Tuesday, November 30, 2021
Homeसोशल ट्रेंडइजरायल के विरोध में पूर्व पोर्न स्टार मिया खलीफा: ट्वीट कर बुरी तरह फँसीं,...

इजरायल के विरोध में पूर्व पोर्न स्टार मिया खलीफा: ट्वीट कर बुरी तरह फँसीं, ‘किसान’ प्रदर्शन वाला ‘टूलकिट’ मामला

भारत में तथाकथित 'किसान' प्रदर्शनकारियों के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करने के लिए भी पूर्व पोर्न स्टार मिया खलीफा दौड़ गई थीं। अब इजरायल के खिलाफ भी। लेकिन दोनों जगह एक ही गलती कर फँस गई हैं।

इजरायल और फिलिस्तीनी आंतकियों के बीच संघर्ष लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इसी बीच शुक्रवार (14 मई 2021) को पूर्व पोर्न-स्टार मिया खलीफा ने गलती से इजरायल के विरोध में एक बिना एडिट किया हुआ पोस्ट ट्वीट कर दिया। उनकी इस गलती पर सोशल मीडिया पर नेटिजन्स ने उन्हें घेर लिया।

दरअसल, फिलिस्तीनी आतंकी समूह हमास की तरफ से जारी हमलों के बीच इजरायल की जवाबी कार्रवाई में गाजा में अब तक 137 लोगों की मौत हो चुकी है। मारे गए लोगो में हमास का कमांडर और उसके कई साथी भी शामिल हैं। गाजा के अंदर इस्लामिक आतंकी समूहों के खिलाफ हवाई हमले करने के लिए पूर्व पोर्न-स्टार मिया खलीफा ने इजरायल और अमेरिका के खिलाफ ट्विटर का सहारा लिया है।

एक ट्वीट में खलीफा ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन पर हमला करते हुए कहा कि उन्हें स्कूलों और रिफ्यूजी कैंप में मरने वालों से ज्यादा नेतन्याहू को अपने पुराने सैन्य हथियारों को बेचने की चिंता सता रही है।

यहाँ खास बात यह है कि अपने ट्वीट के अंत में मिया खलीफा ने लिखा कि ट्वीट भेजें (send tweet)। हालाँकि, शुरुआत में सोशल मीडिया यूजर्स इसे समझ नहीं पाए कि आखिर वह कहना क्या चाहती हैं? लेकिन थोड़ी बाद नेटिजन्स को यह बात समझ आ गई कि वह ये सब किसके तहत कर रही हैं।

सोशल मीडिया यूजर्स ने बताया कि मिया खलीफा का इजरायल की निंदा करने वाला लेटेस्ट ट्वीट एक “वेल प्लान्ड ट्वीटस्टॉर्म” का हिस्सा हो सकता है। खलीफा ने अनजाने में एक बिना एडिट किया हुआ ट्वीट पोस्ट करके खुद को सोशल मीडिया पर बेनकाब कर दिया। कई यूजर्स का मानना है कि वह कुछ इजरायल विरोधी अभियान का हिस्सा हो सकती हैं।

एक यूजर्स ने कहा कि मिया खलीफा ने फिलिस्तीन के लिए कोई दुख नहीं जताया है, इसके बजाय वह इजरायल विरोधी ट्वीट पोस्ट कर रही थी, जो शायद उन्हें ट्विटर ‘टूलकिट’ के रूप में भेजे गए थे।

सोशल मीडिया पर अपनी गलती सबके सामने आने के बाद मिया खलीफा ने अजीब सा स्पष्टीकरण देकर अपना बचाव करने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि मुझे ये लगा कि ट्वीट भेजें का मतलब वह ट्वीट है, जिसे इंटरनेट की भाषा में पूर्ण विराम के लिए यूज किया जाता है।

बता दें कि यह पहली बार नहीं है, जब मिया खलीफा इस तरह के पेड सोशल मीडिया ट्रेंड में शामिल हुई हैं। इससे पहले भी वह भारत में तथाकथित किसान प्रदर्शनकारियों के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करने के लिए अमेकिन पॉप सिंगर रिहाना और पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग के साथ सोशल मीडिया पर सामने आई थीं। उन्होंने किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट किए थे और सरकार के विरुद्ध सोशल मीडिया पर जमकर रिएक्शन दिया था, जिसको लेकर एक्टिव यूजर्स ने जोरदार प्रतिक्रिया व्यक्त की थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,690FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe