Sunday, June 16, 2024
Homeसोशल ट्रेंडभ*#, ये नौटंकी मत कर पाँच टाइम का नमाज पढ़: योगा डे पर मोहम्मद...

भ*#, ये नौटंकी मत कर पाँच टाइम का नमाज पढ़: योगा डे पर मोहम्मद कैफ को कट्टरपंथियों ने गरियाया

आजम ने लिखा, "भाई ये नौटंकी मत कर। पॉंच टाइम नमाज पढ़ ले फुल फिट रहेगा।" उसने मजहब की ओर इशारा करते हुए कहा कि कैफ, इरफान, यूसुफ जैसों को इस नौटंकी में नहीं फॅंसना चाहिए।

मौका कोई भी पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ अपने मजहब के लोगों के निशाने पर आ ही जाते हैं। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (21 जून 2020) पर भी यही हुआ।

मोहम्मद कैफ ने योग करती अपनी तस्वीर सोशल मीडिया में शेयर की और उन पर गालियों के साथ उन्हीं के मजहब के नाम वाले यूजर्स टूट पड़े। किसी ने इसे नौटंकी कहा तो किसी ने उन्हें भ*# बता दिया।

कैफ ने ट्वीट किया, ‘खुद से प्यार कीजिए। तन, मन, आत्मा से प्यार कीजिए।’

लेकिन, इस्लामी यूजर्स को यह पसंद नहीं आया। आजम ने लिखा, “भाई ये नौटंकी मत कर। पॉंच टाइम नमाज पढ़ ले फुल फिट रहेगा।” उसने मजहब की ओर इशारा करते हुए कहा कि कैफ, इरफान, यूसुफ जैसों को इस नौटंकी में नहीं फॅंसना चाहिए।

रुओ अदनान ने मुस्लिम धर्म के खतरे की बात करते हुए, कैफ के इमाम भटकने की बात कही। साथ ही गद्दार बताते हुए कैफ के लिए अश्लील शब्दों का प्रयोग किया।

जिब्रान अहमद ने कैफ मजाक बनाते हुए कहा “अबे क्या कर रहा है।”

फारुख खान नाम के यूजर योगासन पर उन्हें भ*# कहा।

इमदाद अब्दुल्ला ने कैफ के योगा को पॉलिटिकल स्टंट करार देते हुए इसे बीजेपी से टिकट लेने की तैयारी बता डाला।

फेसबुक पर भी इसी तरह की अश्नलील टिप्पणियॉं देखने को मिली।

इंस्टाग्राम पर भी लोगों ने मजहब का हवाला देते हुए नमाज़ पढ़ने की सीख दी।

गौरतलब है कि सोशल मीडिया एक ऐसी जगह है, जहाँ अक्सर इस्लामी क़ट्टरपंथियों की मन की बात किसी न किसी जरिए सामने आती रहती है। कई मुस्लिम सेलेब्रेटी जब हिंदू त्योहारों को उत्साह के साथ मनाते दिखते हैं या फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील मानकर उसका अनुसरण करते दिखते हैं, तब अक्सर ऐसे कमेंट और मजहबी बातें उनके ट्विट्स का हिस्सा होती हैं।

कोरोना योद्धाओं के लिए कैफ द्वारा 9 मिनट मोमबत्ती जलाने पर

उल्लेखनीय है पीएम मोदी के अपील पर कैफ ने अपनी पत्नी के साथ मोमबत्ती जलाया था। साथ ही कैफ ने कोरोना योद्धाओं को धन्यवाद देते हुए अपने ट्विटर पर रात का विडियो को शेयर भी किया था। मगर, प्रधानमंत्री की बात को मानता देख समुदाय विशेष के कुछ लोग बिदक गिए और उन पर भद्दी और अश्लील टिप्पणियों के ढेर लगा दिए।

जनता कर्फ़्यू का पालन और थाली बजाना भी पड़ा था महँगा

कट्टरपंथियों ने कैफ को जनता कर्फ्यू पर नरेंद्र मोदी की अपील का पालन करता देख भी उलटा-सीधा बोला था। किसी ने उन्हें ताली-थाली बजाने पर कोसा था। तो किसी ने उन्हें अल्लाह से दुआ करने की सलाह दी थी। एक ने तो उन्हें यहाँ तक कहा था, “कैफ भाई, भाभी और आप थाली और बर्तन लेकर रेलवे पर जाओ और नौकरी करो। हिजड़ा की तरह पैसा मिलेंगे बहुत आपको। थाली और ताली बजाते रहो।”

कट्टरपंथियों को नहीं भाया खुद को सुदामा कहना

एक बार तो कैफ द्वारा अपने आप को सुदामा और क्रिकेट के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को भगवान कृष्ण का दर्जा देने पर भी कट्टरपंथियों ने उन्हें खूब खरी-खोटी सुनाई थी। कुछ ने उनके खिलाफ फ़तवा जारी करने की भी बात कही थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K में योग दिवस मनाएँगे PM मोदी, अमरनाथ यात्रा भी होगी शुरू… उच्च-स्तरीय बैठक में अमित शाह का निर्देश – पूरी क्षमता लगाएँ, आतंकियों...

2023 में 4.28 लाख से भी अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा अमरनाथ का दर्शन किया था। इस बार ये आँकड़ा 5 लाख होने की उम्मीद है। स्पेशल कार्ड और बीमा कवर दिया जाएगा।

परचून की दुकान से लेकर कई हजार करोड़ के कारोबार तक, 38 मुकदमों वाले हाजी इक़बाल ने सपा-बसपा सरकार में ऐसी जुटाई अकूत संपत्ति:...

सहारनपुर में मिर्जापुर का रहने वाला मोहम्मद इकबाल परचून की दुकान से काम शुरू कर आगे बढ़ता गया। कभी शहद बेचा, तो फिर राजनीति में आया और खनन माफिया भी बना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -