Saturday, May 18, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'ये मुसलमान था ही नहीं, पिछवाड़े से चला गया' : मुस्लिमों ने 'रिजवी' को...

‘ये मुसलमान था ही नहीं, पिछवाड़े से चला गया’ : मुस्लिमों ने ‘रिजवी’ को धमकाया, कहा- ‘पैगंबर का अपमान करने वालों को मार डालो’

'रिजवी' के धर्म परिवर्तन की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर करके इस्लामी कट्टरपंथी उन्हें मारने तक की माँग कर रहे हैं। वहीं कुछ ऐसे भी कट्टरपंथी हैं जो सोच रहे हैं कि ये सब 'अल्लाह' ने किया है।

गाजियाबाद के डासना देवी मंदिर में जब से शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने हिंदू धर्म अपना कर अपना नाम जितेंद्र नारायण स्वामी किया है, तभी से कट्टरपंथी उन पर और भड़क गए हैं। दावा किया जा रहा है कि वो शिया समुदाय के थे और कभी मुसलमानों में आते ही नहीं थे। उनके विरुद्ध सोशल मीडिया पर अभियान चल रहा है। ARREST_WASEEM_RIZVI हैशटैग पर अब तक 53 हजार से ज्यादा ट्वीट हो चुके हैं। इस हैशटैग में न केवल त्यागी को गिरफ्तार करने की माँग हो रही है बल्कि उनकी आपत्तिजनक तस्वीरें भी शेयर की जा रही हैं।

मोहम्मद मुस्लिम अंसारी ने ट्विटर पर ‘रिजवी’ की गिरफ्तारी माँगते हुए कहा कि जिसने नफरत फैलाई और इस्लाम के ख़िलाफ़ अपमानजनक टिप्पणी की उसे अब तक जेल के पीछे होना चाहिए लेकिन इतने संवेदनशील मामले पर संज्ञान नहीं लिया जा रहा।

मेहरीन लिखती हैं, “वसीम रिजवी मुसलमान था ही नहीं। ये जानकर खुशी हो रही है कि उसका अब इस्लाम से कोई लेना-देना नहीं है।”

पत्रकार इरेना अकबर इस खबर पर लिखती हैं, “वसीम रिजवी का आधिकारिक तौर पर इस्लाम छोड़ना एक अच्छी खबर हैं। सांप घर के पिछवाड़े से चला गया है। अब घर शुद्ध और डिटॉक्सिफाई होगा। “

एक नसीम अकरम नाम की आईडी से यूजर लिखता है, “वसीम रिजवी और नरसिंहानंद सरस्वती हमारे पैगंबऱ और कुरान के दुश्मन हैं। इनका कोई मजहब नहीं है। ये इस्लाम के नाम पर बकवास करते हैं। स्वतंत्र भारत में ये अस्थिरता लाना चाहते हैं।”

कुछ लोगों का कहना ये भी है कि चूँकि रिजवी ने कुरान की आयतों पर सवाल खड़ा किया था इसलिए उन्हें अल्लाह ने ही इस्लाम से खारिज करवाया है। दिलावर हुसैन लिखता है, इस्लाम शैतान के लिए नहीं है। ये आज साबित हो गया।

नफीस रब्बानी ने कहा कि सारे मुस्लिम उम्माह उठें और हमारी बची मस्जिदों की रक्षा करें सालाह पढ़कर और उन्हें इस्लाम की असली ताकत दिखाएँ और हमारे पैगंबर का अपमान करने वालों को मार डालें।

इन सब बातों के अलावा इस हैशटैग के अंतर्गत एक वीडियो शेयर हो रही है। इसमें एक व्यक्ति ‘रिजवी’ का सिर कलम करवाने के लिए इनाम की घोषणा करता है। वह कहता है कि जो कोई भी ‘रिजवी’ का मर्डर करके गला उसके पास ले जाएगा उसे 50 लाख रुपए मिलेंगे। इसके अलावा हर जगह, हर कोर्ट में वह कातिल का साथ देगा, उसके लिए वकील करेगा।

यह वीडियो कब की और किसकी है, इसकी पुष्टि ऑपइंडिया नहीं करता, लेकिन वीडियो के पीछे बैकग्राउंड में तस्वीर राहुल गाँधी की दिख रही है और कॉन्ग्रेस का चिह्न भी छपा दिख रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -