Wednesday, May 22, 2024
Homeसोशल ट्रेंडइफ्तार पार्टी का एक Video यह भी: इमरान खान के बुजुर्ग समर्थक के साथ...

इफ्तार पार्टी का एक Video यह भी: इमरान खान के बुजुर्ग समर्थक के साथ उनके बागी सांसद ही भिड़े, PPP नेताओं ने हाथापाई में दिया साथ

"पीटीआई वालों एक बात समझ आ जानी चाहिए कि भाई चाहे PPP हो MQM हो PMLN या दूसरे भाई। हम इस खेल के पुराने खिलाड़ी हैं। जरा ख्याल से हम अभी शरीफ हुए हैं वरना जमाना हमें बदमाश के तौर पर पहचानती है।"

पाकिस्तान का सियासी ड्रामा अब इफ्तार पार्टी में मारपीट तक पहुँच गया है। सोशल मीडिया में वायरल हुए एक वीडियो में इमरान खान की तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (PTI) के असंतुष्ट सांसद नूर आलम खान को पीपीपी नेताओं के साथ मिलकर पीटीआई के एक बुजुर्ग कार्यकर्ता के साथ मारपीट करते देखा जा सकता है। यह घटना इस्लामाबाद के एक होटल की बताई जा रही है। वीडियो में इमरान खान के बुजुर्ग समर्थक के साथ नूर आलम की बहसबाजी को हाथापाई में बदलते देखा जा सकता है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक नूर आलम के साथ पीपीपी नेता मुस्तफा नवाज खोखर, नदीम अफजल खान और फैजल करीम कुंदी होटल में इफ्तार पार्टी करने आए थे। जहाँ बुजुर्ग (पीटीआई कार्यकर्ता) भी मौजूद थे। वीडियो में खान और खोखर को बोतल फेंककर मारता है, जिसके बाद दोनों उसे धक्का देकर नीचे गिरा देते हैं। कुछ लोग बीच-बचाव करते भी नजर आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर ये वीडियो खूब शेयर किया जा रहा है। लोग मजे लेने के साथ ही इस पर प्रतिक्रियाएँ भी दे रहे हैं।

एक सोशल मीडिया यूजर ने लिखा, “पीटीआई वालों एक बात समझ आ जानी चाहिए कि भाई चाहे PPP हो MQM हो PMLN या दूसरे भाई। हम इस खेल के पुराने खिलाड़ी हैं। जरा ख्याल से हम अभी शरीफ हुए हैं वरना जमाना हमें बदमाश के तौर पर पहचानती है।”

अनुपम वहाब नाम के एक यूजर ने लिखा, “जो इन सांसदों को सपोर्ट कर रहे हैं, उऩका खुद का रवैया अपने वालिदों के साथ ऐसा ही होगा तभी उनको इसके अंदर कुछ गलत नहीं लगता। शर्म करो यहाँ तुम्हें यही आवाम लेकर आई है।”

एक यूजर ने लिखा कि वाह क्या शानदार आइडिया है। दोहरा रवैया और फिर नैरेटिव गढ़ना। हिंसक गतिविधि को बढ़ावा देना और फिर विक्टिम कार्ड खेलना।

एक अन्य यूजर ने लिखा कि ये सब जो आज सत्ता में हैं, समय आने पर अवाम इनका खतना करेगी। अभी ये सत्ता में हैं, इसलिए अवाम इन पर हमला नहीं कर सकती। ये सड़क पर आम लोगों के साथ यह करें तो देखें क्या होता है।

एक यूजर ने लिखा, शर्म आनी चाहिए वो बुजुर्ग हैं। हौसले से काम लेना चाहिए। कभी इधर, कभी उधर… इनके साथ ऐसा ही होना चाहिए और हर चीज के लिए आरोप नहीं लगा सकते।

गौरतलब है कि पाकिस्तान में हाल ही में सत्ता परिवर्तन हुआ है। सैकड़ों की संख्या में पीटीआई कार्यकर्ता सड़कों पर उतरकर शाहबाज शरीफ के नेतृत्व वाली नई सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं और पीपीपी के कार्यकर्ता अविश्वास प्रस्ताव में जीत का जश्न मना रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -