Thursday, January 20, 2022
Homeसोशल ट्रेंडअनुराग-कंगना में वार: रणवीर शौरी ने बिना नाम लिए कश्यप को कहा- बॉलीवुड के...

अनुराग-कंगना में वार: रणवीर शौरी ने बिना नाम लिए कश्यप को कहा- बॉलीवुड के कई इंडिपेंडेंट फिल्म योद्धा बन चुके हैं चाटुकार

रणवीर शौरी ने इस ट्वीट में किसी का नाम तो नहीं लिखा लेकिन यूजर ने इसे अनुराग कश्यप से रिलेट करना शुरू कर दिया। जिसके बाद अनुराग कश्यप ने भी रणवीर से सवाल पूछते हुए लिखा, "क्या तुम सच में ऐसा समझते हो रणवीर शौरी? अगर हाँ तो इसे एक्सप्लेन करना। सही से बताना तुम क्या कहना चाहते हो? और कौन किसका चाटुकार बन गया है?"

बॉलीवुड में इन दिनों भाई- भतीजावाद पर बहस छिड़ी हुई है। इस मामले में सबकी अपनी अलग राय है। ऐसे में बॉलीवुड के कुछ कलाकार इस मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय सामने रख रहे हैं। कंगना रनौत ने इन दिनों बॉलीवुड के कई एक्टर्स और डायरेक्टर्स को निशाने पर लिया है। इस बीच अनुराग कश्यप ने कंगना रनौत को सलाह दे डाली कि लोग उनका इस्तेमाल कर रहे हैं। जिसके बाद टीम कंगना ने उन्हें ‘मिनी महेश भट्ट’ का नाम दे दिया।

अब इस मामले में रणवीर शौरी की भी एंट्री हो चुकी है। रणवीर शौरी ने बिना नाम लिए लिखा, “बॉलीवुड के कई इंडिपेंडेंट फिल्म योद्धा अब मेनस्ट्रीम बॉलीवुड के चाटुकार बन चुके हैं। ये वही लोग हैं जो 24/7 लोगों का ध्यान खींचने के लिए सिस्टम के बारे में खुलकर बातें करते थे। जब तक इन्हें चमकते गेट से बॉलीवुड में एंट्री नहीं मिली थी। कुछ ज्यादा पाखंड नहीं है?”

हालाँकि, रणवीर शौरी ने इस ट्वीट में किसी का नाम तो नहीं लिखा लेकिन यूजर ने इसे अनुराग कश्यप से रिलेट करना शुरू कर दिया। जिसके बाद अनुराग कश्यप ने भी रणवीर से सवाल पूछते हुए लिखा, “क्या तुम सच में ऐसा समझते हो रणवीर शौरी? अगर हाँ तो इसे एक्सप्लेन करना। सही से बताना तुम क्या कहना चाहते हो? और कौन किसका चाटुकार बन गया है?”

अनुराग कश्यप के ट्वीट का जवाब देते हुए रणवीर ने लिखा, “मैं जो भी कहता हूँ, सोच समझ कर कहता हूँ। मैंने सब कुछ लिख दिया है।” रणवीर ने आगे कहा कि वह नाम लेने और दूसरों पर कीचड़ उछालने में यकीन नहीं रखते और वह बस लोगों को ये याद दिलाना चाहते हैं कि ‘वे कहाँ से आए हैं’। इसके बाद भी रणवीर और अनुराग के बीच कई ट्वीट्स और रिट्वीट्स हुए और आखिरकार अनुराग कश्यप को ट्रोल किया जाने लगा।

इसके बाद अनुराग कश्यप ने लिखा, “चलो बात करते हैं। यहीं पर। तुम क्या सोचते हो कि मैं किसके झाँसे में हूँ? इस बहस के साथ अपने पिछले रिश्ते के दर्द को न मिलाएँ। मैं यहाँ सब कुछ कहूँगा। हर इंडस्ट्री की तरह इस इंडस्ट्री में भी सुधार की जरूरत है। मैं अकेला काम करता हूँ।”

रणवीर शौरी ने इसका जवाब देते हुए लिखा कि वो खुद को “स्वतंत्र फिल्म क्रुसेडर” का तमगा देने की गलती कर रहे हैं। स्वतंत्र फिल्म हमेशा से है और आगे भी रहेगा। इसलिए वो अपना काम करें और दूसरों को उनका काम करने दें। जब दूसरा तकलीफ में हो तो उसे परेशान न करें।

फिर अनुराग कश्यप ने लिखा, “ओह, तो आप मेरे बारे में बात नहीं कर रहे हैं? यह अविश्वसनीय है। यह पूरी तरह से मेरी गलती है कि मैंने आपको गलत समझा। मेरा मतलब है कि मेरे जवाब पूरी तरह से अनावश्यक और अनुचित थे।”

इनका ट्विटर जंग यहीं पर खत्म नहीं हुआ। रणवीर शौरी ने अनुराग कश्यप को जवाब देते हुए लिखा कि वो कौन होते हैं ये कहने वाले कि कोई नैरेटिव को बदल रहा है। और वो नैरेटिव को कंट्रोल करने वाले होते कौन हैं? शौरी ने आगे लिखा, “हर किसी को अपने दर्द-तकलीफ के बारे में बात करने का अधिकार है, जैसे आप! और हाँ, मेरे लिए आपके जवाब अनावश्यक थे। मैं यहाँ तमाशा करने के लिए नहीं हूँ।”

इसके बाद अनुराग कश्यप ने कहा कि अगर उन्हें कंगना का चिल्लाना उनका दर्द लगता है तो ठीक है, मगर वो इससे असहमत हैं। इस पर शौरी ने कहा, “फिर से मैं किसी के नाम का उल्लेख नहीं कर रहा हूँ, आप कर रहे हैं। किसे कहना है कि कौन वास्तविक दर्द में है और कौन अटेंशन सीकर? मैं सिर्फ अपनी सच्चाई बोलने के लिए सभी के अधिकार का बचाव कर रहा हूँ, जैसे आप करते हैं। आप सहमत या असहमत हो सकते हैं।”

बता दें कि अनुराग ने कंगना पर निशाना साधते हुए कहा था, “मुझे और कुछ नहीं कहना है। कंगना क्या बकवास कर रही हैं? वो कुछ भी बिना सर-पैर की बातें बोल रही हैं। इन सब का अंत यहीं होगा। चूँकि मैं उसे बहुत मानता हूँ और यह कंगना मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रही है। बाक़ी बोलें ना बोलें, मैं तो बोलूँगा क्योंकि बहुत हो गया। अगर यह तुम्हारे घर वालों को भी नहीं दिखता और तुम्हारे दोस्तों को भी नहीं दिखता तो फिर एक ही सच है कि हर कोई तुम्हारा इस्तेमाल कर रहा है और तुम्हारा अपना आज कोई नहीं है। बाक़ी तुम्हारी मर्ज़ी, मुझे जो गाली बकनी है बको।“

इसका जवाब देते हुए कंगना ने कश्यप को ‘मिनी महेश भट्ट’ करार दिया। कंगना ने कहा कि कश्यप समझते हैं कि वो एकदम अकेली हैं और उनके आसपास केवल फर्जी लोग हैं, जो उनका इस्तेमाल कर रहे हैं। लेकिन पलटवार करते हुए कंगना रनौत ने आरोप लगाया कि जैसे राष्ट्रद्रोही और अर्बन-नक्सली आतंकियों को बचाते हैं, ऐसे ही ये लोग फ़िल्मी माफिया का भी बचाव कर रहे हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नसीरुद्दीन के भाई जमीर उद्दीन शाह ने की हिंदू-मुस्लिम के बीच शांति की वकालत, भड़के इस्लामी कट्टरपंथियों ने उन्हें ट्विटर पर घेरा

जमीर उद्दीन शाह वही व्यक्ति हैं जिन्होंने गोधरा दंगे पर गुजरात की तत्कालीन मोदी सरकार के खिलाफ झूठ फैलाया था।

‘उस समय माहौल बहुत खौफनाक था…’: वे घाव जो आज भी कैराना के हिंदुओं को देते हैं दर्द, जानिए कैसे योगी सरकार बनी सुरक्षा...

योगी सरकार की क्राइम को लेकर जीरो टॉलरेस की नीति ही वह सुरक्षा कवच है जो कैराना के हिंदुओं को भरोसा दिलाती है कि 2017 से पहले का वह दौर नहीं लौटेगा, जिसकी बात करते हुए वे आज भी सहम जाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,413FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe