Saturday, October 1, 2022
Homeसोशल ट्रेंडकुणाल कामरा का फैन है अ#ह के नाम पर सर कलम करते रहने की...

कुणाल कामरा का फैन है अ#ह के नाम पर सर कलम करते रहने की धमकी देने वाला नदीम सैयद

सोशल मीडिया पर नदीम को लेकर व उसके कुणाल कामरा के फैन लिस्ट में शामिल होने पर लोग तरह तरह के सवाल उठा रहे हैं। एक यूजर ने लिखा है, "देश कोई भी हो पर इन शांतिदूतों की सोच एक ही होती है।"

पेरिस में इस्लामी कट्टरपंथ का शिकार हुए इतिहास के शिक्षक सैमुअल पैटी (Samuel Paty) को आज पूरा फ्रांस श्रद्धांजलि दे रहा है। देश के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने भी घटना के बाद साफ संदेश दिया है कि वह इस्लामी कट्टरता के सामने नहीं झुकेंगे। लेकिन इसके जवाब में नदीम सैयद ने कहा है कि वो अल्लाह के नाम पर सर कलम करते रहेंगे। नदीम के सोशल मीडिया इतिहास से पता चलता है कि वो कुनाल कामरा का भी फैन है।

राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने 22 अक्टूबर को ट्वीट करते हुए कहा– “हम नहीं रुकेंगे प्रोफ़ेसर (We will continue, professor)”। उनके इस ट्वीट पर देश विदेश से सैंकड़ों प्रतिक्रियाएँ आईं। इनमें कुछ कट्टरपंथियों की भी थी और कई भारतीय भी शामिल थे। इन्हीं में से एक नाम निकल कर आया नदीम सैयद।

नदीम सैयद, भारत से भी है और उन लोगों में भी शामिल है जिन्होंने ट्वीट पर अपनी कट्टर मानसिकता का परिचय दिया। इसने फ्रांस राष्ट्रपति के ट्वीट के जवाब में लिखा, “इंशाअल्लाह, हम सर कलम करते रहेंगे। (We will continue to behead, God willing)”

इस ट्वीट को देखने के बाद कई लोग हैरान रह गए और सक्रिय ट्विटर यूजर्स ने इसकी जानकारी जुटानी शुरू की। BefittingFacts नाम से ट्विटर यूजर ने नदीम सैयद की प्रोफाइल देखते हुए पाया कि ये नदीम सैयद जो पैगंबर का अपमान करने वालों के सिर कलम करने की धमकियाँ सरेआम दे रहा है, वह तो कथित कॉमेडियन कुणाल कामरा का फैन है। 

जी हाँ, नदीम ने इसी साल जून में कुणाल की क्लिप शेयर करते हुए लिखा था, “मेरा पसंदीदा” इस कैप्शन के साथ उसने तीन हँसने वाले इमोजी भी लगाए थे।

अब इसी कुणाल कामरा के फैन का रिप्लाई (जो फ्रांस राष्ट्रपति के ट्वीट पर दिया) वायरल होने लगा है। नदीम सैयद ने लोगों की प्रतिक्रिया देखने के बाद अपनी प्रोफाइल भी डिसेबल कर ली है। लेकिन, सोशल मीडिया पर नदीम को लेकर व उसके कुणाल कामरा के फैन लिस्ट में शामिल होने पर लोग तरह तरह के सवाल उठा रहे हैं। एक यूजर ने लिखा है, “देश कोई भी हो पर इन शांतिदूतों की सोच एक ही होती है।”

एक यूजर का कुणाल कामरा जैसे लोगों से पूछना है कि क्या नदीम सैयद इस्लाम का समर्थक ही है? क्योंकि उसके मुताबिक तो इस्लाम शांति का मजहब है और नदीम ने उसे गलत साबित कर दिया।

बता दें कि वामपंथी प्रोपगेंडाबाजों के प्रति ऐसे कट्टरपंथियों का झुकाव समय समय पर देखने को मिलता रहता है। पिछले दिनों हमने देखा था कि हिंदू देवी देवताओं को गाली देने वाली हीर खान रवीश कुमार, अभिसार शर्मा और पुण्य प्रसून्न वाजपेयी की कट्टर समर्थक थी। वह अपने दर्शकों से अपील भी करती थी कि जाकर इन पत्रकारों को फॉलो करें। हालाँकि, यह कहना सम्भव नहीं होगा कि ऐसे लोगों के आदर्श क्या इन्हें इस कट्टरता के लिए प्रेरित करते हैं या फ्री ये लोग स्व-प्रेरणा से ऐसा फैसला लेते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दुर्गा पूजा कार्यक्रम में गरबा करता दिखा मुनव्वर फारूकी, सेल्फी लेने के लिए होड़: वीडियो आया सामने, लोगों ने पूछा – हिन्दू धर्म का...

कॉमेडी के नाम पर हिन्दू देवी-देवताओं को गाली देकर शो करने वाला मुनव्वर फारुकी गरबा के कार्यक्रम में देखा गया, जिसके बाद लोग आक्रोशित हैं।

धर्म ही नहीं जमीन भी गँवा रहे हिंदू: कब्जे की भूमि पर चर्च-कब्रिस्तान से लेकर मिशनरी स्कूल तक, पहाड़ों का भी हो रहा धर्मांतरण

जमीनी स्थिति भयावह है। सरकारी से लेकर जनजातीय समाज की जमीनों पर ईसाई मिशनरियों का कब्जा है। अदालती आदेशों के बाद भी जमीन खाली नहीं हो रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,570FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe