Monday, July 4, 2022
Homeसोशल ट्रेंडचंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर लगे मैप में जम्मू-कश्मीर का हिस्सा पाकिस्तान का दिखाया,...

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर लगे मैप में जम्मू-कश्मीर का हिस्सा पाकिस्तान का दिखाया, नेटिजन्स की लताड़ के बाद एलुमिनी सेक्शन हटाया

"प्रिय पंजाब पुलिस, कृपया भारत का अधूरा नक्शा अपनी वेबसाइट पर डालने और पाकिस्तान में लद्दाख और कश्मीर के कुछ हिस्सों को दिखाने के लिए चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू करें।"

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी अपने पूर्व छात्रों के कारण विवादों में है। नेटिजन्स ने बुधवार (15 जून 2022) को यूनिवर्सिटी को जानकारी दी कि उनके एलुमनी सेक्शन (Alumni Section) में भारत का गलत नक्शा दिखता है। इसमें उन्होंने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को पाक का हिस्सा बताया है। ट्विटर पर यह जानकारी सबसे पहले यूजर root3vil ने दी। उन्होंने पेज का एक स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए पूछा, “अरे चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, क्या आप पीओके को भारत का हिस्सा नहीं मानते हैं?”

इसके बाद कई नेटिजन्स ने उनके पोस्ट पर प्रतिक्रिया व्यक्त की और उन छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की माँग की। सुप्रीम कोर्ट के वकील शशांक शेखर झा ने पंजाब पुलिस को टैग करते हुए कहा, “प्रिय पंजाब पुलिस, कृपया भारत का अधूरा नक्शा अपनी वेबसाइट पर डालने और पाकिस्तान में लद्दाख और कश्मीर के कुछ हिस्सों को दिखाने के लिए चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू करें।”

लेखक अरिन कुमार शुक्ला लिखते हैं, “देश में इस तरह के नक्शों का इस्तेमाल प्रतिबंधित होना चाहिए। यह न केवल भारत विरोधी है, बल्कि हमारे कश्मीरी भाइयों और बहनों की भावनाओं को भी आहत करता है।” शुक्ला ने अपने ट्वीट में गृह मंत्री अमित शाह, गृह मंत्रालय और पीएमओ को भी टैग किया।

नेटिजन दुर्गेश कुमार लाठ ने गृह मंत्री अमित शाह को टैग करते हुए कहा, “क्या इसे ठीक किया जा सकता है? ऐसा कई बार होता है, या तो भूल से या जानबूझ कर? कॉरपोरेट/शैक्षणिक संस्थानों/व्यक्तियों को सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए नक्शे का उपयोग करना चाहिए।”

ट्विटर यूजर श्रीनिवास ने कहा, “चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी शर्म करो! डीजीपी चंडीगढ़ पुलिस, गृह मंत्री अमित शाह, गृह मंत्रालय दोषियों पर सख्त और तत्काल कार्रवाई करें। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी का बेहद गैर-जिम्मेदाराना रवैया इस देश की युवा पीढ़ी को बिगाड़ने के लिए जिम्मेदार है।”

मौके का फायदा उठाते हुए पाकिस्तानी यूजर्स इस पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करने लगे। पाकिस्तान में अलीगोगा नाम के एक ट्विटर यूजर ने कहा, “चंडीगढ़ विश्वविद्यालय भी जानता है कि कश्मीर पाकिस्तान का है।” हालाँकि, उसने अपने ट्वीट में गलत ट्विटर हैंडल को टैग किया।

पाकिस्तानी यूजर का ट्वीट। साभार: ट्विटर।

सोशल मीडिया पर फैले आक्रोश के बाद चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने एलुमनी सेक्शन (Alumni section) को हटा दिया है। नेटिजन्स द्वारा गलत नक्शे की जानकारी देने के बाद हमने इसकी सत्यता की पुष्टि की। ​हमने देखा कि विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट से (Alumni Section) इसे हटा दिया गया है, क्योंकि वेबसाइट का यह पेज अब ओपन नहीं हो रहा है।

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की वेबसाइट से एलुमनी सेक्शन को हटा दिया गया है। साभार: चंडीगढ़ विश्वविद्यालय की वेबसाइट

हालाँकि, पेज Archive.org पर उपलब्ध है। ट्विटर पर उपलब्ध स्क्रीनशॉट और आर्काइव पेज से यह स्पष्ट है कि विश्वविद्यालय ने भारत के गलत नक्शे का इस्तेमाल किया।

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ने एलुमनी सेक्शन अब हटा दिया है। साभार: Archive.org

बता दें कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी पंजाब में स्थित एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी है। यह पंजाब यूनिवर्सिटी से किसी भी तरह से जुड़ी हुई नहीं है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

AG के पास पहुँचा TMC वाला साकेत गोखले, हमारे खिलाफ चलाना चाहता है अदालत की अवमानना का मामला: हम अपने शब्दों पर अब भी...

ऑपइंडिया की एडिटर नुपूर शर्मा के लेख की शिकायत लेकर टीएमसी नेता साकेत गोखले अटॉर्नी जनरल के पास गए हैं ताकि अदालत की अवमानना का केस चलवा सकें।

‘शौच करने गई थी, मोहम्मद जाकिर हुसैन सर पीछे-पीछे आ गए’: मिडिल स्कूल में शिक्षक ने नाबालिग छात्रा से की छेड़खानी, हुआ गिरफ्तार

बिहार के सुपौल में शिक्षक जाकिर हुसैन ने 7वीं कक्षा की लड़की के साथ छेड़छाड़ किया। परिजनों ने थाने में दर्ज कराया मामला। आरोपित गिरफ्तार।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,064FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe