Sunday, June 16, 2024
Homeसोशल ट्रेंड82 वर्षीय सास को बेहरमी से मारने वाली महिला हुई गिरफ्तार, Video वायरल होने...

82 वर्षीय सास को बेहरमी से मारने वाली महिला हुई गिरफ्तार, Video वायरल होने के बाद उठी थी कार्रवाई की माँग

कई जानी-मानी हस्तियों ने इस मामले पर संज्ञान लिया। भाजपा नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने भी इसे अपने ट्विटर पर शेयर किया और इस पर अधिक जानकारी माँगी। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने भी इस वीडियो को शेयर करते हुए प्रताड़ित महिला की मदद करने का आश्वासन दिया।

सोशल मीडिया पर पिछले दिनों इंसानियत को शर्मसार करती एक वीडियो वायरल हुई। इस वीडियो में एक बुजुर्ग महिला को दूसरी औरत डस्टपैन से मारती देखी गई। वीडियो को लेकर दावा किया गया कि वह औरत वृद्धा की बहु है। इस बर्बरता को देख सोशल मीडिया पर बहु की गिरफ्तारी की माँग उठने लगी। अब ताजा खबर है कि हरियाणा पुलिस ने आखिरकार इस महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

अपनी 82 वर्षीय सास को प्रताड़ित करने वाली इस बहु का नाम सरोज है और ये सारी घटना हरियाणा के सोनिपत सेक्टर 23 की है। महिला के अलावा उसकी माँ को भी गिरफ्तार किया गया है। रिपोर्ट्स के अनुसार, इस संबंध में महिला के पति ने ही अपनी माँ को प्रताड़ित करने के आरोप में उसके ख़िलाफ़ शिकायत करवाई थी। इसके बाद इस मामले को कई आईपीसी धाराओं के तहत दर्ज किया गया।

मीडिया सूत्रों से यह पता चला है कि महिला ककरोई रोड पर बनी एक डिस्पेंसरी में एएनएम के तौर पर काम करती है। अपनी सास को पीटते हुए उसकी यह वीडियो उसके बच्चे ने मोबाइल फोन पर बनाई थी और बाद में इसे उसने अपने पिता को भेज दिया।

कई जानी-मानी हस्तियों ने इस मामले पर संज्ञान लिया। भाजपा नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने भी इसे अपने ट्विटर पर शेयर किया और इस पर अधिक जानकारी माँगी। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने भी इस वीडियो को शेयर करते हुए प्रताड़ित महिला की मदद करने का आश्वासन दिया।

इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट वकील प्रतीक सोम ने भी इस मामले को उठाया है। सरोज की गिरफ्तारी के बाद उन्होंने इस संबंध में ट्वीट भी किया। उन्होंने बताया कि यह वीडियो सरोज के बच्चे ने एक्सीडेंटली बना ली थी।

गौरतलब है कि इस वीडियो के सोशल मीडिया पर सामने आने के बाद लोगों की तरह-तरह की प्रतिक्रियाएँ आई थी। यूजर्स ने इस महिला को जेल में डालकर वृद्धा की मदद और पुनर्वास की गुहार लगाई थी।

लोगों का कहना है कि जो महिला घर में बुजुर्गों का स्वास्थ्य नहीं देख पा रही, वो स्वास्थ्य विभाग में बैठी है। इसी तरह एक महिला लिखतीं हैं कि ऐसी महिलाएँ समाज में यातनाओं को जन्म देती हैं, अगली पीढी भी इनके दिखाए कदमों पर ही चलेगी। बुढापे में अकेलापन ऐसी यातना और घुटन से बहुत बेहतर हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

कर्नाटक में बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: लोकसभा चुनाव खत्म होते ही कॉन्ग्रेस ने शुरू की ‘वसूली’, जनता पर टैक्स का भार बढ़ा कर...

अभी तक बेंगलुरु में पेट्रोल 99.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था, लेकिन नए आदेश के बाद बढ़ी हुई कीमतें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -