Sunday, June 23, 2024
Homeसोशल ट्रेंडऐतिहासिक 'बागपत चाट युद्ध' के 3 साल पूरे: 'आइंस्टीन चचा' के व्यापार बदलने से...

ऐतिहासिक ‘बागपत चाट युद्ध’ के 3 साल पूरे: ‘आइंस्टीन चचा’ के व्यापार बदलने से भी दुखी हैं लोग, सोशल मीडिया पर ‘योद्धाओं’ को किया जा रहा नमन

वायरल वीडियो के साथ लोग करामात भी कर रहे हैं। एक शख्स ने वीडियो में लाठी-डंडों को चमकते हुए दिव्यास्त्रों की तरह दिखा दिया।

ऐतिहासिक ‘बागपत चाट युद्ध’ के 3 साल पूरे हो गए हैं, जिसके बाद लोग एक बार फिर से उसके वीडियो शेयर कर रहे हैं। खासकर के ‘आइंस्टीन चाचा’ को लोग जम कर याद कर रहे हैं। बता दें कि इस युद्ध में किसी की हार-जीत नहीं हुई थी, बल्कि लोगों का मनोरंजन हुआ था। बाद में सभी ‘योद्धाओं’ को पकड़ कर पुलिस ने लॉकअप में डाला था, जिसके बाद उनकी तस्वीरें सामने आई थीं। 22 फरवरी, 2021 को चाट के ठेलों को लेकर हुई इस मारपीट में दोनों पक्षों के लोग घायल हुए थे।

वायरल वीडियो के साथ लोग करामात भी कर रहे हैं। एक शख्स ने वीडियो में लाठी-डंडों को चमकते हुए दिव्यास्त्रों की तरह दिखा दिया। बड़ौत कोतवाली क्षेत्र के मेन बाजार में ये मारपीट इसीलिए हुई थी, क्योंकि एक चाट दुकानदार के ग्राहक को दूसरे ने अपने पास बुला लिया था। अब आइंस्टीन हेयरस्टाइल वाले चाचा ने अपने बाल कटा लिए हैं और कपड़ों की दुकान भी खोल ली है। लोग न सिर्फ उनकी दुकान से शॉपिंग करते हैं, बल्कि उनके साथ सेल्फी भी लेते हैं।

वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे दोनों पक्ष एक-दूसरे के लोगों को जमीन पर गिरा-गिरा कर पीट रहे हैं। पुलिस ने करीब दर्जन भर लोगों को हिरासत में भी लिया था। आइंस्टीन चाचा की फूली हुई आँख और बिखरे हुए लाल बालों को भला कौन भूल सकता है। उनका असली नाम हरेंद्र सिंह है। लड़के-लड़कियाँ इतनी सेल्फी लेते थे और दुकान में भीड़ जुट जाती थी कि उन्होंने अपने बाल अब छोटे-छोटे बड़ौत कोतवाली क्षेत्र के मेन बाजार में बड़ौत कोतवाली क्षेत्र के मेन बाजार में करा लिए हैं। लोग अब इसे ‘मानव जाति के इतिहास की पौराणिक लड़ाई’ बता कर तीसरी बरसी पर शुभकामनाएँ दे रहे हैं, तो कोई दुःख व्यक्त कर रहा है।

कुछ लोगों ने यहाँ तक लिखा कि आने वाली पीढ़ियाँ भी ‘बागपत के ऐतिहासिक चाट युद्ध’ से प्रेरणा लेगी। ‘आइंस्टीन चाचा’ हरेंद्र सिंह ने चाट के ठेले में नुकसान के बाद अपना व्यापार बदलने का फैसला लिया था। मीडिया वाले हरेंद्र सिंह का इंटरव्यू लेने पहुँचते थे और वो बागपत में किसी सेलेब्रिटी की तरह फेमस हो गए थे। लोगों ने इस पर भी अफ़सोस जताया कि अब ‘आइंस्टीन चाचा’ चाट के बिजनेस में नहीं रहे, इसीलिए अब वहाँ कोई ‘चाट युद्ध’ नहीं होगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘चोर औरंगजेब’ की मौत को लेकर खौफ में हिंदू परिवार, व्यापार समेटकर कहीं और बसने की तैयारी: ऑपइंडिया को बताया अलीगढ़ में अब क्यों...

अलीगढ़ के कथित चोर औरंगज़ेब की मौत मामले में नामजद हिन्दू व्यापारियों के परिजन अब व्यापार समेट कर कहीं और बसने का मन बना रहे हैं।

NEET पेपरलीक का मास्टरमाइंड निकाल बिहार का लूटन मुखिया, डॉक्टर बेटा भी जेल में: पत्नी लड़ चुकी है विधानसभा चुनाव, नौकरी छोड़ खुद बना...

नीट पेपर लीक के मास्टरमाइंड में से एक संजीव उर्फ लूटन मुखिया। वह BPSC शिक्षक बहाली पेपर लीक कांड में जेल जा चुका है। बेटा भी जेल में है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -