Tuesday, October 19, 2021
Homeसोशल ट्रेंडनेहरू के अस्पताल खुले, मोदी की मूर्तियाँ बंद: CORONA के बीच थरूर ने किया...

नेहरू के अस्पताल खुले, मोदी की मूर्तियाँ बंद: CORONA के बीच थरूर ने किया नेहरू का स्मरण, लोगों ने याद दिलाए मोदी के 6 साल

"मोदी ने शिक्षा के लिए क्या किया है। इसके साथ उन्होंने बताया है की वर्ष 2014 में भारत में कुल 30 विश्वविद्यालय थे जिनकी संख्या 2020 में बढ़कर 141 हो चुकी है। इसमें दिखाया गया है कि 2014 में देश में कुल आईआईटी की संख्या 8 थी और 2020 में यह बढ़कर 14 हो चुकी है। इसके साथ ही, देशभर में 2014 में कुल एम्स की संख्या 6 थी और 2020 में 12 हो चुकी है।"

देश में कैसे भी हालात हों, कॉन्ग्रेस पार्टी और इसके नेता नेहरू का स्मरण करना नहीं भूलते हैं। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा 22 मार्च को जनता-कर्फ्यू के आह्वाहन के बाद सोशल मीडिया से लेकर राजनीतिक दलों में ख़ास हलचल नजर आई है। लेकिन पीएम मोदी के कल शाम के संबोधन से कुछ ही देर पहले इसी हलचल में अपनी उपस्थिति दर्ज करने वालों में से एक हैं शशि थरूर!

शशि थरूर ने कोरोना महामारी के बीच भी नेहरू भक्ति में कोई ढील नहीं दी और फ़ौरन ट्विटर के माध्यम से नेहरू की भक्ति में एक फोटो ट्वीट करते हुए लिखा- “बिना किसी कमेन्ट के, रीसीव किया और साझा किया।”

कॉन्ग्रेस नेता शशि थरूर द्वारा शेयर किए गए इस फोटो में लिखा था – “जो बड़ी मूर्तियाँ मोदी द्वारा बनाई गई, वो 25 मार्च तक बंद रहेंगे, जबकि जो अस्पताल नेहरू ने बनाए थे वो 24 घंटे खुले हैं।”

कॉन्ग्रेस नेता के इस ट्वीट ने कई ट्विटर यूजर्स को शशि थरूर को कुछ अन्य आँकड़े याद दिलाने पर भी मजबूर कर दिया। शशि थरूर के इस ट्वीट पर जवाब देने वालों में एक ऑपइंडिया के सीईओ राहुल रौशन भी हैं। उन्होंने थरूर के ट्वीट के जवाब में एक और फोटो ट्वीट करते हुए लिखा- “सर, मुझे भी यह मिला। और पता है, इस इमेज का साइज़ 62KB है। कृपया इसे भी बिना कुछ कहे साझा कर दीजिए।”

सोशल मीडिया पर अभिव्यक्ति की स्वतन्त्रता का इस्तेमाल करते हुए एक अन्य ट्विटर यूजर ने एक तस्वीर शशि थरूर के ट्वीट के जवाब में ट्वीट करते हुए लिखा- “मुझे मिला और बिना किसी कमेन्ट के शेयर कर रहा हूँ।” इस चित्र में एक MEME कार्टून के जरिए लीला होटल की कहानी लिखा हुआ एक सन्देश दिया गया है।

वहीं Rishi Bagri ने थरूर के जवाब में कुछ आँकड़े देते हुए लिखा है- “मोदी ने शिक्षा के लिए क्या किया है। इसके साथ उन्होंने बताया है की वर्ष 2014 में भारत में कुल 30 विश्वविद्यालय थे जिनकी संख्या 2020 में बढ़कर 141 हो चुकी है। इसमें दिखाया गया है कि 2014 में देश में कुल आईआईटी की संख्या 8 थी और 2020 में यह बढ़कर 14 हो चुकी है। इसके साथ ही, देशभर में 2014 में कुल एम्स की संख्या 6 थी और 2020 में 12 हो चुकी है। उन्होंने लिखा है कि मोदी सरकार ने यह मात्र छह वर्ष में किया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,820FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe