकार या श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग… समाज/मदद के नाम पर शुद्ध धंधा है पत्रकारिता

श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग और जलती चिताओं की तस्वीरें छापकर यह बताने की कोशिश की जाती है कि स्थिति काफी खराब है और सरकार नाकाम है।

ओलंपिक में मीराबाई चानू के सिल्वर मेडल जीतने पर एक दुःखी वामपंथी की व्यथा…

भारत की एक महिला भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने टोक्यो ओलंपिक में वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल जीता है। ये विज्ञान व लोकतंत्र के खिलाफ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,987FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe