Thursday, June 20, 2024
Homeसोशल ट्रेंडमिया खलीफा के लिए एक जैसी है सेना और पॉर्न इंडस्ट्री, शरीर बेचने को...

मिया खलीफा के लिए एक जैसी है सेना और पॉर्न इंडस्ट्री, शरीर बेचने को आर्मी में सेवा देने से बेहतर बताया: सैनिकों की तुलना OnlyFans से कर फँसी

"मेरे बयान पर एतराज जताने वाले सभी लोगों के लिए कि सेना में रहना में 'ओनली फैन्स' रहने से भी बदतर है क्योंकि आप अपना शरीर सरकार को बेच रहे हैं - हम दोनों इस देश की सेवा कर रहे हैं!"

अपने अजीबोगरीब और हैरान कर देने वाले सोशल मीडिया बयानों से हमेशा सुर्खियों में रहने वाली पूर्व पॉर्न स्टार मिया खलीफा फिर चर्चा में है। उन्होंने अब सेना और पॉर्न इंडस्ट्री को एक जैसा बताने वाला अपना बीते साल का एक पुराना वीडियो अपने ‘X’ (पूर्व में ट्विटर) हैंडल पर शनिवार (11 नवंबर, 2023) को अमेरिका के वेटर्नस डे (Veterans Day) पर रिपोस्ट किया है।

वेटरन्स डे पर साझा किए गए इस वीडियो में, मिया खलीफा के विवादास्पद बयान के साथ एक परेशान दिख रहे आर्मी ऑफिसर की क्लिप भी थी। इससे से एक विरोधाभास पैदा हो गया। उनके इस वीडियो ने सोशल मीडिया पर बहस को बढ़ावा दिया। इराक युद्ध और अमेरिकी विरोधी भावनाओं पर कॉमेडियन मार्सेला अर्गुएलो के विचारों ने खलीफा के रिपोस्ट की इस वीडियो क्लिप को उकसा दिया है। इससे सोशल मीडिया पर रिएक्शन की बाढ़ आ गई है।

हाल ही में मिया ने फिलिस्तीनियों का समर्थन करते हुए इज़रायल को बुरा-भला कहा था। इसे लेकर ‘Playboy’ मैगजीन ने मिया खलीफा को बाहर का रास्ता दिखाया तो रेडियो होस्ट, रेड लाइट हॉलैंड भी उसे काम से निकाल चुके हैं। अब उनके इस रिपोस्ट को लेकर भी खासा विवाद छिड़ गया है। सोशल मीडिया यूजर इस वीडियो पर बँट गए हैं। कई लोग खलीफा के अपने विचारों को जाहिर करने का समर्थन करते दिखते हैं।

खलीफा के वीडियो को पर एक शख्स ने जवाब दिया, “ये उस महिला का कहना है जो हमारी दी गई आजादी को भुनाते हुए पैसे के लिए अपने खुद के जिस्म को उघाड़ती है। आपने (मिया) कभी भी अपने सिवाय किसी और के लिए कुछ भी बलिदान नहीं किया है। दुखद है कि आप एक इंसान के तौर बहानेबाजी करती हैं।”

अब आलम ये है कि ये बहस सार्वजनिक हस्तियों के साथ खलीफा की बातचीत तक चली गई है। रेडियो होस्ट और रेसलिंग एक्सपर्ट पीटर रोसेनबर्ग के साथ एक निजी बातचीत को खलीफा ने खुद के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सार्वजनिक किया था। रोसेनबर्ग ने इस मामले में खलीफा के नजरिए को बेतुका और हास्यास्पद बताया था।

इस दौरान कुछ लोग ऐसे भी है जो आर्मी सर्विस और ‘ओनली फैन्स’ के बीच तुलना के खलीफा को कोस रहे हैं। दरअसल लेट नाइट टॉक शो ज़िवे में जुलाई 2022 में अपने शरीर को ‘ओनली फैन्स’ पर बेचने से जुड़े शो की होस्ट ज़िवे फुमुदोह के एक सवाल पर मिया ने ऐसा जवाब दिया था कि वो विवादों में घिर गई थीं।

दरअसल ओनलीफैन्स लंदन, यूनाइटेड किंगडम की इंटरनेट सामग्री मेंबरशिप सर्विस है। इसका इस्तेमाल खासकर पॉर्नोग्राफी के लिए सेक्स वर्कर करते हैं। हालाँकि, ये यह फिजिकल फिटनेस एक्सपर्ट्स और म्यूजिशियन के काम को भी होस्ट करता है।

तब मिया खलीफा ने ये तक कह डाला था कि इंटरनेट पर अपना शरीर बेचना सैनिक होने की मुकाबले बेहतर है। इस बयान हो हल्ला मचने पर मिया ने कहा था, “मेरे बयान पर एतराज जताने वाले सभी लोगों के लिए कि सेना में रहना में ‘ओनली फैन्स’ रहने से भी बदतर है क्योंकि आप अपना शरीर सरकार को बेच रहे हैं – हम दोनों इस देश की सेवा कर रहे हैं! आपको क्या लगता है कि उन्होंने उस वक्त हौसला बढ़ाने के लिए क्या भेजा था? अधिक सैनिक, या स्कर्ट में मर्लिन मुनरो?”

उन्होंने तर्क दिया था कि कोई भी काम अगर आप करते हैं तो वह शरीर को बेचना ही होता है। तब भी मिया के सेना में आप सरकार को अपना शरीर बेच रहे होते हैं वाले बयान पर लोगों के मिले जुले रिएक्शन थे।

हालाँकि इस सारे मामले में खलीफा ने फिलिस्तीन का समर्थन करने और अपने कारोबारी फैसलों को लेकर बचाव का रुख अपनाया है। उन्होंने कहा कि यहूदियों को लेकर अपने कारोबारी रिश्तों को पहले ही न परखने पर उन्हें खेद हैं। खलीफा के अतीत के बयानों के फिर से सामने आने से ऐसी बातचीत फिर से शुरू हो गई है जो एडल्ट मनोरंजन के दायरे से परे पहुँच गई है। ये बहस अब राजनीतिक तौर से प्रेरित दुनिया में निजी अभिव्यक्ति की जटिलताओं पर बहस करने तक चली गई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फूफा ने कहा कोटा से आ जाओ सेटिंग हो चुकी है’: NEET पेपर लीक में अनुराग यादव का कबूलनामा, कहा- परीक्षा से एक रात...

अनुराग यादव का इकबालिया बयान भी सामने आ गया है। अनुराग यादव ने अपने बयान में कहा है, उसे एक रात पहले ही प्रश्नपत्र मिल गया था।

बिहार में सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में नहीं मिलेगा 65% आरक्षण, पटना हाई कोर्ट ने लगाई रोक: कहा- इन मामलों पर संवैधानिक बेंच...

बिहार सरकार ने एससी-एसटी और ईबीसी वर्ग के लिए आरक्षण 50% से बढ़ाकर 65% किया था। पटना हाईकोर्ट ने इसे समाप्त कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -