Monday, September 27, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'कंगाल' पाकिस्तान ने की भारत के मदद की पेशकश: लिबरल गैंग हुआ लहालोट, स्वरा...

‘कंगाल’ पाकिस्तान ने की भारत के मदद की पेशकश: लिबरल गैंग हुआ लहालोट, स्वरा को दिखा ‘बड़ा दिल’

स्वरा भास्कर ने पाकिस्तान के मदद के ऑफर पर ट्वीट किया, "इस कठिन समय में पाकिस्तानी नागरिक समाज और सोशल मीडिया पर भारत के प्रति एकजुटता और दयालुता देखकर अच्छा लगा। बावजूद इसके कि हमारे मीडिया और मुख्यधारा के सार्वजनिक प्रवचनों ने पाकिस्तानियों का लगातार मजाक उड़ाया है। धन्यवाद बड़े दिल वाले पड़ोसी।"

भारत में कोरोना वायरस के कहर के बीच हालात बदतर होते जा रहे हैं। अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के कारण लगातार हालात गंभीर हैं। केंद्र सरकार इस हालात से निपटने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (25 अप्रैल 2021) को देशभर में 551 अतिरक्त पीएसए ऑक्सीजन प्लांट लगाने को मंजूरी दी है।

इस बीच बहती गंगा में हाथ धोने की कोशिश करते हुए खुद भूखों मर रहे पाकिस्तान ने भारत को मदद आश्वासन दिया है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि वह भारत को जरूरी मेडिकल सामान देना चाहता है। इसमें कहा गया है कि कोरोना महामारी की इस संकट की घड़ी में हम मदद के तौर पर भारत को वेंटिलेटर, बाईपैप मशीनें, डिजिटल एक्सरे मशीन, पीपीई किट और जरूरी मेडिकल सामान देना चाहते हैं।

इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शनिवार (24 अप्रैल 2021) को ट्वीट कर भारत के साथ एकजुटता जाहिर की थी। साथ ही कोरोना पीड़ितों के जल्द ठीक होने की कामना भी की थी। उन्होंने कहा था कि हमें मानवता के साथ मिलकर इस वैश्विक चुनौती से लड़ना होगा।

जबकि, कंगाल पाकिस्तान के हाल खुद बहुत बुरे हैं। वर्ल्ड ओ मीटर की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान में बीते 24 घंटे के दौरान 5611 नए संक्रमित मिले हैं। वहाँ रविवार (25 अप्रैल 2021) को कोरोना संक्रमितों की संख्या 79,5,627 थी। जबकि, 17 हजार से अधिक मौतें हुई हैं। वहाँ कोरोना के चलते हालात ऐसे हो गए हैं कि अस्पतालों में ऑक्सीजन और बेड्स नहीं मिल रहे हैं।

इस्लामाबाद स्थित पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (PIMS) में बेड कम पड़ने और ऑक्सीजन की कमी के चलते सर्जरी रोक दी गई है और कंगाल पड़ोसी भारत को मदद देने की बात करके अंतरराष्ट्रीय समुदाय की नजर में अपने आपको सही साबित करने की कोशिश कर रहा है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने हालात ऐसे ही रहने पर लॉकडाउन लगाने की चेतावनी दी है। पड़ोसी देश में कोरोना के हालात कितने भयावह हैं उसे इस बात से समझा जा सकता है कि इमरान खान ने सेना को हालात नियंत्रित करने के लिए उतार दिया है।

इसके अलावा पड़ोसी देश खुद गृह युद्ध के हालात से जूझ रहा है। वहाँ का कट्टरपंथी धार्मिक संगठन तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान में खून की होली खेल रहा है। हाल ही इस कट्टर इस्लामी संगठन ने पाकिस्तान में कई जगह तोड़फोड़ और आगजनी की थी। हालात इतने ज्यादा खराब हो गए थे कि पाकिस्तान ने देश में Facebook, Twitter, Tiktok, WhatsApp और YouTube जैसी सोशल मीडिया साइट्स पर बीते 16 अप्रैल 2021 को प्रतिबंध लगा दिया था।

इससे पहले पिछले साल भी पाकिस्तान की सेना के खिलाफ सिंध प्रांत की पुलिस ने बगावत कर दी थी। पुलिस ने नवाज शरीफ के दामाद रिटायर्ड कैप्टन मुहम्मद सफदर की गिरफ्तारी के बाद बगावत का बिगुल फूँक दिया था। ‘सिंध पुलिस और पाकिस्तान सेना के बीच इस दौरान हुई गोलीबारी में कराची के 10 पुलिस अधिकारी भी मारे गए थे।

फेक न्यूज़ पेडलर स्वरा भास्कर को पाकिस्तान में दिखा बड़ा दिल

हालाँकि, पाकिस्तान के इस प्रोपागैंडा में भारत के लेफ्ट लिबरल गैंग की मेंबर अभिनेत्री स्वरा भास्कर को “बड़ा दिल” दिखा। स्वरा भास्कर ने पाकिस्तान के मदद के ऑफर पर ट्वीट किया, “इस कठिन समय में पाकिस्तानी नागरिक समाज और सोशल मीडिया पर भारत के प्रति एकजुटता और दयालुता देखकर अच्छा लगा। बावजूद इसके कि हमारे मीडिया और मुख्यधारा के सार्वजनिक प्रवचनों ने पाकिस्तानियों का लगातार मजाक उड़ाया है। धन्यवाद बड़े दिल वाले पड़ोसी।”

हालाँकि, भारत अब तक दुनियाभर के 70 से अधिक देशों को वैक्सीन मैत्री के तहत कोरोना की वैक्सीन भेज चुका है, लेकिन वामपंथियों और कथित लिबरल्स ने कभी इसकी तारीफ नहीं की। बल्कि इस पर हमेशा सवाल खड़े करने की कोशिश की। देश में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चल रहा है, लेकिन एक बार भी वामपंथियों ने इसकी सराहना नहीं की और पाकिस्तान ने दुष्प्रचार करने के इरादे से मदद की बात। इससे ये फूले नहीं समा रहे हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देश से अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता सरमा ने पेश...

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

‘टोटी चोर’ के बाद मार्केट में AC ‘चोर’, कन्हैया ‘क्रांति’ कुमार का कॉन्ग्रेसी अवतार

एक 'आंगनबाड़ी सेविका' का बेटा वातानुकूलित सुख ले! इससे अच्छे दिन क्या हो सकते हैं भला। लेकिन सुख लेने के चक्कर में कन्हैया कुमार ने AC ही उखाड़ लिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,789FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe